Dyspnea Home Remedies: सांस फूलने की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं 12 घरेलू उपाय

सांस फूलने की समस्या को दूर करने के लिए दवाईओं का सेवन जरूरी नहीं है। आप कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर इस समस्या को आसानी से दूर कर सकते है। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Mar 22, 2021Updated at: Mar 22, 2021
Dyspnea Home Remedies: सांस फूलने की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं 12 घरेलू उपाय

सांस फूलने की समस्या (Shortness of Breath)अकसर तब होती है जब हम भागते हैं या सीढ़ियां चढ़कर आते हैं, इस स्थिति को डिस्पनिया भी कहते हैं। सांस तब फूलती है जब व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है या वह घुटन महसूस करता है। लोग इस स्थिति को गंभीरता से ना लेकर हल्के में टाल देते हैं लेकिन ऐसा करना गलता है क्योंकि इस तरह की परिस्थिति कभी-कभी गंभीर रूप ले लेती है। ऐसी स्थिति में यदि व्यक्ति चिंता या तनाव ले लेता है तो स्थिति और गंभीर हो जाती है। साथ ही सांस फूलने की समस्या दिल की बीमारी, एलर्जी, खून की कमी, सांस प्रणाली में संक्रमण आदि के कारण होती है। लेकिन सांस फूलने की समस्या के लिए महंगी महंगी दवाइयों का सेवन इंजेक्शन की जरूरत नहीं होती है। आप कुछ घरेलू उपाय को अपनाकर भी समस्या को दूर कर सकते हैं। आज का हमारा लेख इन्हीं उपायों पर है।आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि आप कैसे अपनी इस समस्या को कुछ आसान से उपायों के माध्यम से दूर कर सकते हैं। ये लेख पारस हॉस्पिटल गुरुग्राम के एचओडी, सीनियर पुल्मोनोलॉजिस्ट डॉक्टर अरुनेश कुमार द्वारा दिए गए इनपुंट्स पर बनाया गया है। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - सांस फूलने की समस्या के लिए बदले होठों की शेप (pursed lip breathing technique for shortness of breath)

एक ऐसी तकनीक जिसे बेहद बेहतरीन माना गया है, वह है होंठों से सांस लेने की प्रक्रिया। यह प्रक्रिया बेहद आसान और प्रभावशाली है। इस प्रक्रिया में सबसे पहले आराम से बैठें और गर्दन और कंधे की मांसपेशियों के तनाव को दूर करें। फिर होंठों को जोर से दबाएं और कुछ सेकंड बाद नाक से सांस लें। होंठों को थोड़ा खोलें और उस सांस को धीरे से छोड़ें। इस प्रक्रिया को तकरीबन 10 से 15 बार दोहराएं। ऐसा करने से आप आराम महसूस करेंगे। बता दें कि यह प्रक्रिया सांस फूलने की समस्या को दूर करने के साथ-साथ चिंता और तनाव को भी दूर कर सकती है।

2 - अदरक खाने से सांस फूलने की समस्या होगी दूर (Ginger for shortness of breath)

ध्यान दें कि बलगम का जमाव, छाती में जकड़न आदि समस्या को दूर करने के लिए अदरक एक प्रभावी विकल्प है। ऐसी ही परिस्थियों के पैदा हो जााने पर  सांस फूलने की समस्या बढ़ने लगती है। ऐसे में अदरक के माध्यम से बलगम को निकाल सकते हैं। इसके सेवन से गर्दन से जुड़ी और सांस संबंधित समस्या भी दूर हो जाती है। ऐसे में आप अदरक से बनी चाय का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा अदरक के टुकड़े को एका गर्म पानी में डालकर 10 मिनट के लिए गैस पर रखें और उबालें। फिर छानकर उसमें शहद मिलाकर, बने मिश्रण को पीकर आप बलगम से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन बता दें कि हमारे एक्सपर्ट अदरक का सेवन करने की सलाह नहीं देते हैं।

इसे भी पढ़ें- इस खास तरीके से करें तुलसी और पुदीने की पत्तियों का सेवन, जानें क्या है ये हेल्दी नुस्खा और फायदे

3 - ब्लैक कॉफी पीने से सांस फूलने की समस्या हो दूर (black coffee for shortness of breath)

जो लोग ब्लैक कॉफी के शौकीन हैं उन्हें बता दें कि सांस फूलने की समस्या को दूर करने में ब्लैक कॉफी बेहद मददगार है। क्योंकि कॉफी के अंदर कैफीन पाया जाता है जो सांस प्रणाली को मजबूती देता है। इसके अलावा यह शरीर में जाने वाली हवा की क्रिया को सुधारने में भी मदद करता है। ध्यान रहे कि कॉफी का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से ब्लड प्रेशर और बढ़ सकता है।

4 - रिलैक्सेशन थेरेपी की मदद से सांस फूलने की समस्या हो दूर (relaxation therapy for shortness of breath)

बता दें कि कुछ रिलैक्सेशन थैरेपीज होती हैं, जिनके उपयोग से आप अपने शरीर को काफी समस्या से दूर कर सकते हैं। इन थेरेपी में योगा, मेडिटेशन भी आता है। यह न केवल शरीर में खून को अच्छे से साफ करता है बल्कि ऑक्सीजन का स्तर भी नियंत्रित रखता है। इनकी मदद से हृदय की गति भी नियंत्रित रहती है। यह तनाव को दूर रखती है और आपके शरीर के अंदर ऑक्सीजन पहुंचाती है।

इसे भी पढ़ें- National Anemia Day: एनीमिया के कारण होती है शरीर में खून की कमी, जानें खून बढ़ाने के लिए 10 घरेलू उपाय

5 - सौंफ के सेवन से सांस फूलने की समस्या हो दूर (fennel seeds for shortness of breath)

बता दें कि सौंफ के सेवन से पेट की समस्याओं और बलगम को निकालने के गुण पाए जाते हैं। ऐसे में आप इसके अंदर इसके सेवन से सांस से जुड़ी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। सौंफ के अंदर आयरन मौजूद होता है जो एनीमिया का इलाज करता है। ऐसे में आप इस समस्या को दूर करने के लिए सौंफ को गर्म पानी में डालें और 10 मिनट तक उबालें और सौंफ की चाय को दिन में दो से तीन बार ऐसा करने से दूर कर सकते हैं। इसके अलावा भी आप सौंफ को भूनकर इसका सेवन कर सकते हैं। लेकिन बता दें कि हमारे एक्सपर्ट सौँफ का सेवन करने की सलाह नहीं देते हैं।

6 - रोज चलने से भी दूर होगी सांस फूलने की समस्या (walking regularly for shortness of breath)

बता दें कि चलने से सांस फूलने की समस्या को दूर किया जा सकता है। अधिक वजन वाले लोगों के बीच में सांस फूलने की समस्या बेहद आम है। ऐसे में रोजाना चलने से आप स्टैमिना को बढ़ा सकते हैं। सांस फूलने की समस्या को दूर कर सकते हैं क्योंकि अगर आपका वजन कम होगा तो यह समस्या अपने आप दूर हो जाएगी। ऐसे में आप चलने से मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ा सकते हैं।

कुछ अन्य उपाय (other benefits of shortness for breath)

7 - खुद को विषाक्त केमिकल्स जैसे माहौल से दूर रखें क्योंकि सांस लेने पर ये केमिकल शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं।

8 - इस बात पर गौर करें कि आपको किस गतिविधि के करने से सांस फूलने की समस्या हो रही है ऐसे में इसका इलाज ढूंढने में आसानी रहेगी।

9 - बिना डॉक्टर की सलाह पर किसी भी दवाई का सेवन ना करें।

10 - अपनी डाइट में फल और हरी सब्जियों को जोड़ें। संतुलित आहार सांस फूलने की समस्या को दूर कर सकता है।

11-  अगर किसी काम को करते वक्त सांस फूले तो उस काम को तुरंत बंद कर दें।

12 - यदि आपको सांस फूलने की समस्या है तो गर्म कमरे में न रहें। गर्म कमरे में सोने से समस्या और गंभीर रूप ले सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- Neck Pain: 'गर्दन के दर्द' से हैं परेशान? यहां दिए 7 घरेलू उपायों से मिलेगा आराम

ऊपर बताए गए बिंदुओं से आप बिना दवाई और सप्लीमेंट के अपने सांस फूलने की समस्या को दूर कर सकते हैं। ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि अपनी दिनचर्या में थोड़ा सा बदलाव करके कुछ चीजों को जोड़कर आप अपनी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन अगर आप को इनमें से किसी भी चीज से एलर्जी है तो उस चीज का सही उपयोग अपने शरीर पर ना करें। गर्भवती महिलाएं किसी भी चीज को अपनी दिनचर्या में जोड़ने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

ये लेख पारस हॉस्पिटल गुरुग्राम के एचओडी, सीनियर पुल्मोनोलॉजिस्ट डॉक्टर अरुनेश कुमार द्वारा दिए गए इनपुंट्स पर बनाया गया है।

Read More Articles on Home Remedies in hindi

Disclaimer