बच्चे के जन्म के बाद हर महिला को खानी चाहिए पंजीरी, सेहत को मिलते हैं ये 4 फायदे

Health Benefits of Panjiri : कैल्शियम, प्रोटीन और फाइबर जैसे कई पोषक तत्वों से भरपूर पंजीरी नई मां को जल्दी रिकवरी करने में मदद कर सकती है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Jan 03, 2023 14:25 IST
बच्चे के जन्म के बाद हर महिला को खानी चाहिए पंजीरी, सेहत को मिलते हैं ये 4 फायदे

Health Benefits of Panjiri : भारतीय घरों में जब छोटा मेहमान आता है तो दादी-नानी नई मां को पंजीरी खाने के सलाह देती हैं। कई जगहों पर पंजीरी का पूजा में प्रसाद के तौर पर भोग लगाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं पंजीरी सिर्फ एक स्वादिष्ट मिष्ठान नहीं बल्कि स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद आहार भी है। डिलीवरी के बाद पंजीरी का सेवन किया जाए तो नई मां को कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। गेहूं के आटे, घी, गुड़ और कई सारे ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर बनने वाली पंजीरी बच्चे के जन्म के बाद महिलाएं खाएं तो उन्हें क्या स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं आज जानेंगे इस लेख में।

डिलीवरी के बाद पंजीरी खाने के फायदे - Health Benefits of Panjiri After Baby Delivery

पंजीरी गेहूं के आटे, घी, गुड़ और कई तरह के ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर बनाई जाती है, इसलिए ये सेहत के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है। पंजीरी में कैल्शियम प्रोटीन, आयरन, गुड फैट, फाइबर जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। पंजीरी के इन्हीं पोषक तत्वों को देखते हुए नई मां को इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़ेंः मूंग और सोयाबीन से बढ़ाएं वजन, जानें इसे खाने के फायदे

Health Benefits of Panjiri After Baby Delivery

शरीर को एनर्जी देता है पंजीरी

पंजीरी का सेवन करने से नई मां के शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने में मदद मिलती है। दरअसल, जब बच्चे की डिलीवरी होती है तो महिलाओं के शरीर के कई सारे पोषक तत्व बाहर निकल जाते हैं, जिसकी वजह से उन्हें शारीरिक तौर पर काफी कमजोरी लगती है। कमजोरी के कारण चक्कर आना, हमेशा थकान महसूस होना जैसे कई समस्याएं हो सकती हैं। डिलीवरी के बाद महिलाएं पंजीरी का सेवन करें तो शारीरिक कमजोरी को खत्म करने और एनर्जी बनाए रखने में मदद मिलती है।

कब्ज से राहत दिलाती है पंजीरी

पंजीरी में पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर का सेवन करने से पाचन संबंधी समस्याएं जैसे की कब्ज और पेट फूलना जैसी बीमारियों से राहत पाई जा सकती है। डिलीवरी के बाद जिन महिलाओं को कब्ज की ज्यादा समस्या रहती है उन्हें रोजाना 20 से 30 ग्राम पंजीरी खाने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़ेंः ये संकेत बताते हैं आपके दिमाग को पड़ चुकी है हर बात पर टेंशन लेने की आदत

शरीर की रिकवरी में करता है मदद करता है पंजीरी

बच्चे की डिलीवरी के बाद एक महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। इन बदलावों को ठीक करने में शरीर को 4 से 6 महीने का वक्त लगता है। डिलीवरी के बाद शरीर को रिकवर करने के लिए पौष्टिक आहार की जरूरत पड़ती है। ऐसे में पंजीरी का सेवन किया जाए तो ये शरीर की जल्दी रिकवरी करने में मदद कर सकता है।

डिप्रेशन से बचाता है पंजीरी

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं में डिप्रेशन की समस्या बहुत ही आम मानी जाती है। डिलीवरी के बाद महिलाओं को होने वाली डिप्रेशन की समस्या को पोषक तत्वों की कमी माना गया है। ऐसे में कैल्शियम, प्रोटीन, फाइबर युक्त पंजीरी का सेवन किया जाए तो ये डिलीवरी के बाद डिप्रेशन की समस्या से बचने में मदद कर सकता है।

Pic Credits: Freepik.com

 

 

 

 

Disclaimer