पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं गरम मसाले, रोजाना खाने से शरीर को मिलते हैं 5 फायदे

भारतीय खानों में स्वाद बढ़ाने के लिए आर्टिफिशियल फ्लेवर्स की जगह मसालों का प्रयोग किया जाता है। इन्हीं मसालों में से एक है गरम मसाला।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 21, 2022Updated at: Jul 21, 2022
पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं गरम मसाले, रोजाना खाने से शरीर को मिलते हैं 5 फायदे

Garam Masala Benefits: भारत अपने मसालेदार और खुश्बू से भरपूर खानों के लिए दुनियाभर में जाना जाता है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक यहां तरह-तरह के पकवान और उनकी खुशबू मन और जीभ को लुभा जाती हैं। भारतीय खानों में स्वाद बढ़ाने के लिए आर्टिफिशियल फ्लेवर्स की जगह प्राकृतिक मसालों का प्रयोग किया जाता है। इनमें से ज्यादातर मसालों की गर्म तासीर के कारण इन्हें गरम मसाले कहा जाता है। गरम मसाला न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ता है, बल्कि खाने को बेहतर रंग और खुशबू भी देता है। गरम मसाला शाकाहारी और मांसाहारी दोनों ही तरह के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नियमित तौर पर गरम मसाला खानाआपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है? गरम मसाला शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करके मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने का काम करता है। आइए जानते हैं गरम मसाला खाने के उन फायदों के बारे में जिनसे अब तक आप शायद अनजान हैं।

गरम मसाला खाने के फायदे- Benefits of Eating Garam Masala

शुगर लेवल करता है नियंत्रित

शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए गरम मसाला बेहद कारगर माना जाता है। गरम मसाले को बनाने के लिए जीरा और दालचीनी की इस्तेमाल जरूर किया जाता है। ये एक सक्रिय एंटी-डायबिटिक एजेंट हैं, जो शरीर में शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार साबित होते हैं। 

शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए

शरीर से विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने की प्रक्रिया को डिटॉक्सिफिकेशन कहा जाता है। दरअसल गरम मसाले में दालचीनी पाई जाती है। कई शोध में यह बात सामने आ चुकी है कि दालचीनी शरीर में नैचुरल डिटॉक्स की तरह का काम करता है। इसलिए गरम मसाले को शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए एक अच्छा ऑप्शन माना जाता है।

इसे भी पढ़ेंः चाय के साथ खाते हैं बिस्किट? ये बन सकता है कई बीमारियों की वजह

garam masala ingredients

इम्यूनिटी तो करता है बूस्ट

कोरोना और मंकीपॉक्स जैसे वायरस के दौर में इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाए रखना कितना जरूरी है, ये बात तो हर कोई जानता है। अगर प इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए कोई उपाय खोज रहे हैं, तो गरम मसाले का चुनाव कर सकते हैं। गरम मसाले में इस्तेमाल होने वाला धनिया जिंक का मुख्य स्त्रोत है। जिंक इम्यूनिटी को बूस्ट करता है, जिससे हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है।

आंखों के लिए है फायदेमंद

कई घंटों तक लगातार लैपटॉप और सिस्टम पर काम करने की वजह से कई लोगों को आंखों की समस्याएं होने लगी हैं। आंखों को लंबे समय तक सेहतमंद बनाए रखने के लिए गरम मसाला काफी उपयोगी माना जाता है। गरम मसाले को बनाने में दालचीनी का प्रयोग किया जाता है। दालचीनी में भरपूर मात्रा में फोलेट पाया जाता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार फोलेट का सेवन आंखों को सुरक्षित रखने में लाभदायक होती है।

इसे भी पढ़ेंः डीप फ्राई, कच्चा या उबालकर, किस तरह मशरूम खाना है ज्यादा हेल्दी? जानें एक्सपर्ट से

दर्द और सूजन में मिलता है आराम

गरम मसाला दर्द और सूजन से भी आराम दिलाने में मददगार होता है। गरम मसाले में एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द निवारक गुण पाए जाते हैं। अगर नियमित तौर पर गरम मसाले का सेवन किया जाए, तो ये शरीर के दर्द और सूजन को कम करने में सहायक हो सकता है।

गरम मसाले को बनाने के लिए दालचीनी, जीरा, काली मिर्च, तेजपत्ता, धनिया, मेथी के बीज और भी कई तरह के मसालों का इस्तेमाल किया जाता है। आप चाहें तो अपने हिसाब से इसमें तुलसी के पत्तियां और अजवाइन को भी शामिल कर सकते हैं। आज बाजार में कई ब्रांड्स के गरम मसाले मौजूद हैं, लेकिन हमेशा घर पर बनाए गए मसाले का ही इस्तेमाल खाने में करना चाहिए।

Disclaimer