Doctor Verified

स्किन इंफेक्शन में इस तरह इस्तेमाल करें जीरा, जल्द दूर होगी समस्या

Jeera for Skin: त्‍वचा में संक्रमण होने पर लाल न‍िशान, रैशेज, खुजली और दाने आद‍ि से छुटकारा पाने के ल‍िए जीरा का इस्‍तेमाल फायदेमंद होता है।  

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 10, 2022Updated at: Aug 10, 2022
स्किन इंफेक्शन में इस तरह इस्तेमाल करें जीरा, जल्द दूर होगी समस्या

त्‍वचा में संक्रमण होना कोई आम समस्‍या नहीं है। संक्रमण का कारण गंदगी हो सकती है। अगर आप शरीर को साफ नहीं रखेंगे, तो त्‍वचा में संक्रमण होगा। कुछ लोगों की रोग प्रत‍िरोधक क्षमता कमजोर होती है, इस कारण से भी वे संक्रमण की चपेट में जल्‍दी आ जाते हैं। आप भी त्‍वचा में संक्रमण से पीड़‍ित हैं, तो परेशान न हों। त्‍वचा में संंक्रमण का इलाज आपके क‍िचन में मौजूद है। ज्‍यादातर हर व्‍यंजन में डाले जाने वाला जीरा आयुर्वेद‍िक गुणों से भरपूर होता है। त्‍वचा में इंफेक्‍शन होने पर आप इसका इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जानते हैं त्‍वचा संक्रमण में जीरा के फायदे और प्रयोग का तरीका। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

jeera benefits

क्‍या त्‍वचा संक्रमण दूर करता है जीरा?

हां, जीरा का इस्‍तेमाल करने से त्‍वचा संक्रमण दूर होता है-

  • रूखी त्‍वचा में खुजली, रेडनेस या दाने हो जाते हैं। ऐसे में जीरा का इस्‍तेमाल फायदेमंद होगा। जीरा में व‍िटाम‍िन ई (vitamin E) 
  • होता है ज‍िससे त्‍वचा को मॉइश्‍चराइज रखने में मदद म‍िलती है। 
  • जीरा में एंटीफंगल गुण होते हैं। फंगल इंफेक्‍शन (fungal infection) होने पर जीरे का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
  • जीरे की मदद से मुंहासे, चकत्ते और फोड़े जैसी समस्‍या का इलाज क‍िया जा सकता है। इसमें थाइमोल, फॉस्‍फोरस जैसे तत्‍व मौजूद होते हैं।   
  • जीरे में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। सूजन (swelling) कम करने के ल‍िए आप इसका इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- जीरा और सौंफ का पानी पीने के फायदे

जीरे का पानी- Jeera Water 

त्‍वचा में संक्रमण को दूर करने के ल‍िए डाइट (diet) की अहम भूम‍िका होती है। आप जो भी खाते हैं उसका सीधा असर त्‍वचा पर पड़ता है। त्‍वचा में संक्रमण दूर करने के ल‍िए जीरे का पानी प‍िएं। जीरा में एंटीफंगल और माइक्रोब‍ियल गुण होते हैं ज‍िससे इंफेक्‍शन ठीक हो सकता है। जीरे को पानी में उबालें और उसे छानकर सुबह खाली पेट प‍िएं।  

जीरा पाउडर- Jeera Powder  

संक्रमण होने पर आप जीरा पाउडर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। मॉनसून के दौरान अक्‍सर लोगों के हाथ या पैर में लाल न‍िशान या दाने नजर आते हैं, ऐसा संक्रमण के कारण होता है। संक्रमण को दूर करने के ल‍िए जीरा पाउडर का इस्‍तेमाल करें। जीरा पाउडर में टी ट्री ऑयल (tea tree oil) और नीम की पत्ति‍यों का पेस्‍ट म‍िलाएं। इस म‍िश्रण को संक्रमण वाले ह‍िस्‍से में लगाने से आराम म‍िलेगा। 

जीरे का तेल- Jeera Oil   

त्‍वचा में संक्रमण के कारण खुजली (itching) और सूजन हो जाती है। इन लक्षणों को दूर करने के ल‍िए जीरे के तेल का इस्‍तेमाल करें। जीरे का तेल बनाने के ल‍िए नार‍ियल तेल को गरम करें उसमें जीरा को पीसकर डालें। तेल जब रंग बदलने लगे तो आंच को धीमा करें और तेल छानकर अलग कर लें। इस तेल को संक्रमण वाले ह‍िस्‍से में लगाएंगे, तो आराम म‍िलेगा।   

जीरा और शहद- Jeera and Honey 

त्‍वचा में संक्रमण होने दो चम्‍मच जीरा पाउडर को शहद में म‍िलाएं। फ‍िर उसमें बादाम का तेल डालकर संक्रमण वाले ह‍िस्‍से में अप्‍लाई करें। हल्‍के हाथ से माल‍िश करने के बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें। जीरा का इस्‍तेमाल करने से पहले पैच टेस्‍ट जरूर करें। अगर जीरा इस्‍तेमाल करने से त्‍वचा में एलर्जी हो, तो इस्‍तेमाल बंद कर दें।   

इन आसान तरीकों से आप जीरे की मदद से त्‍वचा संक्रमण से छुटकारा पा सकते हैं। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें।  

Disclaimer