Doctor Verified

कानों से मैल न‍िकालते समय न करें ये 5 गलतियां, खराब हो सकते हैं आपके कान

Ear wax removal: कानों से मैल न‍िकालते समय सावधानी न बरतने पर ईयरड्रम को नुकसान पहुंच सकता है इसल‍िए इस दौरान अक्‍सर होने वाली गलति‍यों को जान लें।  

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 27, 2022Updated at: Jul 27, 2022
कानों से मैल न‍िकालते समय न करें ये 5 गलतियां, खराब हो सकते हैं आपके कान

कानों को गलत तरीके से साफ करने के कारण कान के अंदरूनी ह‍िस्‍से को नुकसान पहुंच सकता है। कान के अंदरूनी ह‍िस्‍से को नुकसान पहुंचने से आप सुनने की श‍क्‍त‍ि खो सकते हैं। कान को साफ करने के दौरान की जाने वाली गलत‍ियों के कारण आपके कानों को नुकसान उठाना पड़ सकता है इसल‍िए 5 ऐसी गलत‍ियों को जान लें। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।   

ear checkup

1. खुद से साफ न करें कान 

कानों को साफ करने के दौरान सबसे बड़ी गलती यही है क‍ि हम अपने कान खुद साफ करते हैं। आप केवल कानों को गंदगी से बचा सकते हैं। लेकि‍न अगर आप कानों को खुद से साफ करेंगे, तो कानों की सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। अगर कान में ज्‍यादा वैक्‍स (ear wax) जमा हो रहा है, तो डॉक्‍टर के पास जाएं और कानों का चेकअप (ear checkup) करवाएं। डॉक्‍टर चेकअप के बाद कानों को साफ कर देंगे। इसके साथ ही कानों में कुछ भी डालने से भी आपको बचना चाह‍िए। 

इसे भी पढ़ें- बेहतर सुनने की क्षमता के लिए अपने कान का रखें विशेष ध्यान, डाइट में अपनाएं ये 6 चीजें

2. नुकीली चीजों से बचें

आपको कान साफ करने के ल‍िए कानों के अंदर क‍िसी भी तरह की नुकीली चीज का इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए। कई लोग कानों को साफ करने के ल‍िए कैंची की ट‍िप, चाबी या सेफ्टी प‍िन का इस्‍तेमाल करते हैं। इनसे कानों के ईयरड्रम (eardrum) में छेद हो सकता है इसल‍िए आपको ऐसी चीजों के इस्‍तेमाल से बचना चाह‍िए। इसके अलावा आप घर पर क‍िसी भी तरह का ईयर क्‍लीनर न बनाएं। घरेलू उपायों का इस्‍तेमाल शरीर के अंदरूनी भाग जैसे कान के अंदर के ह‍िस्‍से में न करें।     

3. कॉटन स्वैब से बचें- Cotton Swab

हम में से ज्‍यादातर लोग कानों को साफ करने के ल‍िए कॉटन स्‍वैब (cotton swab) का इस्‍तेमाल करते हैं। आपको कानों को साफ करने के ल‍िए कॉटन स्‍वैब का इस्‍तेमाल करने से बचना चाह‍िए। कॉटन स्‍वैब से ईयर वैक्‍स अंदर पुश होता है और इससे कान का परदा फटने की आशंका बढ़ जाती है इसल‍िए कॉटन स्‍वैब से बचें। खासकर बच्‍चों के कान साफ करने के ल‍िए कॉटन स्‍वैब का इस्‍तेमाल न करें।   

4. ज्‍यादा ईयर ड्रॉप्स न डालें- Ear Drops 

आपको ईयर ड्रॉप्‍स (ear drops) का इस्‍तेमाल ज्‍यादा नहीं करना चाह‍िए। कई लोग कानों को साफ करने के ल‍िए ईयर ड्रॉप्‍स की ज्‍यादा बूंदें कानों में डाल देते हैं। कानों में ज्‍यादा बूंदें डालने से भी कान में इंफेक्‍शन हो सकता है। बाजार में म‍िलने वाले ईयर ड्रॉप्‍स में सोड‍ियम बाइकार्बोनेट, सोड‍ियम क्‍लोराइड और हाइड्रोजन पेरोक्‍साइड जैसे केम‍िकल्‍स पाए जाते हैं। इनके ज्‍यादा इस्‍तेमाल से कान में जलन भी हो सकती है। आपको दो से तीन बूंदों से ज्‍यादा का इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए।

5. हाइड्रोजन पेरोक्साइड से बचें- Hydrogen Peroxide

कानों को साफ करने के ल‍िए कई लोग हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्‍तेमाल करते हैं। आपको इसका इस्‍तेमाल करने से बचना चाह‍िए। कान का अंदरूनी भाग सेंस‍िट‍िव होता है। ऐसे केम‍िकल्‍स कान के अंदर जाकर ईयरड्रम को नुकसान पहुंचा सकते हैं इसल‍िए इनके इस्‍तेमाल से बचें। इसके साथ-साथ कई लोग मोमबत्ती का इस्‍तेमाल करते हैं। कानों का मैल प‍िघलाकर न‍िकालने के उद्देश्‍य से मोम का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। लेक‍िन इस उपाय से कानों को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसा करने से बचें।  

कानों की सफाई गलत तरीके से करने के कारण ईयर वैक्‍स फंस सकता है या आप सुनने की शक्‍त‍ि खो सकते हैं। कानों को साफ करवाने के ल‍िए डॉक्‍टर की मदद लें और एक्‍सपर्ट से ईयर क्‍लीन‍िंग करवाएं।   

Disclaimer