अमिताभ बच्चन ने इलाहाबादी स्टाइल में बताया कोरोना वायरस को रोकने का तरीका, देखें वीडियो और जानें बचाव के तरीके

अमिताभ बच्चन का कोरोना वायरस से बचने का ये देसी इलाहाबादी स्टाइल आपको जरूर पसंद आएगा। जानें Amitabh Bachchan ने कोरोना वायरस के लिए क्या टिप्स दीं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 13, 2020
अमिताभ बच्चन ने इलाहाबादी स्टाइल में बताया कोरोना वायरस को रोकने का तरीका, देखें वीडियो और जानें बचाव के तरीके

बॉलीवुड सुपर स्टार अमिताभ बच्चन ने लोगों में बढ़ते कोरोना वायरस के डर से निपटने का अपना खास अंदाज पेश किया है। अमिताभ बच्चन ने ट्विवर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वो ठेठ इलाहाबादी अंदाज में, यानी अवधी भाषा में एक कविता सुना रहे हैं और लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरूक कर रहे हैं। अमिताभ का ये देसी अंदाज आपको जरूर पसंद आएगा। अमिताभ ने इस कविता में कोरोना वायरस को ठेंगा दिखाने का बेहद आसान लेकिन दिलचस्प तरीका बताया है।

अमिताभ ने स्वयं लिखी है कोरोना वायरस पर ये खास कविता

अमिताभ बच्चन ने ये कोरोना वायरस को लेकर ये कविता स्वयं लिखी है। उन्होंने वीडियो की शुरुआत अपने केबीसी वाले अंदाज में की और कहा, "देवियों, सज्जनों नमस्कार... हम हैं अमिताभ बच्चन। और इधर कई दिनों से ये कोरोना वायरस को लेकर बहुत चर्चा हो रही है, बहुत नुकसान हो रहा है। सब लोग घबराए हुए हैं, चिंता में हैं। आज सुबह-सुबह हमें लगा कि हमें भी बोल देना चाहिए इस पर। तो ऐसे ही बैठे-बैठे चार पंक्तियां लिख दी हैं।" अमिताभ ने कविता सुनाई-

बहुतेरे इलाज बतावैं, जन जनमानस सब।
केकर सुनैं केकर नाहीं, कौन बाताई ई सब।
क्येऊ कहेस कलौंजी पीसौ, केऊ आंवला रस।
केऊ कहेस घर मां बइठो हिलो न टस से मस।
ईर कहिन औ बीर कहिन कि अइसा कुछ भी करौ ना।
बिन साबुन के हाथ धोइ के, केऊ के भैया छुअव ना।
हम कहा चलौ हमहू कर देत हैं जैसन बोलैं सब।
आवै देव कोरोना फिरौना ठेंगवा देखाउब तब।'

 
 
 
View this post on Instagram

“बहुतेरे इलाज बतावें ,जन जनमानस सब , केकर सुनैं, केकर नाहीं, कौन बताए इ सब ; केयु कहिस कलौंजी पीसौ, केयु आँवला रस केयु कहस घर म बैठो, हिलो न ठस से मस ईर कहेन औ बीर कहेन, की ऐसा कुछ भी Carona , बिन साबुन से हाथ धोई के ,केहू के भैया छुओ न ; हम कहा चलो हमौ कर देत हैं , जैसन बोलैं सब आवय देयो , Carona-फिरोना , ठेंगुआ दिखाऊब तब !" ~ अब

A post shared by Amitabh Bachchan (@amitabhbachchan) onMar 12, 2020 at 11:07am PDT


अमिताभ की ये कविता अवधी भाषा में है। अगर आपको इसके कुछ शब्द समझ नहीं आए हैं, तो हम आपको इसे आसान भाषा में बताते हैं। वास्तव में कोरोना से बचने का यही तरीका है, जो अमिताभ बच्चन इस कविता में बता रहे हैं। अमिताभ कहते हैं-

"बहुत सारे लोग, जनता-जनार्दन इलाज बता रहे हैं। ऐसे में कौन बताएगा कि किसकी सुनी जाए और किसकी नहीं सुनी जाए। कोई कह रहा है कलौंजी पीस लो... कोई कह रहा है आंवला का रस पिओ। कोई कह रहा है घर में बैठो और बाहर नहीं निकलो। लेकिन बुद्धिमान और बहादुर लोगों का कहना है कि ये सब करने की जरूरत नहीं है। आप सिर्फ साबुन से हाथ धोएं और लोगों को छूने से बचें। हमने कहा कि चलो हम भी यही करेंगे, जब सब कह रहे हैं। अब कोरोना-फोरोना को आने तो उसे ठेंगा दिखाएंगे।"

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना वायरस से हुई पहली मौत, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 78, दिल्ली के स्कूल, कॉलेज सिनेमा हॉल बंद

कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं, बचाव के लिए ये रहे टिप्स

अमिताभ ने जो बात कही वही दुनियाभर के विशेषज्ञ कह रहे हैं कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है। अगर सावधानी बरती जाए, तो आप वायरस की चपेट में आने से बच सकते हैं। कोविड-19 एक तरह का वायरस है, जिसे शरीर में प्रवेश करने से रोकना जरूरी है। सके लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना है।

  • अगर आपको लगता है कि आपने किसी ऐसी जगह को छुआ है, जिसे कई लोग छूते रहते हैं (पब्लिक प्लेस), तो आपको तुरंत साबुन और पानी से अपना हाथ धोना है।
  • साबुन और पानी पास में न होने की स्थिति में आप एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर से अपने हाथों को साफ कर सकते हैं।
  • अपने मुंह, नाक और आंखों को बिना हाथों को साफ किए न छुएं।
  • खांसते या छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल या टिश्यू पेपर रखें।
  • अगर आपके आसपास कोई छींक या खांस रहा है या किसी को बुखार है, तो उससे कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें।
  • भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।
  • अगर आप बीमार हैं, तो लोगों से मिलना बंद करें और डॉक्टर को दिखाएं। जब तक पूरी तरह ठीक न हो जाएं, घर से बाहर न निकलें।
Watch Video: COVID-19: कोरोनावायरस से बचने के 5 आसान उपाय

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer