ग्लूटेन फ्री अनाज कौन-कौन से हैं? जानिए इनके बारे में

Gluten free food:आजकल हेल्दी रहने और वेटलॉस करने के लिए ग्लूटेन फ्री डाइट काफी ट्रेंड में हैं। जिम ट्रेनर भी ग्लूटेन फ्री फूड खाने की सलाह देते हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 15, 2022Updated at: Jul 15, 2022
ग्लूटेन फ्री अनाज कौन-कौन से हैं? जानिए इनके बारे में

Gluten Free Grains: वजन घटाने, स्किन को हेल्दी रखने और बालों की समस्याओं से बचने के लिए आजकल ग्लूटेन फ्री डाइट का क्रेज लोगों में तेजी से बढ़ रहा है। जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्याएं होती हैं, उन्हें भी ग्लूटेन फ्री खाना खाने की सलाह दी जाती है। ग्लूटेन एक तरह का प्रोटीन होता है। ये गेहूं, जौ, ब्रेड और पास्ता जैसे खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। ग्लूटेन फ्री डाइट शरीर को एनर्जी दिलाने और कई तरह के दर्द से भी राहत दिलाने में मदद करती है। ग्लूटेन फ्री डाइट के इन्हीं फायदों को देखते हुए आज हम आपको ऐसे 5 अनाज के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें यह नहीं पाया जाता है।

ग्लूटेन फ्री अनाज कौन से हैं?

मक्का

मक्का या मकई एक ग्लूटेन फ्री अनाज है। जिन लोगों को गेहूं और जौ जैसे अनाज खाने के बाद हेल्थ प्रॉब्लम होती है, उन्हें मक्का या इससे बनी चीजें इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। मक्के में पाया जाने वाला  कैरोटिनॉइड, विटामिन सी और फाइबर हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। नियमित तौर पर मक्का का सेवन किया जाए तो इससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।

क्विनोआ

क्विनोआ सबसे हेल्दी अनाज माना जाता है। क्विनोआ में यरन, फाइबर, प्रोटीन, एंटी-कैंसर, एंटी एजिंग गुण, एंटी-सेप्टिक जैसे कई गुण पाए जाते हैं। जो लोग प्रोटीन के लिए दूध, दही और पनीर जैसी चीजें नहीं खा सकते हैं, उन्हें क्विनोए खाने की सलाह दी जाती है। क्विनोआ में पर्याप्त मात्रा में अमीनो एसिड पाए जाते हैं, जो एनीमिया से बचने और दिल से संबंधित बीमारियों के निजात दिलाने में मदद करते हैं। कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि क्विनोआ का सेवन करने वाले लोगों को कैंसर का खतरा कम रहता है।

इसे भी पढ़ेंः खाने से कितनी देर पहले भिगोने चाहिए नट्स? जानें आयुर्वेद डॉक्टर से

जई यानी ओट्स

जई यानी की ओट्स भी एक ग्लूटेन फ्री अनाज है। ये सीलिएक रोग से पीड़ित लोगों के लिए काफी सहायक अच्छा माना जाता है। ओट्स में जिंक, कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, विटामिन- बी  और विटामिन ई पाया जाता है, जो वजन कंट्रोल करने, इम्यूनिटी बढ़ाने और शरीर को लंबे समय तक एनर्जेटिक बनाए रखने में मदद करता है। ज्यादातर लोग नाश्ते में ओट्स का सेवन करना पसंद करते हैं। जई में बीटा ग्लूटेन पाया जाता है, जो ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है।

 

Black Rice health benefits

ब्राउन राइस

The International Journal of Food Sciences and Nutrition में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ब्राउन राइस में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। ब्राउन राइस में मौजूद मिनरल्स , आयरन , जिंक, मैग्नीशियम और कैल्शियम शरीर को एनर्जी देने में मदद करता है। ब्राउन राइस का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और कैंसर के जोखिमों को कम करने में मदद मिलती है। जिन लोगों को पाचन संबंधित समस्याएं होती है, उन्हें भी ब्राउन राइस का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़ेंः Sawan Food Guide 2022: सावन के व्रत में इन खाद्य पदार्थों का न करें सेवन

 

Disclaimer