पीलिया होने पर इन घरेलू उपायों से मिलेगा आराम

पीलिया में दवा-इलाज के साथ-साथ खान पान का विशेष ख्याल रखने की जरूरत पड़ती है। जानें पीलिया के लिए कुछ खास घरेलू उपचार।

Monika Agarwal
घरेलू नुस्खेWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 07, 2022Updated at: Sep 07, 2022
पीलिया होने पर इन घरेलू उपायों से मिलेगा आराम

पीलिया होने पर त्वचा और आंखों का रंग पीला हो जाता है। ब्लड में बिलीरुबिन के स्तर के बढ़ने के कारण पीलिया होता है। पीलिया आमतौर पर तीन प्रकार का होता है प्री-हेपेटिक, हेपैटोसेलुलर और पोस्ट-हेपेटिक। पीलिया रेड ब्लड सेल के टूटने के कारण होता है। बिलरूबिन एक अपशिष्ट उत्पाद होता है, जो रेड ब्लड सेल के टूटने के कारण स्टूल के जरिए बाहर आ जाता है। पीलिया की स्थिति में हमारा लिवर बिलरूबिन को इतनी तेज़ी से बाहर नही निकाल पाता, जितना तेज़ी से इसका उत्पादन करता है। इसी कारण शरीर में बिलरूबिन की मात्रा बढ़ जाती है। 

आयुर्वेद अनुसार पीलिया का कारण

आयुर्वेद में माना जाता है कि पीलिया का कारण शरीर में पित्त दोष का है। हालांकि लाइफस्टाइल बदलाव के साथ या खाने पीने की कुछ आदतों में सुधार के साथ इस स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सकता है। अगर पीलिया से जूझ रहे हैं, तो इसको ठीक करने के लिए कुछ घरेलू इलाज की भी मदद ली जा सकती है। जानिए पीलिया के इलाज के लिए घरेलू उपचार।

1. गन्ने का रस

गन्ने का रस लिवर को मजबूत बनाने और पीलिया के इलाज में काफी मददगार है। पीलिया वाले रोगी को हर रोज दो गिलास गन्ने का रस पीना चाहिए। गन्ने के रस में मूत्रवर्धक और हेपेटोप्रोटेक्टि एनाल्जेसिक गुण पाए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें- पीलिया क्यों होता है? एक्सपर्ट से जानें शुरुआती लक्षण और बचाव

2. सूरज की रोशनी

पीलिया का इलाज करते समय फोटोथेरेपी का उपयोग किया जाता है, जो सूर्य के संपर्क मे आने से 7 गुना ज्यादा अधिक प्रभावी होती है।  इसलिए पीलिया के मरीज को रोज थोड़ा समय धूप में जरूर बिताना चाहिए।

3. हरे अंगूर 

अंगूर पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में मदद करते हैं क्योंकि अंगूर में फाइबर, विटामिन सी और अन्य पोषक तत्व होते हैं। यह लिवर को मजबूत कर पीलिया के इलाज के लिए बहुत उपयोगी है। पीलिया रोगी को हर रोज एक कप अंगूर का रस पीना चाहिए या अंगूर खाना चाहिए। 

4. बकरी का दूध

बकरी के दूध के सेवन से शरीर में एंटीबॉडीज बनती हैं, जो पीलिया के इलाज में मदद करती हैं। बकरी का दूध बड़े बच्चों के लिए फायदेमंद है। बकरी के दूध में काफ़ी मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसलिए एक कप बकरी के दूध का सेवन पीलिया रोगी को हर रोज करना चाहिए।

5. अदरक

अदरक पीलिया के इलाज में मदद करता है। अदरक में एंटीऑक्सीडेंट और हाइपो-लिपिडेमिक गुण पाए जाते हैं, जो लिवर के काम करने की ऊर्जा को बढ़ाने का काम करते हैं। पीलिया रोगी एक कप पानी को उबाल कर  उसमें थोड़ा सा भुना अदरक डाल कर रख दें। 5 मिनट बाद इसको छान कर पिएं, तो फायदा मिलेगा।

adrak in jaundice

6. लहसुन

लहसुन लिवर की सफाई करने में मदद करता है। लिवर में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो पीलिया को जल्दी से ठीक करने में मदद करते हैं। पीलिया रोगी को हर रोज दो से तीन कच्ची लहसुन की कलियों का सेवन करना चाहिए। 

7. टमाटर

टमाटर में लाइकोपीन नामक एक फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो पीलिया के इलाज में मदद करता है। इसलिए पीलिया रोगी के लिए हर रोज टमाटर को गर्म पानी में उबाल कर टमाटर के छिलके को उतार कर उसका रस पीना फायदेमंद हो सकता है। इसका उपयोग एक सप्ताह में एक बार जरूर करें।

इसे भी पढ़ें- ठंड लगकर बुखार आना पीलिया का है लक्षण, जानें ऐसे साधारण लक्षण और बचाव का तरीका

8. नींबू का रस

नींबू का रस लिवर की रक्षा करने में मदद करता है। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो पित्त की नली को खोलने में मदद करते हैं। पीलिया रोगी को हर रोज एक नींबू का रस एक कप पानी में मिलाकर पीना चाहिए। इसमें थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं।

9. दही 

दही शरीर में बिलीरुबिन के स्तर को कम करती है। इसी कारण से स्तनपान कराने वाली महिलाओं को प्रोबायोटिक दही का सेवन करने के लिए कहा जाता है। पीलिया रोगी को हर रोज एक कटोरा दही का पीना चाहिए।

ये सारे घरेलू उपचार पीलिया रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि पीलिया का पता चलने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Disclaimer