क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के फायदे, तरीका और जरूरी सावधानियां

वजन कम करने से लेकर दिल को स्वस्थ रखने तक क्रॉस फिट एक्सरसाइज का अभ्यास बहुत फायदेमंद माना जाता है, जानें तरीका और इससे जुड़ी जरूरी सावधानियां। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 04, 2021
क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के फायदे, तरीका और जरूरी सावधानियां

आज के दौर में लोग सेहत और बॉडी बिल्डिंग को लेकर पहले से अधिक जागरूक हो गए हैं। फिटनेस और बॉडी बिल्डिंग के लिए लोग घंटों तक जिम में पसीना बहाते हैं। जिम में एक्सरसाइज या वर्कआउट करने के लिए लोगों की भीड़ लगी रहती है। वजन कम करने के इरादे से आने वाले लोगों से लेकर अपने शरीर को मजबूत और दुरुस्त बनाने के लिए लोग सुबह से लेकर शाम-रात तक जिम में लगे रहते हैं। जिम में एक्सरसाइज और वर्कआउट करने के लिए तमाम तरह की मशीनों का सहारा लिया जाता है। मशीन के सहारे वर्कआउट या एक्सरसाइज का अभ्यास आसान और फायदेमंद होता है। जिम में इस्तेमाल होने वाली एक मशीन का नाम है क्रॉस ट्रेनर (Cross Trainer)। जो लोग जिम में रोजाना एक्सरसाइज या वर्कआउट करने जाते हैं उन्हें इसके बारे में जानकारी जरूर होगी। क्रॉस ट्रेनर की सहायता से आप क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास कर सकते हैं। इसे एक एरोबिक कार्डियो एक्सरसाइज माना जाता है। इसके नियमित रूप से अभ्यास से शरीर को अनेकों फायदे मिलते हैं। आइये जानते हैं क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के फायदे, करने का तरीका और इससे जुड़ी जरूरी सावधानियों के बारे में।

क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास करने के फायदे (Cross Trainer Machine Exercise Benefits)

हाथ-पैर और कार्डियो एक्सरसाइज के लिए लोग जिम में क्रॉस ट्रेनर मशीन का सहारा लेते हैं। इसे 'एलिप्टिकल मशीन'  भी कहा जाता है। अक्सर यह मशीन आपको जिम के कार्डियो सेक्शन में दिखेगी। इस मशीन में लंबे हैंडल और पैडल होती हैं जिसके सहारे एक्सरसाइज का अभ्यास किया जाता है। क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज एक प्रभावी वर्कआउट है जिसका नियमित रूप से अभ्यास करना बहुत फायदेमंद होता है। पूरी शरीर की अच्छी कसरत के लिए आप क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के अलग-अलग वेरिएशन को ट्राय कर सकते हैं। आइये जानते हैं इसके अभ्यास से शरीर को मिलने वाले फायदों के बारे में।

Cross-Trainer-Machine-Exercise-Benefits

इसे भी पढ़ें : केकड़ा चाल एक्सरसाइज से शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे, वजन घटाने और फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ाने के लिए है बेस्ट

1. तेजी से वजन घटाने में उपयोगी (Good For Weight Loss)

असंतुलित खानपान और जीवनशैली के कारण आज के समय में लोग मोटापे की समस्या से पीड़ित हैं। ऐसे लोग वजन कम करने के लिए डाइट के साथ-साथ जिम का सहारा लेते हैं। जो लोग तेजी से वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद है। इसके नियमित रूप से अभ्यास से आप कम समय में वजन कम कर सकते हैं। क्रॉस ट्रेनर वर्कआउट करते समय अधिक कैलोरी बर्न होती है जिसके कारण आपको वजन कम करने में फायदा मिलता है। हालांकि इस व्यायाम के अलग-अलग वेरिएशन होते हैं और कैलोरी भी उसके आधार पर ही बर्न होती है इसलिए आपको अपने ट्रेनर से जानकारी लेने के बाद इसका अभ्यास करना चाहिए।

2. स्टैमिना और कार्डियो क्षमता बढ़ाने के लिए उपयोगी (Boost Your Stamina And Cardio Capacity)

क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के रोजाना अभ्यास करने से आपकी स्टैमिना में सुधार होता है। इस एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय आपके हार्ट और फेफड़ो में अधिक ब्लड ऑक्सीजन सप्लाई होती है। इस दौरान आपके फेफड़े और हार्ट तेजी से काम करते हैं। ऐसे में आपकी सांस भी फूल सकती है और हार्ट रेट बढ़ जाता है। रोजाना इसका अभ्यास करने से आपकी सांस लेने की क्षमता बढ़ जाती है और इससे फेफड़ों के साथ-साथ दिल को भी फायदा मिलता है। इस एक्सरसाइज का रोजाना अभ्यास करने से आपके हार्ट और फेफड़े मजबूत होते हैं जिससे आपको कार्डियो करने में आसानी होती है।

इसे भी पढ़ें : ग्रुप में एक्सरसाइज करने से आपकी सेहत को मिलते हैं ये 6 फायदे, बना रहता है मोटिवेशन

Cross-Trainer-Machine-Exercise-Benefits

3. जोड़ों के लिए बहुत उपयोगी व्यायाम (Protect Your Joints)

 क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास वजन घटाने के साथ-साथ आपके जोड़ों के लिए बहुत उपयोगी होता है। शरीर के जोड़ों से जुड़ी समस्या में इसका अभ्यास बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का रोजाना अभ्यास करने से आपके शरीर के जोड़ों को सुरक्षा मिलती है। इन वर्कआउट का अभ्यास करने से आपको जोड़ों से जुड़ी समस्या नहीं होती है। घुटने, कोहनी, कूल्हे आदि के लिए रोजाना क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास बहुत फायदेमंद होता है। यह एक लो इम्पैक्ट एक्सरसाइज है जिसका घुटनों पर अधिक प्रभाव नहीं पड़ता है जिससे घुटनों की सुरक्षा होती है।

4. अलग-अलग तरह के वर्कआउट के लिए उपयोगी (Vary The Intensity of Your Workout)

आपकी एक्सरसाइज को प्रभावी बनाने के लिए क्रॉस ट्रेनर मशीन का अभ्यास बहुत फायदेमंद होता है। इसका इस्तेमाल कर आप अपनी एक्सरसाइज की इंटेंसिटी यानी तीव्रता बदल सकते हैं। रोजाना इसके अलग-अलग वेरिएशन के अभ्यास से आपके शरीर की ताकत और फिटनेस में सुधार होता है। शुरुआत में आप लो इंटेंसिटी वाली क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास करें और फिर धीरे-धीरे इसे बढाएं।

इसे भी पढ़ें : घुटने की सर्जरी के बाद बेड पर लेट या बैठकर कर सकते हैं ये 5 एक्सरसाइज, मिलेंगे कई फायदे

5. लोवर बॉडी के लिए बहुत फायदेमंद (Targets Lower Body)

इलिप्टिकल वर्कआउट या क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास आपके लोअर बॉडी के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्रॉस ट्रेनर मशीन में लगी पेडल आपके पैरों की मांसपेशियों के लिए बहुत उपयोगी हैं। इसके अलावा इसके अलग-अलग वेरिएशन का अभ्यास आपके ग्लूटल मसल्स, हिप फ्लेक्सर्स, हैमस्ट्रिंग और क्वाड्रिसेप्स के लिए बहुत उपयोगी होते हैं। पेट, पैर, जांघों और हिप्स आदि पर काम करने के लिए क्रॉस ट्रेनर का अभ्यास फायदेमंद माना जाता है।

6. ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक (Reduces High Blood Pressure)

क्रॉस ट्रेनर मशीन द्वारा एक्सरसाइज का अभ्यास करने से आपके ब्लड प्रेशर को भी संतुलित करने में फायदा मिलता है। शरीर में तनाव कम करने के लिए क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास बहुत फायदेमंद होता है। इस एक्सरसाइज को इसलिए 'फील गुड' एक्सरसाइज भी कहा जाता है। हालांकि इसके अलग-अलग तीव्रता वाले वेरिएशन होते हैं इसलिए ब्लड प्रेशर के मरीजों को डॉक्टर से परामर्श के अनुसार ही इसका अभ्यास करना चाहिए।

कैसे करते हैं क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास? (How To Do Cross Trainer Exercise?)

 क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज के अलग-अलग वेरिएशन होते हैं। आप इस मशीन का इस्तेमाल अपने जरूरत के हिसाब की एक्सरसाइज के लिए कर सकते हैं। एक्सरसाइज की इंटेंसिटी भी आप अपने हिसाब से सेट कर सकते हैं। शुरुआत में क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें।

1. शुरुआत में थोड़े-थोड़े अंतराल के बाद फिर से इसका अभ्यास शुरू करें। सबसे पहले आप पेडलिंग से शुरुआत कर सकते हैं। इसके बाद आप इसकी गति को बढाते हुए वेरिएशन ट्राय करें।

2. ब्डोमिनल, पीठ के निचले हिस्से, वक्ष और रीढ़ के आसपास की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए आप कोर हैंडल का इस्तेमाल करें।

3. अपर बॉडी टोनिंग के लिए हैंडलबार पर पुश और पुल करें। 

4. मशीन के साथ अभ्यास शुरू करने से पहले मशीन को अपने अनुसार सही से एडजस्ट कर लें। 

5. इस दौरान आप अपनी पीठ को बिलकुल सीधा ही रखें।

6. हैंडल का सहारा लेते हुए पीठ को आगे की ओर न झुकाएं और एड़ियों को भी स्थिर रखें, इन्हें भी पैडल से न उठाएं।

इसे भी पढ़ें : पहली बार जा रहे हैं जिम तो शुरुआत में करें ये 5 एक्सरसाइज

Cross-Trainer-Machine-Exercise-Benefits

क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय इन बातों का ध्यान रखें (Tips To Remember While Doing Cross Trainer Exercise)

1. क्रॉस ट्रेनर का इस्तेमाल करते समय शरीर को ढीला और अधिक टाइट न करें।

2. शुरुआत में ट्रेनर या एक्सपर्ट की देखरेख में ही एक्सरसाइज का अभ्यास करें।

3. मशीन के हैंडल को सही ढंग से पकड़ें।

4. मशीन का इस्तेमाल करते समय फंसने वाले कपड़े न पहने।

इसे भी पढ़ें : सीढ़ियों पर रोज 15 मिनट एक्सरसाइज करके घटा सकते हैं वजन, जानें घर पर वर्कआउट का ये आसान तरीका

इस तरह इन बातों का ध्यान रखकर आप आसानी से क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज का अभ्यास कर सकते हैं। इस एक्सरसाइज का सही ढंग से अभ्यास करने से आपको आसानी से वजन कम करने में और शरीर को स्वस्थ और फिट रखने में सहायता मिलती है। शुरुआत में इसका अभ्यास एक्सपर्ट की देखरेख में ही किया जाना चाहिए।

(main image source - shutterstock.com)

(image source - freepik.com)

Disclaimer