थायराइड है तो पिएं ये 3 तरह के जूस, बीमारी कंट्रोल करने के साथ मिलेंगे कई फायदे

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए आप कई तरह के जूस का सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं कुछ प्रभावी जूस के बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 25, 2022Updated at: Feb 25, 2022
थायराइड है तो पिएं ये 3 तरह के जूस, बीमारी कंट्रोल करने के साथ मिलेंगे कई फायदे

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए सही लाइफस्टाइल को अपनाने की आवश्यकता होती है। खासतौर पर इस दौरान अपने खानपान पर आपको विशेष ध्यान देने की जरूरत है। सुबह के ब्रेकफास्ट से लेकर रात के डिनर तक हर एक चीज पर अच्छी तरह से ध्यान देकर थायराइड की परेशानी को कंट्रोल किया जा सकता है। यह एक ऐसी समस्या है, जिसमें दवाई से ज्यादा डाइट हमारे लिए प्रभावी होती है। कई ऐसे डाइट हैं, जिसकी मदद से आप थायराइड कंट्रोल कर सकते हैं। फल, अनाज और साग-सब्जियों के अलावा कुछ ऐसे जूस भी हैं, जिसका सेवन करके आप थायराइड की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं। आज हम आपको इस लेख में थायराइड रोगियों के लिए जूस की रेसिपी और इसके फायदों ( Juices for Thyroid ) के बारे में बताएंगे। 

थायराइड रोगियों के लिए जूस ( Juice for thyroid patients in Hindi)

1. जलकुंभी का जूस (Watercress Green Juice )

आवश्यक सामाग्री 

  • जलकुंभी के पत्ते और तने - 2 कप 
  • लाल या हरे सेब - 2 
  • नींबू का रस - 1 चम्मच

जूस बनाने की विधि

  • सबसे पहले सभी चीजों को अच्छे  से धो लें। 
  • अब इन सामग्री को जूसर ग्राइंडर में डालकर जूस निकाल लें। 
  • इसके बाद इसे एक गिलास में डालकर अच्छे से गार्निश करके सर्व करें। 
  • आप चाहें, तो इसमें बर्फ के 1 से 2 पीस डाल सकते हैं। 
  • इस जूस का सेवन करने से थायराइड कंट्रोल हो सकता है।

जलकुंभी के फायदे (Watercress Green Juice Benefits)

यह जूस आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मददगार होता है। इसके सेवन से थायराइड कंट्रोल किया जा सकता है। साथ ही जलकुंभी का जूस वजन को घटाने में भी आपकी मदद कर सकता है। लेकिन ध्यान रखें कि इसका सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करें। दिन में 1 गिलास जूस आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। इससे अधिक जूस का सेवन न करें।

2. गाजर और चुकंदर का जूस (Carrot and Beet Juice)

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए गाजर और चुकंदर का जूस भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं इसकी रेसिपी - 

आवश्यक सामग्री

  • गाजर - 1
  • चुकंदर - 1
  • अनानास - 1 
  • सेब - 1
  • सेलरी की डंठल - 2

गाजर और चुकंदर जूस बनाने का तरीका (Carrot and Beet Juice Recipe)

  • सबसे पहले सभी सामग्री को अच्छी तरह से धोकर साफ कर लें। 
  • इसके बाद इसे छीलकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। 
  • अब जूसर ग्राइंडर में डालकर इससे जूस निकाल लें। 
  • लीजिए आपका जूस तैयार है। 
  • अब इस जूस को गिलास में सर्व करें।
  • रोजाना एक गिलास जूस पीने से थायराइड कंट्रोल हो सकता है।

गाजर चुकंदर जूस के फायदे (Carrot and Beet Juice Benefits)

इस जूस का सेवन करने से थायराइड कंट्रोल होने के साथ-साथ शरीर में आयरन की मात्रा भी बढ़ती है। साथ ही यह थायराइड में होने वाली शारीरिक कमजोरी को दूर करने में भी प्रभावी हो सकता है।

3. लौकी का जूस (Gourd juice)

आवश्यक सामग्री

  • लौकी - 1 मध्यम आकार का
  • पुदीना पत्ता - 10 पत्तियां
  • काला नमक - आधा चम्मच

विधि

  • जूस तैयार करने के लिए लौकी को छिलकर अच्छी तरह से धो लें। 
  • अब इसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • इसके बाद जूसर ग्राइंडर में डालकर इसका जूस निकाल लें। 
  • इसके बाद पुदीने की पत्तियों का रस निकालकर इसमें मिक्स कर लें। 
  • अगर आप इसका स्वाद बदलना चाहते हैं, तो इसमें काला नमक मिला लें। हालांकि, यह ऑप्शनल है।

लौकी के जूस के फायदे ( Gourd Juice benefits )

लौकी का जूस पीने से थायराइड कंट्रोल होने के साथ-साथ वजन भी कंट्रोल हो सकता है। साथ ही यह आपकी शारीरिक कमजोरी को दूर करने में प्रभावी होता है। अगर आप इंस्टेंट एनर्जी और वजन कम करना चाहते हैं, तो सुबह खाली पेट इस जूस का सेवन करें। इससे थायराइड कंट्रोल होने के साथ-साथ वजन भी कम हो सकेगा।

इसे भी पढ़ें - क्या थायराइड रोग का बॉडी के कोलेस्ट्रॉल लेवल पर पड़ता है असर? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

थायराइड कंट्रोल करने के लिए आप इन जूसों का सेवन कर सकते हैं। इन जूस के सेवन से थायराइड कंट्रोल होने के साथ-साथ वजन भी कम होगा। साथ ही यह शरीर की अन्य समस्याएं दूर करने में प्रभावी हो सकती हैं। 

हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपको पहले से ही किसी भी तरह की परेशानी है, तो डॉक्टर की सलाह पर ही इन जूस का सेवन करें।

 
Disclaimer