इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन के शिकार पुरुषों में 59% बढ़ जाती है हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावना: रिसर्च

पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (Erectile Dysfunction) हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियों का पूर्व संकेत हो सकता है। रिसर्च के अनुसार इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (स्तंभन दोष) के कारण पुरुषों में हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावना कई गुना बढ़ जाती है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 12, 2019
इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन के शिकार पुरुषों में 59% बढ़ जाती है हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावना: रिसर्च

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (स्तंभन दोष) एक ऐसी समस्या है जिसके कारण यौन क्रिया के दौरान पुरुषों के लिंग में कड़ापन नहीं आ पाता है। पिछले 10-15 सालों में पुरुषों में ये समस्या तेजी से बढ़ी है। हाल में हुई एक रिसर्च में पाया गया है कि इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शिकार पुरुषों में हार्ट अटैक की संभावना बहुत ज्यादा होती है। इस रिसर्च के अनुसार इस समस्या के कारण पुरुषों में दिल की बीमारियों की संभावना 59% और स्ट्रोक का खतरा 34% बढ़ जाता है।

ये रिसर्च 150,000 लोगों के पर की गई है और इसे जर्नल ऑफ सेक्शुअल मेडिसन में छापी गई है। रिपोर्ट के अनुसार नपुंसकता के कारण पुरुषों को 50 साल की उम्र के बाद हार्ट अटैक की संभावना कई गुना अधिक बढ़ जाती है।

नपुंसकता हो सकती है हार्ट अटैक का पूर्व संकेत

प्रमुख शोधकर्ता और Massachusetts’ Brigham and Women’s Hospital के कार्डियोलॉजिस्ट Dr. Ron Blankstein ने बताया, "पुरुषों में हार्ट अटैक के लक्षण दिखने के कई साल पहले ही उनमें नपुंसकता पैदा हो सकती है। कुछ मामलों में तो इरेक्टाइल डिसफंक्शन इस बात का संकेत हो सकता है कि व्यक्ति को कार्डियोवस्कुलर बीमारी होने वाली है।"

इसे भी पढ़ें:- पुरुषों में गलत अंडरवियर से 25% तक घट जाते हैं स्पर्म (शुक्राणु), जानें बॉक्सर या ब्रीफ क्या पहनना है सही?

50% भारतीय पुरुषों को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या

आउटलुक इंडिया पर छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 40 साल से बड़ी उम्र के 50% से ज्यादा पुरुष इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या का शिकार हैं। इस समस्या के कारण ही पुरुषों में हार्ट से जुड़ी बीमारियां (Heart Diseases), हाई ब्लड प्रेशर (Hypertension), धूम्रपान और शराब पीने की लत बढ़ रही है। मेडिकल साइंस में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या का इलाज उपलब्ध है, मगर ज्यादातर भारतीय इस संबंध में डॉक्टर से या अन्य किसी से बात करने में संकोच करते हैं।

इसे भी पढ़ें:- पुरुषों को 35 की उम्र के बाद जरूर करवानी चाहिए ये 5 जांच

इरेक्टाइल डिसफंक्शन और दिल की बीमारी में क्या है संबंध?

Dr. Ron Blankstein के अनुसार पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन और हार्ट की बीमारियों के बीच गहरा संबंध है। पुरुषों के लिंग में जो धमनी रक्त प्रवाहित (ब्लड सर्कुलेट) करती है, वो बेहद महीन और पतली होती है। इसका व्यास (Diameter) बहुत कम होता है। यही वो सबसे छोटी Blood Vessels है, जो हार्ट की बीमारियों का पहला संकेत देती है। पुरुषों को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या ही इस कारण होती है कि उनके लिंग में सही से ब्लड सर्कुलेशन नहीं हो पाता है।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer