Doctor Verified

क्या बिना दवाओं के डायबिटीज को ठीक कर सकती है? जानें डॉक्टर की राय

आपने भी विज्ञापनों में देखा होगा कि लोग बिना दवा पूरी तरह से डायबिटीज ठीक करने का दावा करते हैं। लेकिन क्या ऐसा संभव है?

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Oct 31, 2022 12:28 IST
क्या बिना दवाओं के डायबिटीज को ठीक कर सकती है? जानें डॉक्टर की राय

डायबिटीज लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों में प्रमुख है। शुगर या डायबिटीज के मरीज पूरी दुनिया में तेजी से बढ़ रहे हैं। न केवल बुजुर्ग बल्कि बच्चे भी अब इससे अछूते नहीं हैं। डायबिटीज शरीर में इंसुलिन के पूरी तरह से न बनने के कारण या शरीर द्वारा इस्तेमाल न कर पाने के कारण होती है। इसकी वजह से किडनी, स्ट्रोक या दिल संबंधी रोग भी हो सकते हैं। डायबिटीज के इलाज को लेकर लोगों में कई तरह के भ्रम प्रचलित हैं। कुछ लोग मानते हैं कि डायबिटीज को पूरी तरह कभी नहीं ठीक किया जा सकता, जबकि कुछ लोग मानते हैं कि दवाओं और परहेज से डायबिटीज को ठीक किया जा सकता है। आज के इस लेख में हम पारस हॉस्पिटल के इंटरनल मेडिसिन विभाग के डॉक्टर पी वेंकट कृष्णन से जानेंगे कि क्या डायबिटीज को बिना दवा के ठीक किया जा सकता है?

डॉ. वेंकट के अनुसार डायबिटीज को काफी अलग-अलग फैक्टर्स प्रभावित करते हैं। यह आपके लाइफस्टाइल, उम्र, ब्लड शुगर लेवल और उम्र आदि से भी प्रभावित हो सकती है। बहुत से लोग अलग-अलग विज्ञापन या फिर पोस्टर्स देखते हैं जिसमें डायबिटीज को कुछ ही दिनों में ठीक करने का दावा किया जाता है। लेकिन क्या वाकई ये सच है, यह जानना सबके लिए जरूरी है।

diabetes treatment in hindi

डायबिटीज समय के साथ बढ़ती जाती है

डायबिटीज समय के साथ-साथ बढ़ती जाती है। इसे कंट्रोल करने में काफी समस्या आ सकती है। आप यह उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि यह अपने आप ही बिना दवाई खाए ठीक हो सकती है। डॉक्टरों के मुताबिक एक बार जब आपको डायबिटीज हो जाती है, तो चाहे वह बेशक ही पहली स्टेज में क्यों न हो, अगर आप अपनी डाइट और लाइफस्टाइल के बारे में ध्यान नहीं देते हैं तो वह ठीक नहीं होगी बल्कि आगे बढ़ती ही जायेगी।

इसे भी पढ़ें- डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय

लाइफस्टाइल बदलाव काफी महत्वपूर्ण है

हम सब को पता है कि हमारा आज का लाइफस्टाइल कितना खराब है। खराब लाइफस्टाइल हमारे पूरे स्वास्थ्य को प्रभावित करता है और यह बीमारियों के लिए एक बुलावा है। हम फिर भी इसे बदलने की कोशिश नहीं करते। हालांकि सही लाइफस्टाइल बदलाव के कारण आप इस बीमारी के लक्षणों को कम कर सकते हैं। अगर पेरेंट्स को डायबिटीज जैसी बीमारी नहीं है तो काफी कम संभावना होती है डायबिटीज के शिकार होने की।

बिना लाइफस्टाइल में बदलाव डायबिटीज नहीं हो सकती ठीक

अगर आप एक ओवरवेट व्यक्ति हैं और आप डायबिटीज की पहली स्टेज में हैं, तो आप इस चीज से लाभ पा सकते हैं और सच में ही आपकी डायबिटीज ठीक हो सकती है। डायबिटीज के मरीजों में लाइफस्टाइल के अलग-अलग पैटर्न देखने को मिलते हैं। जो लोग कैलोरीज से भरपूर डाइट का सेवन करते हैं, हाई रिफाइंड कार्ब्स का सेवन करते हैं उनके ही ब्लड शुगर लेवल में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ती है। इससे व्यक्ति के पेट के आस-पास चर्बी जमने लगती है। इससे इंसुलिन लेवल बढ़ते हैं और वजन भी बढ़ने लगता है।

इसे भी पढ़ें- डायबिटीज हो गई है तो फॉलो करें ये डेली रूटीन, कंट्रोल रहेगा ब्लड शुगर लेवल

डायबिटीज मरीजों में वजन बढ़ने के क्या कारण होते हैं? 

जब शरीर इंसुलिन प्रतिरोधी बन जाता है, तो उसी समय ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है। तब इस स्थिति में पैंक्रियाज पर ज्यादा प्रेशर पड़ने लगता है। इस स्थिति में उसमें इंसुलिन उत्पन्न करने का ज्यादा दबाव बन जाता है। इससे व्यक्ति को काफी आलस महसूस होता है और भूख भी ज्यादा लगने लगती है। इससे व्यक्ति ओवर ईटिंग करने लगता है और आलस की वजह से वजन भी बढ़ने लगता है। साथ ही पैंक्रियाज की बीटा सेल्स डेमेज होने लगती हैं। जिस कारण उसका शरीर इंसुलिन उत्पन्न नहीं कर पाता। इससे ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ने लगता है और यह डायबिटीज का सबसे मुख्य लक्षण होता है।

दवाइयां खाने से डायबिटीज को कंट्रोल करने में काफी मदद मिलती है, इसलिए इस उम्मीद में दवाई खानी बंद नहीं कर देनी चाहिए कि डायबिटीज अपने आप ही ठीक हो जायेगी और अपना इलाज तब तक जारी रखना चाहिए, जब तक डॉक्टर इसे रोकने की हिदायत न दें।

Disclaimer