पिप्पली मूल और तुलसी का मिश्रण है सेहत के लिए बहुत फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें कैसे करना है सेवन

पिप्पली और तुलसी का इस्तेमाल करने के कई फायदे हैं। इसके सेवन से सिरदर्द और गले की खराश में काफी राहत मिलती है।

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Dec 23, 2021Updated at: Dec 23, 2021
पिप्पली मूल और तुलसी का मिश्रण है सेहत के लिए बहुत फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें कैसे करना है सेवन

पिप्पली मूल और तुलसी कई तरीके से स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। दरअसल पिप्पली में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, अमीनो एसिड, विटामिन, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। वहीं तुलसी की पत्तियों में विटामिन और खनिज तत्व मौजूद होते हैं। इसमें मुख्य रूप से विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक और आयरन पाए जाते हैं। इसकी मदद से सर्दी-जुकाम और पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में मदद मिलती है। इसके अलावा गले की परेशानियों में भी पिप्पली मूल और तुलसी के मिश्रण का सेवन किया जा सकता है। इसके लाभ और उपाय के बारे में विस्तार से बता रहे हैं आयुर्वेदाचार्य डॉ राहुल चतुर्वेदी

पिप्पली और तुलसी के फायदे (Benefits of long pepper and Basil)

1. इम्यून सिस्टम करें मजबूत 

पिप्पली और तुलसी में विटामिन सी और कई एंटी-माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जिसकी मदद से आपकी इम्यूनिटी मजबूत होती है। सर्दियों में होने वाली कई बीमारियों में पिप्पली और तुलसी का प्रयोग किया जाता है।

2. पेट संबंधित समस्याओं में

तुलसी और पिप्पली के  मिश्रण का उपयोग करने से पेट से संबंधित समस्याएं दूर हो सकती है। इसकी मदद से अपच और गैस की समस्या में काफी आराम मिलता है। साथ ही पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में भी पिप्पली और तुलसी काफी कारगर है। 

basil-long-pepper

Image Credit- Freepik 

3. सिरदर्द से राहत 

पिप्पली और तुलसी के मिश्रण के सेवन से सिरदर्द में भी काफी आराम मिलता है। अपच या गैस के कारण भी आपका सिर अगर दर्द दे रहा है तो , आप इस मिश्रण का सेवन कर सकते हैं।

4. आंतों की सूजन में आराम

पिप्पली और तुलसी के सेवन से आंतों की सूजन में भी आराम मिलता है। इससे शरीर को काफी गर्मी भी मिलती है। ठंड में इसके सेवन से शरीर में गर्मी बनी रहती है। यह शरीर में नए ऊतकों  को बनाने और उनकी मरम्मत करने में मदद करते हैं। साथ ही शरीर को भरपूर एनर्जी भी देता है।

इसे भी पढ़ें- गले में खिचखिच, खराश, बलगम और सीने में भारीपन की समस्या दूर करेगा ये तुलसी का काढ़ा, इम्यूनिटी भी होगी मजबूत

5. सर्दी-जुकाम में कारगर

पिप्पली और तुलसी के पाउडर को शहद के साथ खाने से सर्दी-जुकाम में राहत मिलती है। साथ ही इससे गले की जलन और खराश दूर करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गले की सूजन में आराम देता है।

basil-long-pepper

Image Credit- Freepik

6. वायरल बुखार में फायदेमंद

पिप्पली और तुलसी में जीवाणुरोधी गुण पाए जाते हैं, जिसकी मदद से वायरल बुखार या खांसी को ठीक करने में मदद मिलती है। इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है, जो शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है। 

पिप्पली और तुलसी का कैसे करें इस्तेमाल

1. पिप्पली और तुलसी को पानी में डालकर अच्छे से उबाल लें और फिर सुबह-शाम इस पानी का सेवन जरूर करें।

2. चाय में भी तुलसी और पिप्पली डालकर इसका सेवन किया जा सकता है। इससे खांसी में काफी राहत मिलती है।

3. इसके अलावा इनको सूखाकर 3 ग्राम मात्रा का सुबह-शाम सेवन करने से आपको आंत की सूजन में काफी आराम मिलता है।

4. इसके अलावा इनके पाउडर को शहद के साथ मिलाकर खाने से गले की खराश दूर होती है।

5. गले की दर्द में भी पिप्पली और तुलसी के पानी को पीने से काफी आराम मिलता है।

Disclaimer