फ्रोजेन शोल्डर से राहत दिला सकते हैं ये 4 आयुर्वेदिक तेल, जानें इस्तेमाल का तरीका

Ayurvedic Oil for Frozen Shoulder: फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में आयुर्वेद तेल से मसाज करना उपयोगी होता है, जानें इसके लिए फायदेमंद आयुर्वेदिक तेल।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 12, 2022 16:26 IST
फ्रोजेन शोल्डर से राहत दिला सकते हैं ये 4 आयुर्वेदिक तेल, जानें इस्तेमाल का तरीका

Ayurvedic Oil for Frozen Shoulder: फ्रोजेन शोल्डर की समस्या या कंधे में जकड़न की समस्या कई कारणों से हो सकती है। ऐसे लोग जो बहुत ज्यादा देर तक बैठकर काम करते हैं, उन्हें इस समस्या का खतरा ज्यादा रहता है। फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में आपके कंधे से लेकर गर्दन के नीचे वाले हिस्से में गंभीर दर्द होता है। फ्रोजेन शोल्डर की वजह से दर्द की शुरुआत पहले कंधे से होती है लेकिन धीरे-धीरे यह समस्या आपके कंधे के साथ गर्दन और इसके आसपास के हिस्से में भी होने लगती है। फ्रोजेन शोल्डर की समस्या को अंग्रेजी में या मेडिकल की भाषा में एडहेसिव कैप्सूलाइटिस भी कहते हैं। फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में कुछ आयुर्वेदिक तेल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। आयुर्वेदिक तेल से मसाज करने से आपको फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में फायदा मिलता है। आइए विस्तार से जानते हैं फ्रोजेन शोल्डर के लिए आयुर्वेदिक तेल के बारे में।

फ्रोजेन शोल्डर की समस्या के लिए आयुर्वेदिक तेल- Ayurvedic Oil for Frozen Shoulder in Hindi

फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में आयुर्वेदिक इलाज बहुत कारगर और प्रभावी माना जाता है। इस समस्या में कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों और औषधियों से बने तेल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। कुछ दिनों तक इन आयुर्वेदिक तेल से मसाज करना आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है।

Ayurvedic Oil for Frozen Shoulder

इसे भी पढ़ें: फ्रोजन शोल्डर (कंधे में अकड़न) की समस्या क्यों होती है? जानें कारण और छुटकारा पाने के 5 उपाय

फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में आप इन 4 आयुर्वेदिक तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं-

1. अश्वगंधा ऑयल

अश्वगंधा आयुर्वेदिक ऑयल का इस्तेमाल फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद गुण और तत्व शरीर की मांसपेशियों को आराम देने और ऐंठन व दर्द को कम करने के लिए भी अश्वगंधा तेल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। अश्वगंधा तेल में मौजूद गुण जोड़ों और मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं में बहुत फायदेमंद होते हैं। नियमित रूप से इस तेल से कंधे और आसपास की जगहों पर मसाज करने से आपको फायदा मिलता है।

2. लौंग का तेल

लौंग के तेल में मौजूद गुण शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। लौंग के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द निवारक गुण होते हैं। इस तेल से मसाज करने से आपके कंधों में दर्द और अकड़न की समस्या में फायदा मिलता है। लौंग के तेल से मसाज करने से आपको सूजन की समस्या में भी बहुत फायदा मिलता है। फ्रोजेन शोल्डर की समस्या होने पर कुछ दिनों तक कंधे की लौंग के तेल से मसाज करना फायदेमंद होता है।

3. नीम और तिल का तेल 

नीम और तिल के तेल का इस्तेमाल फ्रोजेन शोल्डर की समस्या में बहुत फायदेमंद माना जाता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए नीम और तिल के तेल को बराबर मात्रा में लेकर मिक्स कर लें। अब तेल से कंधे और गर्दन के आसपास अच्छी तरह से मसाज करें। नियमित रूप से कुछ दिनों तक मसाज करने से आपको बहुत फायदा मिलता है।

4. तिल का तेल

तिल के तेल का इस्तेमाल वैसे तो भोजन बनाने और धार्मिक कार्यों में किया जाता है। लेकिन इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण इसका इस्तेमाल कई बीमारियों और समस्याओं में भी किया जा सकता है। आयुर्वेद में इसे औषधि के रूप में पुराने समय से ही इस्तेमाल किया जा रहा है। तिल के तेल में कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं, जो फ्रोजेन शोल्डर की समस्या को दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज रोगियों में कंधे की अकड़न (फ्रोजन शोल्डर) की समस्या क्यों होती है? जानें इसका इलाज

इन 4 आयुर्वेदिक तेल का इस्तेमाल फ्रोजेन शोल्डर की समस्या को दूर करने में बहुत फायदेमंद होता है। आप नियमित रूप से इन 4 तरह के तेल से कंधे और गर्दन की मसाज कर इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। फ्रोजेन शोल्डर की समस्या अगर बार-बार हो रही हो  तो डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer