रोज 10 मिनट करें 'हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग', रहेंगे फिट और हेल्दी

हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग को एचआईआईटी भी कहते हैं। ये ऐसे वर्कआउट होते हैं, जिन्हें बहुत तेजी से किया जाता है। इसलिए बहुत कम समय करने पर भी इन वर्कआउट से शरीर को ढेर सारे लाभ मिलते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Nov 15, 2018 14:57 IST
रोज 10 मिनट करें 'हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग', रहेंगे फिट और हेल्दी

हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग को एचआईआईटी भी कहते हैं। ये ऐसे वर्कआउट होते हैं, जिन्हें बहुत तेजी से किया जाता है। इसलिए बहुत कम समय करने पर भी इन वर्कआउट से शरीर को ढेर सारे लाभ मिलते हैं। खास बात यह है कि अगर आप एचआईआईटी वर्कआउट रोज करते हैं, तो इससे आपको कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग दोनों के फायदे मिलते हैं। इन वर्कआउट को एथलीट वर्कआउट भी कहा जाता है। वजन कम करने के लिए यह वर्कआउट का बहुत ही बेहतर विकल्‍प हो सकता है। आइए आपको बताते हैं कैसे कर सकते हैं ये वर्कआउट।

सबसे पहले वॉर्म अप करें

इस वर्कआट को करने से पहले थोड़ा वार्म-अप जरूर कीजिए। चूंकि यह उच्‍च तीव्रता वाला वर्कआउट है इसलिए इसमें आपको अधिक आराम की जरूरत होगी। पहले 20 सेकेंड तक एक जगह खड़े होकर तेजी से दौड़ लगायें, फिर 10 सेकेंड तक स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कीजिए, उसके बाद 30 सेकेंड तक आराम कीजिए। प्रत्‍येक व्‍यायाम के साथ इस पैटर्न को दोहरायें।

चार्लीज एंजेल्‍स एक्सरसाइज

दाहिने पैर के साथ- इसे करने के लिए आपका दाहिना पैर आगे की तरफ होना चाहिए, बायां पैर पीछे की तरफ थोड़ा झुका होना चाहिए। अब दोनों हाथों को आगे करके दोनों के पंजो को आपस में जोड़ दीजिए। फिर अपने दोनों हाथों को दायें तरफ लायें, फिर पूर्ववत स्थिति में जाते हुए हाथों को बायें तरफ ले जायें, लगभग 90 डिग्री तक। यह क्रिया दोहरायें, इससे घुटने मजबूत होते हैं।

बाएं पैर के साथ- इससे पहले जो आपने किया यह बिलकुल वैसा ही है, उसमें दाहिना पैर आगे की तरफ होता है, जबकि इसमें बायां पैर आगे होता है, बाकि व्‍यायाम वैसा ही करते हैं। इससे पैर के घुटने मजबूत होते हैं।

इसे भी पढ़ें:- पीठ और गर्दन दर्द से 5 मिनट में राहत दिलाएंगी ये 5 नेक स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

सिंगल लेग स्‍क्‍वैट्स

दाएं पैर के लिए- यह सामान्‍य स्‍क्‍वैट्स की ही तरह है लेकिन इसे केवल एक पैर से किया जाता है। सबसे पहले दाहिने पैर से स्‍क्‍वैट्स कीजिए। इसे करने के लिए बायें पैर को हवा में कीजिये, दोनों हाथों को आगे की तरफ कीजिए फिर नीचे की तरफ झुकें। इसे करते वक्‍त अपने संतुलन का ध्‍यान रखें। इससे आपके दाहिना पैर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।
बाएं पैर के लिए- यह भी उसी तरह किया जाता है जो पहले आप कर चुके हैं, इसमें दाहिने पैर की बजाय बायें पैर का प्रयोग किया जाता है।

प्रिजनर स्‍क्‍वैट्स

इस स्थिति में आदमी कैदी की तरह प्रतीत होता है, इसे करने के लिए सीधे खड़े हो जाइए हाथों को सीधा करके सिर के पीछे ले जायें, फिर नीचे की तरफ झुकें। ध्‍यान रहे कि आपका हाथ सिर के पीछे ही रहे, फिर सामान्‍य स्थिति में आयें।

इसे भी पढ़ें:- एक्सरसाइज या तेज चलने से क्यों होती है खुजली और पित्ती, जानें कारण

प्लैंक

इसमें केवल सामान्‍य प्‍लैंक नहीं किया जाता है, बल्कि प्‍लैंक के दौरान की जाने वाली सारी क्रियायें की जाती हैं। इसे करने के लिए सबसे पहले प्‍लैंक की स्थिति में आयें, फिर एक हाथ और एक पैर को ऊपर की तरफ ऊठायें, उसके बाद दूसरे पैर और हाथ से वही क्रिया दोहरायें। इस क्रिया को दोहराते रहें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Exercise & Fitness In Hindi

Disclaimer