जागती आंखों से सपना देखने से बेहतर बनते हैं आप?

यह बिल्कुल सही है कि जो लोग जागती आंखों से सपने देखते हैं वही बेहतर और सफल इंसान बनते हैं। मगर कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो खुद को अपने सपनों के मुताबिक नही देख पाते हैं, उनके सपने अधूरे रह जाते हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Nov 22, 2016
जागती आंखों से सपना देखने से बेहतर बनते हैं आप?

"सभी मनुष्य सपने देखते हैं, लेकिन एक समान रूप से नहीं। जो रात में अपने मन की गर्दभरी गुफाओं में सपने देखते हैं, सुबह होते ही उसे व्यर्थ पाते हैं लेकिन दिन में ही सपने देखने वाले खतरनाक इंसान होते हैं, क्योंकि वे उन्हें संभव बनाने के लिये, खुली आँखों से अपने सपनों पर काम शुरू कर सकते हैं" ये कथन टामस एडवर्ड लॉरेंस प्रख्यात ब्रिटिश सेना के अफसर, अंवेषक एवं लेखक थे। इनके ये शब्द आज भी सार्थक हैं।

यह बिल्कुल सही है कि जो लोग जागती आंखों से सपने देखते हैं वही बेहतर और सफल इंसान बनते हैं। मगर कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो खुद को अपने सपनों के मुताबिक नही देख पाते हैं, उनके सपने अधूरे रह जाते हैं। आज हम आपको ऐसे ही कुछ महान दार्शनिक और सफल लोगों की बातों के माध्यम से बताएंगे कि कैसे जागती आंखों से सपने देखने से बेहतर बनते हैं आप!

इसे भी पढ़ें : चोट या खरोंच को चाटना है कितना सही? जानें

success

इसे भी पढ़ें : कौन सा चॉकलेट है हेल्‍दी ? वाइट, मिल्‍क या डार्क !

दृढ़ विश्वास के साथ आगे बढ़ो

"अपने सपनों की दिशा में में द्रढ़ विश्वास के साथ चलिये! जैसी जिंदगी जीने का आपने सपना देखा है उसे जीयें। जैसे-जैसे आप अपने जीवन को सरल बनाते जाते हैं, वैसे वैसे ब्रह्माण्ड के नियम भी सरल होते चले जायेंगे।" ये बात अमेरिका के महान दार्शनिक हेनरी डेविड थोरो ने कही थी।

अपने दायरे से बाहर निकलो

अमेरिका के महान लेखक एच जैक्सन ब्राउन, जूनियर ने कहा था कि "आज से बीस साल बाद आप उन चीजों के लिए ज्यादा निराश होंगे जिन्हें आपने नही किया था बजाए उनके जिन्हें आपने किया था। इसलिए पाल की रस्सियों को दूर फेंक दीजिए, सुरक्षित बंदर से दूर यात्रा कीजिए। अपनी पाल में व्यापारिक हवाओं को पकडि़ए, अंवेषण कीजिए, सपने देखिए, खोजिए।"

छोटे-छोटे सपनों को पूरा करें

"सपने सपना देखते हैं। अगर आप उन्हें बहुत बड़े बना लेते हैं, तो आप अभिभूत हो जाते हैं और आप कुछ नहीं कर पाते हैं। यदि आप छोटे लक्ष्य बनाते हैं और उन्हें पूरा कर लेते हैं, तो यह आपको ऊँचे लक्ष्यों को पूरा करने लायक दृढ विश्वास से संपन्न बनाते हैं।" ये कथन अमेरिका के बड़े बिजनेसमैन और पब्लिसर जॉन एच जॉनसन के हैं।

सपने देखें और कर्म करें

फ्रांसीसी कवि, पत्रकार और उपन्यासकार अनातोल फ्रांस का कथन था कि "बड़ी चीजें हासिल करने के लिये, हमें न केवल कर्म करना चाहिये, बल्कि स्वप्न भी देखने चाहिये केवल योजना ही नहीं बनानी चाहिये, बल्कि यकीन भी करना चाहिये।"

अंत तक सपनों का पीछा करें

"यह सच नहीं है कि लोग सपनों का अनुसरण करना इसलिये बंद कर देते हैं क्योंकि वे बूढ़े हो जाते हैं, वे बूढ़े इसलिये होते हैं क्योंकि वे सपनो का पीछा करना बंद कर देते हैं।" ये कथन नोबेल पुरस्कार से सम्मानित विश्वविख्यात साहित्यकार गेब्रियल गार्सिया मार्खेस ने कही थी।

Image Source : Getty
Read More Articles on Healthy living in Hindi

Disclaimer