Sawan Food Guide 2022: सावन के व्रत में इन खाद्य पदार्थों का न करें सेवन

Sawan 2022 Diet Tips in Hindi: इस वर्ष सावन महीने की शुरुआत 14 जुलाई से हो चुकी है, जो कि 12 अगस्त तक चलेगी। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 15, 2022Updated at: Jul 15, 2022
Sawan Food Guide 2022: सावन के व्रत में इन खाद्य पदार्थों का न करें सेवन

हिंदू पंचांग के अनुसार, वर्ष का पांचवा महीना देवों के देव महादेव को समर्पित होता है। इस साल सावन (sawan 2022)के महीने की शुरुआत 14 जुलाई से हो चुकी है, जो की 11 अगस्त तक रहेगी। इस पूरे महीने शिव भक्त भोलेनाथ की आराधना में लीन रहेंगे। सावन के महीने में 4 सोमवार पड़ रहे हैं। मान्यता है कि सावन के महीने में सोमवार के दिन व्रत (sawan somvar 2022 vrat) रखने से विशेष लाभ की प्राप्ति होती है। सावन के महीने में खानपान से जुड़े कुछ नियमों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। तो आइए जानते हैं सावन के महीने में किन चीजों को खाने की मनाही होती है।

foods_to_Avoid_in_sawan_fast

प्याज और लहसुन

सावन के व्रत में केवल सात्विक भोजन करना उत्तम होता है। इस दौरान लहसुन और प्याज खाने की मनाही होती है। प्याज और लहसुन को तामसिक भोजन माना जाता है। प्याज और लहसुन की तासीर गर्म होती है, अगर व्रत में इसका सेवन किया जाए, तो इससे पेट से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं।

Sawan_Somwar_Fast

मांस, मछली और अंडे

सावन के महीने में मांस, चिकन, अंडे और मछली सहित तमाम तरह के मांसाहारी खाद्य पदार्थों को खाने की मनाही होती है। इसका वैज्ञानिक कारण ये है कि सावन का महीना बारिश का होता है। इस दौरान वातावरण में नमी होती है, जिसकी वजह से फंगस, फफूंदी और फंगल इंफेक्शन बढ़ने लगते हैं। मांस और मछली जैसी चीजों पर फंगस और कीटाणु जल्दी पनपते हैं, इसलिए इन्हें खाने की सलाह नहीं दी जाती है। बारिश के कारण लोगों की पाचन क्रिया भी कमजोर हो जाती है और मांसाहारी खाने को पचाने में वक्त लगता है। इसलिए भी सावन के महीने में मांसाहार खाने की मनाही होती है।

foods_to_Avoid_in_sawan_fast

बैंगन

हिंदू शास्त्रों में बैगन को शुद्ध वस्तु नहीं माना गया है। जब धार्मिक और आध्यात्मिक अवसरों की बात आती है, तो इसे अशुभ माना जाता है। इसलिए सावन के पूरे महीने में बैगन खाने से बचना चाहिए। इसका वैज्ञानिक कारण ये है कि बारिश के मौसम में बैंगन में कीड़े लगने लगते हैं, जिसकी वजह से इन्हें नहीं खाना चाहिए।

सफेद नमक

आम तौर पर घरों में खाना बनाने के लिए सफेद नमक का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन सावन में इसे खाने की मनाही होती है। सावन में सफेद की जगह सेंधा नमक खाने की सलाह दी जाती है। सफेद नमक को न खाने का वैज्ञानिक कारण ये है कि इसे पचाने में वक्त लगता है। सावन के महीने में बारिश की वजह से लोगों की पाचन क्रिया कमजोर पड़ जाती है, इसलिए सेंधा नमक खाने की सलाह लोगों को दी जाती है।

इसे भी पढ़ेंः खाने से कितनी देर पहले भिगोने चाहिए नट्स? जानें आयुर्वेद डॉक्टर से

हरी सब्जियां

वैसे तो हरी सब्जियां सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं, लेकिन बारिश के मौसम में इनमें कीड़े लग जाते हैं। कीड़े लगी सब्जियां खाने से पेट और स्किन से संबंधित बीमारियों का खतरा रहता है।

Disclaimer