सर्दियों में स्किन केयर से जुड़ी इन 4 भ्रामक बातों पर आप भी करते हैं यकीन? जानें इनकी सच्चाई

Common Winter Beauty Myths in Hindi: सर्दियों में स्किन केयर से जुड़े कई ऐसे मिथ हैं, जिन्हें अकसर लोग सच मान लेते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Dec 31, 2022 10:00 IST
सर्दियों में स्किन केयर से जुड़ी इन 4 भ्रामक बातों पर आप भी करते हैं यकीन? जानें इनकी सच्चाई

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Common Winter Beauty Myths in Hindi: हम सभी खूबसूरत बने रहना चाहते हैं। इसके लिए कई तरह के प्रोडक्ट्स, मेकअप और चीजों का सहारा लेते हैं। चेहरे की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए हर मौसम में अलग स्किन केयर की जरूरत पड़ती है। खासकर, सर्दी के मौसम में स्किन को प्रॉपर देखभाल की जरूरत पड़ती है। इसलिए सर्दियों के मौसम में लोग अपनी स्किन को हाइड्रेट बनाए रखने के लिए मॉइश्चराइजिंग क्रीम का यूज करते हैं। तेल से मसाज करते हैं और तरह-तरह के प्रोडक्ट्स का भी यूज करते हैं। लेकिन सर्दियों में अकसर लोगों के बीच ब्यूटी या स्किन केयर से जुड़े कई मिथकों का भी सामना करना पड़ता है। तो चलिए, आज इस लेख में इन्हीं मिथकों और इनकी सच्चाई के बारे में विस्तार से जानते हैं-

मिथक1 : मोटी क्रीम ज्यादा मॉइश्चराइजिंग होती हैं।

सच्चाई: सर्दियों में स्किन को अधिक मॉइश्चराइज करनी की जरूरत होती है। क्योंकि सर्द हवाओं की वजह से स्किन बार-बार ड्राई हो जाती है। ऐसे में अगर अच्छे मॉइश्चराइजर का यूज किया जाता है, तो स्किन लंबे समय तक मॉइश्चराइज रहती है। अकसर लोगों को लगता है कि मोटी क्रीम ज्यादा मॉइश्चराइजिंग होती है। लेकिन यह एक मिथक है। क्योंकि मॉइश्चराइजर का चुनाव कभी भी उसकी थिकनेस पर निर्भर नहीं करता है। मॉइश्चराइजर हमेशा अपनी स्किन के अनुसार चुनना चाहिए। अगर आपकी स्किन को अधिक हाइड्रेशन की जरूरत है, तो आप सीरम और लाइट मॉइश्चराइजर को मिक्स करके लगा सकते हैं। इससे आपकी स्किन हाइड्रेट रहेगी। लेकिन अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ड्राई है, तो आपको दिन में दो बार मॉइश्चराइजर अप्लाई करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- चेहरे का ग्लो बढ़ाने के लिए क्या करें? जानें 5 आसान घरेलू उपाय

skin care myth

मिथक 2: गर्म पानी से नहाने से त्वचा में नमी बनी रहती है।

सच्चाई: सर्दियों में अधिकतर लोग गर्म पानी से नहाते हैं। गर्म पानी से नहाने से ठंड कम लगती है। साथ ही कई लोगों के बीच यह मिथ भी फैला हुआ है कि गर्म पानी से नहाने से त्वचा में नमी बनी रहती है। जबकि सच्चाई यह है कि गर्म पानी से नहाने पर बॉडी डिहाइड्रेट नजर आ सकती है। दरअसल, गर्म पानी त्वचा से नैचुरल ऑयल को छीन लेता है। इससे त्वचा रूखी और बेजान हो जाती है। सर्दियों में त्वचा पर नमी को बनाए रखने के लिए आप गुगनुने पानी से नहा सकते हैं। त्वचा को मॉइश्चराइज बनाए रखने के लिए नहाने के बाद क्रीम या लोशन जरूर अप्लाई करें। 

मिथक 3: सर्दी में सनस्क्रीन लगाने की जरूरत नहीं होती है। 

सच्चाई: अकसर लोग गर्मियों में सूरज की हानिकारक किरणों से अपनी स्किन को बचाने के लिए सनस्क्रीन जरूर अप्लाई करते हैं। लेकिन सर्दियों में सनस्क्रीन लगाना जरूरी नहीं समझते हैं। क्योंकि अधिकतर लोगों का मानना है कि सर्दी के मौसम में सनस्क्रीन लगाना जरूरी नहीं होता है, जबकि यह एक बहुत बड़ा मिथ होता है। आपको बता दें कि गर्मियों की तरह ही सर्दियों में भी सनस्क्रीन अप्लाई करना बहुत जरूरी होता है। सर्दियों में भी आपको अपनी स्किन केयर रूटीन में सनस्क्रीन को जरूर शामिल करना चाहिए। इससे आपकी स्किन टैन होने से बचेगी, साथ ही झुर्रियां और फाइन लाइंस भी जल्दी नहीं पड़ेंगे।

इसे भी पढ़ें- इन 4 तरीकों से चेहरे पर लगाएं गाजर, निखर उठेगी स्किन

मिथक 4: सर्दियों में स्किन को एक्सफोलिएट करने से ड्राई पैच बढ़ जाते हैं।

सच्चाई: स्किन से डेड स्किन सेल्स को रिमूव करने के लिए स्किन को एक्सफोलिएट करना बहुत जरूरी होता है। दरअसल, सर्दियों में स्किन रूखी और बेजान हो जाती है। इसकी वजह से स्किन पर ड्राई पैच नजर आने लगते हैं। ऐसे में अकसर लोगों को लगता है कि जब स्किन को एक्सफोलिएट किया जाता है, तो इससे स्किन में ड्राई पैच बढ़ सकते हैं। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। सर्दियों में भी स्किन को एक्सफोलिएट किया जा सकता है। आप हफ्ते में एक बार अपनी स्किन को एक्सफोलिएट कर सकते हैं। इससे मृत कोशिकाएं निकल जाएंगी और त्वचा पर निखार आने लगेगा।

Disclaimer