स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुजुर्गों के लिए जारी की एडवाइजरी, कोरोना से बचाने में कारगार होंगे ये DO's और DON'Ts

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नोवेल कोरोनोवायरस से देश की बुजुर्ग आबादी को बचाने के लिए कुछ DO's और  DON'Ts सूचीबद्ध किया है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 31, 2020
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुजुर्गों के लिए जारी की एडवाइजरी, कोरोना से बचाने में कारगार होंगे ये DO's और  DON'Ts

विश्व स्तर पर, COVID-19 ने कई लोगों को प्रभावित किया है और यह लगातार बढ़ता जा रहा है। जबकि भारत में इसके प्रसार को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जा रहे हैं, जैसे कि पूरे देश में 21 दिन के लिए लॉकडाउन और इससे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण प्रोटोकॉल। वहीं अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए देश के बुजुर्गों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि बुजुर्ग लोगों को COVID-19 संक्रमण का अधिक खतरा होता है क्योंकि बढ़ते हुए उम्र के साथ उनकी इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है। वहीं उन्हें स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य परेशानियां जैसे कि मधुमेह, उच्च रक्तचाप, किडनी से जुड़े क्रोनिक रोग और अन्य प्रकार के रोग भी होते हैं। इसके अलावा, जिनकी दवाइयां चल रही है या किसी बीमारी का कोर्स चल रहा है वो कोरोना संक्रमण के बहुत जल्द शिकार हो सकते हैं।

insideagedpeople

इन तमाम बातों का ख्याल रखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में बुजुर्ग आबादी को देखते हुए कुछ "डॉस" और "डोंट्स" को सूचीबद्ध करके एक एडवाइजरी जारी की है।

पालन करने योग्य नियम (DO's)

  • 1. घर पर रहें। घर में आगंतुकों से मिलने से बचें। अगर उनसे मिलना जरूरी है, तो एक मीटर की दूरी बनाए रखें।
  • 2. अपने हाथों और चेहरे को साबुन और पानी से नियमित अंतराल पर धोएं।
  • 3. छींक और खांसी आए तो अपनी कोहनी में या टिशू पेपर और रूमाल में ही छींकें या खांसें। टिशू पेपर के खांसने या छींकने के बाद बंद टिशू डस्टबिन में फेंक जें या रूमाल को धो लें।
  • 4. घर पर पका हुआ ताजा गर्म भोजन करें, वहीं हाइड्रेट रहें और उचित पोषण सुनिश्चित करें। वहीं इम्यूनिटी को बढ़ावा देने के लिए बार-बार और ताजा जूस पिएं।
  • 5. व्यायाम और ध्यान करें।
  • 6. अपनी दैनिक निर्धारित दवाएं नियमित रूप से लें।
  • 7. कॉल के माध्यम से अपने परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों और दोस्तों से बात करें या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करें। जरूरत पड़ने पर परिवार के सदस्यों की मदद लें।
  • 8. अपनी वैकल्पिक सर्जरी अगर हो जैसे कि मोतियाबिंद सर्जरी या कुल्हे या घुटने की तो इन्हें स्थगित करें।
  • 9. नियमित रूप से कीटाणुनाशक के साथ अक्सर सतहों को साफ करें।
  • 10. अपने स्वास्थ्य की जांच करें। अगर आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई हो रही है तो तुरंत नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें और चिकित्सा सलाह का पालन करें।
insidecoronavirus

इसे भी पढ़ें : अच्छी खबर: कोरोना वायरस के 102 मरीज हुए पूरी तरह ठीक, देश भर से सामने आ रही हैं कई सकारात्मक खबरें

बुजुर्ग इन कामों को करने से बचें (DON'Ts)

  • 1. अपने नंगे हाथों में या अपना चेहरा ढके बिना खांसी या छींक न करें।
  • 2. अगर आप बुखार और खांसी से पीड़ित हैं तो अपने संपर्कों के पास न जाएं।
  • 3. अपनी आंखों, चेहरे, नाक और जीभ को न छुएं।
  • 4. प्रभावित या किसी भी तरह के बीमार लोगों के पास जाने से बचें।
  • 5. आत्म-चिकित्सा न करें।
  • 6. अपने दोस्तों और आस-पास के लोगों से हाथ न मिलाएं और गले न लगाएं।
  • 7. रूटीन चेकअप या फॉलोअप के लिए अस्पताल न जाएं। जहां तक हो सके अपने डॉक्टर के साथ टेली-परामर्श ले लें।
  • 8. पार्क, बाजार और धार्मिक स्थानों जैसे भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर न जाएं।
  • 9. जब तक बहुत ज्यादा जरूरी न हो, बाहर न जाएं।

इसे भी पढ़ें : COVID-19: फर्श, बर्तन और सब्जियों पर कितने दिन जीवित रहता है कोरोनावायरस? जानें एक्सपर्ट की सटीक राय

वहीं बुजुर्गों के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कई गाइडलाइन्स जारी की है।  विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें, तो तमाम श्वसन स्वच्छता का अभ्यास करें। सुनिश्चित करें कि आप, और आपके आस-पास के लोग, अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन कर रहे हों। इसका मतलब है खांसी या छींक आने पर अपनी मुड़ी हुई कोहनी या टिशू से अपने मुंह और नाक को ढंकना। फिर इस्तेमाल किए गए टिशू का तुरंत निपटान करना। ऐसा इसलिए क्योंकि छींक की बूंदों से वायरस फैल सकता  है। अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन करके आप अपने आसपास के लोगों को सर्दी, फ्लू और सीओवीआईडी -19 जैसे वायरस से बचा सकते हैं।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer