बेहतर सुनने की क्षमता के लिए अपने कान का रखें विशेष ध्यान, डाइट में अपनाएं ये 6 चीजें

अपने कान को स्वस्थ और बेहतर सुनने की क्षमता के लिए आप इन फूड्स को अपने आहार में जरूर शामिल करें। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Mar 07, 2022Updated at: Mar 07, 2022
बेहतर सुनने की क्षमता के लिए अपने कान का रखें विशेष ध्यान, डाइट में अपनाएं ये 6 चीजें

स्वस्थ जीवन की शुरुआत स्वस्थ आहार से होती है। पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करने से आपका मन और शरीर दोनों स्वस्थ और शांत रहता है। शरीर के विभिन्न अंगो की कार्यक्षमता को बनाए रखने के लिए आपको अपने आहार में संबंधिक पोषक तत्वों को जरूर शामिल करना चाहिए। ऐसे ही हमारे शरीर में संवेदनशील अंगों में से एक है कान, जिसे स्वस्थ और संक्रमण से बचाने के लिए आपको कुछ विशेष आहार को अपने डाइट में शामिल करना चाहिए। कई बार हम अपने शरीर और चेहरे की देखभाल तो करते है लेकिन अपने शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक कान की देखभाल और सफाई का ध्यान नहीं रखते है, जिसे एक समय के बाद सुनने की क्षमता भी प्रभावित होने लगती है। इसके अलावा कान को शोर से दूर रखें वरना कान के परदे भी कमजोर हो सकते हैं। इसके लिए आप इन चीजों को अपने आहार में जरूर शामिल करें। 

कान को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये फूड्स

1. केला

केला में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो स्वस्थ कान के लिए बेहद उपयोगी होता है। मैग्नीशियम की कमी से कान के अंदर की रक्त वाहिकाओं में सिकुड़न आ जाती है, जिससे ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रभावित हो सकती है। केले में पाया जाने वाला मैग्नीशियम आंतरिक कान की रक्त वाहिकाओं का विस्तार करता है, जिससे बेहतर ब्लड सर्कुलेशन और ऑक्सीजन पहुंचने में मदद मिलती है। यह ग्लूटामेट को नियंत्रित करने में भी मदद करता है, जिससे कई वरिष्ठ वयस्कों में सुनने की क्षमता प्रभावित होती है। 

ear-foods

Image Credit- Freepik

2. मछली

सैल्मन और टूना जैसी मछलियों में ओमेगा 3 और विटामिन डी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। ओमेगा 3 न केवल आपको हृदय संबंधी रोगों से बचने में मदद करता है बल्कि यह मस्तिष्क और कानों के बीच समन्वय में सुधार करके श्रवण शक्ति की हानि को रोकने में भी मदद करता है। मछली विटामिन डी का एक अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है। नियमित रूप से मछली का सेवन करने से विटामिन डी कान के अंदर की हड्डियों की मजबूती प्रदान करता है।

3. डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट कानों के लिए काफी फायदेमंद होता है। यह जिंक से भरपूर होता है, जो बेहतर इम्यून सिस्टम बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी है। डार्क चॉकलेट खाने से कान की कोशिकाओं में वृद्धि होती है और कान के संक्रमण को दूर रखने में सहायता मिल सकती है। हालांकि, इसे अपने आहार में शामिल करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें क्योंकि कुछ स्वास्थ्य स्थितियों, विशेष रूप से डायबिटीज में अपने नियमित आहार में डार्क चॉकलेट लेना नुकसानदायक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- इन 10 बातों का रखेंगे ध्यान तो नहीं खराब होंगे आपके कान, सुनने की शक्ति पर नहीं पड़ेगा असर

4. संतरा

संतरे और अन्य खट्टे फल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जो फ्री-रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं। यह उम्र से संबंधित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में सहायता करता है, जिनमें श्रवण हानि और कान में संक्रमण शामिल है। संतरे में उपलब्ध विटामिन जैसे सी और ई श्रवण हानि से बचने के लिए सर्वोत्तम पोषक तत्व हैं। इसके अलावा, संतरे में ग्लूटाथियोन की उपस्थिति कोशिकाओं को संक्रमण से बचाती है और प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करती है।

ear-foods

Image Credit- Freepik

5. दूध उत्पाद

दूध विटामिन और मिनरल्स का अच्छा स्रोत है। दूध में उपलब्ध ए, बी, डी, ई और के जैसे विटामिन शरीर की मेटाबॉलिज्म रेट और ऑक्सीजन सर्कुलेशन में मददगार होते हैं। इसके अलावा, दूध में मैग्नीशियम, पोटैशियम, सेलेनियम और जिंक जैसे खनिज भी होते हैं, जो शरीर और कोशिकाओं में तरल पदार्थ को बनाए रखने में मदद करते हैं। ये सभी तत्व कान के अंदर मौजूद संवेदनशील तरल पदार्थ को बनाए रखने के लिए भी आवश्यक हैं।

6. हरी पत्तियां

ब्रोकोली, गोभी और पालक में फोलिक एसिड, विटामिन के, सी, पोटैशियम, आयरन और मैग्नीशियम पाए जाते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियों में  एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जिससे फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद मिलती है और कान के संवेदनशील ऊतकों की रक्षा करती है। साथ ही हरी सब्जियों में मौजूद खनिज कानों के रक्त संचार और कोशिकाओं की वृद्धि में मददगार साबित हो सकता है। 

सही सुनने के लिए सही खाना जरूरी है। इसके लिए आप अपने आहार में इन चीजों को शामिल कर सकते है। इसके अलावा डॉक्टर की सहायता से नियमित अपने कान की सफाई करें और तेज आवाज से दूर रहें। नहाते वक्त कान को अच्छे से साफ करें। हालांकि कान के अंदर पानी न जाएं।

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer