Expert

गले में कफ होने पर आजमाएं ये आयुर्वेदिक उपाय, जल्द मिलेगा आराम

ayurvedic remedies for sore throat and cough: गले की खराश से राहत पाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय को ट्राई किया जा सकता है। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Aug 16, 2022Updated at: Aug 16, 2022
गले में कफ होने पर आजमाएं ये आयुर्वेदिक उपाय, जल्द मिलेगा आराम

5 ayurvedic remedies for sore throat and cough: मॉनसून के मौसम में गले में खराश, सर्दी, खांसी जैसी समस्याएं होना आम बात है। ऐसा माना जाता है कि मॉनसून के सीजन में इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। इम्यूनिटी के कमजोर होने के कारण फ्लू, सर्दी, खांसी, गले की खराश, नाम बहना, सिर दर्द और बगलम जैसी परेशानियां होने लगती है। इन दिनों जब कोरोना, मंकीपॉक्स जैसे वायरस का खतरा बढ़ रहा है, ऐसे में सेहत का ध्यान रखना बहुत ज्यादा जरूरी है। क्योंकि कोरोना के ज्यादातर लक्षण आम फ्लू जैसे ही हैं। इनमें से गले में खराश एक ऐसा लक्षण है, जो बदलते मौसम के साथ लगभग हर इंसान में देखा जा सकता है। इसलि आज हम आपको बताने जा रहे हैं गले की खराब से राहत पाने के आयुर्वेदिक उपाय (gale me kharash aur khansi ka ayurvedic upay) के बारे में।

गले की खराश और कफ से राहत पाने के आयुर्वेदिक उपाय - ayurvedic remedies for sore throat and cough

आयुर्वेद डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम पर गले की खराश से राहत पाने के कुछ उपाय शेयर किए हैं। दीक्षा भावसार का कहना है कि इस तरह की बीमारियों के लिए बार-बार एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल करना ठीक नहीं है। 

इसे भी पढ़ेंः वीगन डाइट क्या है? एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और नुकसान

हल्दी और नमक के गरारे करें

डॉक्टर दीक्षा भावसार का कहना है कि गले की खराश से राहत पाने के लिए हल्दी और नमक के पानी के गरारे करने चाहिए। इसके लिए 250-300 मिली पानी लें। इसमें 1 चम्मच हल्दी और 1/2 चम्मच नमक डालें और उबालें। जब पानी सही तरीके से गर्म हो जाए, तो इसके गरारे करें। आप दिन में 2 से 3 बार हल्दी और नमक के पानी के गरारे कर सकते हैं। ये गले की जलन और दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। 

गले की खराश के लिए तुलसी और सोंठ - Tulsi and dry ginger for sore throat

गले की खराश में तुलसी के पत्ते और सोंठ काफी मददगार साबित होते हैं। इसके लिए 1 गिलास पानी में 4 से 5 तुलसी के पत्तों को उबालें। इस मिश्रण में थोड़ा सा सोंठ और शहद मिलाएं और 1 मिनट के लिए उबालें। तुलसी, सोंठ और शहद का मिश्रण आफके गले को राहत दिलाने में काफी फायदेमंद माना जाता है। 

मुलेठी और शहद - mulethee and honey

गले की खराश से राहत पाने के लिए मुलेठी और शहद को रामबाण इलाज माना जाता है। इसके लिए 1 चम्मच मुलेठी का चूर्ण शहद के साथ मिलाकर चूसें। आप चाहें तो मुलेठी और शहद को गुनगुने पानी में उबालकर गरारे भी कर सकती हैं।

अदरक की चाय - Ginger Tea

अदरक में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, जिंक, कॉपर, मैंगनीज पाया जाता है। ये शरीर को अंदर से बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। गले की खराश से राहत पाने के लिए आप अदरक की चाय (ginger tea for sore throat) बनाकर पी सकते हैं। अदरक की चाय गले की खराश के साथ-साथ पेट की सूजन से भी राहत दिलाने में मददगार साबित होता है। 

gale me kharash aur khansi ka ayurvedic upay

 गर्म पानी और शहद

 
गले की खराश और कफ से राहत पाने के लिए गर्म पानी और शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए बस थोड़ा गर्म पानी लें, उसमें आधा नींबू, थोड़ा शहद मिलाएं और इसे पी लें।
Disclaimer