अस्थमा से बचने के लिए फाइबर युक्त भोजन लें

हाल ही में हुए अध्ययन में सामने आया है कि फाइबर युक्त आहार से अस्थमा का खतरा काफी कम हो जाता है। 

Anubha Tripathi
लेटेस्टWritten by: Anubha TripathiPublished at: Jan 08, 2014
अस्थमा से बचने के लिए फाइबर युक्त भोजन लें

fiber foodफाइबर युक्त फल एवं सब्जियों का सेवन शरीर की अतिसक्रिय प्रतिरक्षा प्रणाली को शांत कर सकता है, जो आंतों में ऐंठन, आंत्रशोथ और यहां तक कि आंत के कैंसर का कारण बन सकती है। यह जानकारी एक नए अध्ययन से सामने आई है।

अध्ययन में यह भी पता चला है कि अधिक फाइबर युक्त भोजन लेने से दमा पर लगाम भी लगाया जा सकता है, क्योंकि रेशेदार भोजन अस्थिमज्जा में विकसित होने वाले रोग प्रतिरक्षी कोशिकाओं के विकास पर लगाम लगाता है। एक वेबसाइट के अनुसार, जब हम रेशेदार फल या सब्जी का सेवन करते हैं तो हमारी आंतों में प्राकृतिक रूप से मौजूद जीवाणु उन रेशों को पचाने में मदद करते हैं। इस प्रक्रिया में उत्सर्जित वसा अम्ल प्रतिरक्षी कोशिकाओं के संपर्क में आने के बाद ज्वलनशील स्थिति पर नियंत्रण रखती है। ये वसा अम्ल प्रतिरक्षी कोशिकाओं के साथ संयुक्त होकर पूरे शरीर में रक्त प्रवाह के माध्यम से पहुंच जाती है।

इसी आधार पर अध्ययन में कहा गया है कि रेशेदार भोजन शरीर में दमा जैसे रोगों में असरकारक हो सकते हैं। ऐसा माना जाता है कि पश्चिमी देशों में 60 के दशक में जब भोजन में रेशेदार पदार्थो के सेवन में कमी आई तो उसी दौरान दमा का तेजी से प्रसार हुआ। लेकिन कम विकसित देशों में भी अब दमा एक आम बीमारी हो चुकी है।

रेशेदार भोजन और अस्थमा के बीच संबंध का परीक्षण करने के लिए स्विट्जरलैंड के लुसाने विश्वविद्यालय में प्रतिरक्षा विज्ञानी बेंजामिन मार्सलैंड व उनके साथी शोधकर्ताओं ने चूहों के एक समूह को लगातार कम रेशेदार भोजन दिया। दो सप्ताह बाद शोधकर्ताओं ने चूहों में धूल कणों में पाई जाने वाली एक एलर्जी पैदा करने वाली चीज पाई, जो मनुष्यों में दमा फैलाने में अहम भूमिका अदा करती है।

 

Source-Medical Daily

 

Read More Health News In Hindi

Disclaimer