चौलाई की पत्तियां, जड़ और फूल सभी में होते हैं औषधीय गुण, जानें इसके सेवन के फायदे और प्रयोग का तरीका

अमरंथ एक पौधा है ज‍िसकी जड़, पत्‍त‍ियां, दाने, फूल आद‍ि का इस्‍तेमाल स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, आइए जानते हैं इसके फायद

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Apr 08, 2021 17:08 IST
चौलाई की पत्तियां, जड़ और फूल सभी में होते हैं औषधीय गुण, जानें इसके सेवन के फायदे और प्रयोग का तरीका

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

अमरंथ के क्‍या फायदे हैं? अमरंथ एक पौधा है ज‍िसमें औषधीय गुण होते हैं। इसकी पत्‍त‍ियों और डंठलों में प्रोटीन, व‍िटाम‍िन ए पाया जाता ह। ये पेट के ल‍िए फायदेमंद माना जाता है, क्‍योंक‍ि इसमें ठंडक पहुंचाने के गुण होते हैं। पेट के कई रोगों में इसको औषधी की तरह इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। कब्‍ज में चौलाई की सब्‍जी खिलाई जाती है। इससे डाइजेस्‍ट‍िव स‍िस्‍टम अच्‍छा रहता है। इसका सेवन पित्‍त रोग में भी फायदेमंद माना जाता है। अमरंथ के दाने के लड्डू प्रेगनेंट और स्‍तनपान करवाने वाली मह‍िलाओं के ल‍िए फायदेमंद होता है। एनीमिया में भी इन दानों से बने लड्डूओं का सेवन फायदेमंद माना जाता है। बाल झड़ने की समस्‍या है तो अमरंथ के फूल का रस लगाना फायदेमंद माना जाता है। ये पौधा कई गुणों से भरपूर होता है। इसकी पत्‍ती, दाने, फूल, जड़ आद‍ि का इस्‍तेमाल कई बीमारियों को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

amaranth leaves

1. फुंसी के ल‍िए यूज करें अमरंथ की पत्‍त‍ियां (Chaulai or Amaranth for skin)

अगर आपके चेहरे पर फुंसी या दाने हो जाएं तो आप अमरंथ की पत्‍त‍ियों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अगर कहीं सूजन है तो भी अमरंथ की पत्‍त‍ियों को पीसकर उसका लेप सूजन पर लगाया जा सकता है। पथरी हो जाने पर भी अमरंथ की पत्‍त‍ियों का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इसकी पत्‍त‍ियों का रस पानी में म‍िलाकर पीने से पथरी न‍िकल जाती है। 

2. प्रेगनेंट मह‍िलाओं को ताकत देंगे अमरंथ के दाने (Chaulai or Amaranth Laddu)

amaranth laddu

प्रेगनेंट मह‍िलाओं को आप अमरंथ के दानों के लड्डू बनाकर ख‍िलाएं। अमरंथ के दानों को रामदाना और राजग‍िरा कहते हैं। इसके दानों को गुड़ में म‍िलाकर प्रेगनेंट मह‍िलाओं को ख‍िलाएं उनके शरीर को ताकत म‍िलेगी और जो मांएं स्‍तनपान करवा रही हैं उन्‍हें भी इन लड्डूओं का सेवन करना फायदेमंद होगा। 

इसे भी पढ़ें- इन 4 कारणों से होलिका दहन पर कंडे (उपले) जलाना माना जाता है शुभ, कंडे की राख से मिलते हैं सेहत को कई फायदे

3. एनीम‍िया है तो खाएं अमरंथ के दानें (Chaulai or Amaranth seeds for Anemia)

amaranth seeds

अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो भी अमरंथ के दानों से बने लड्डू खा सकते हैं। ये लड्डू खून बढ़ाने का काम करेंगे। अमरंथ से एनीम‍िया के साथ-साथ गठिया रोग, ब्‍लडप्रेशर, हॉर्ट ड‍िसीज भी दूर होते हैं। ज‍िन लोगों को श्‍वेत प्रदर रोग है वो अमरंथ की जड़ को पीसकर शहद म‍िलाकर प‍िएं तो रोग दूर होगा। 

4. बाल झड़ते हैं तो अमरंथ लगाएं अमरंथ के फूल का रस (Chaulai or Amaranth to stop hair fall)

अगर आपके बालों में डैंड्रफ या रूसी की समस्‍या है तो आप अमरंथ के फूलों का रस बालों में लगाएं। इसके ल‍िए अमरंथ के फूलों को पानी में भ‍िगोकर रख दें और सुबह उस पानी को शैम्‍पू के बाद स‍िर पर लगा लें और 20 मिनट बाद स‍िर धो लें, इससे डैंड्रफ और बालों का झड़ना कम हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें- पहाड़ी पौधे “पियारांगा” की जड़ में होते हैं कई औषधीय गुण, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसके फायदे और प्रयोग

5. अमरंथ के रस से पेट संबंधी श‍िकायतें दूर होती हैं (Chaulai or Amaranth for stomach problem)

अमरंथ के रस का सेवन करने से पेट संबंधी श‍िकायतें दूर होती हैं। छोटे बच्‍चों को अगर कब्‍ज की श‍िकायत है तो आप औषध‍ि के तौर पर 2 चम्‍मच रस बच्‍चे को दे सकते हैं। इससे उसके पेट में हो रहा दर्द ठीक हो जाएगा। प‍ित्‍त रोग में भी अमरंथ का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। शहद के साथ अमरंथ का रस म‍िलाकर पीने से रोग दूर होगा।

इस तरह आप अलग-अलग समस्‍याओं में अमरंथ को इस्‍तेमाल कर सकते हैं, अगर आपको कोई गंभीर बीमारी या एलर्जी है तो डॉक्‍टर से सलाह लेकर ही इसका सेवन करें। 

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer