स्लिम फिगर पाना है तो करें Rope Climbing Exercise, जानें करने का तरीका और फायदे

अगर आप भी स्लिम फिगर पाना चाहते हैं तो रोप क्लाइंबिंग एक्सरसाइज करें। यहां जानें इसके फायदे और करने का तरीका। 

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jun 03, 2021
स्लिम फिगर पाना है तो करें Rope Climbing Exercise, जानें करने का तरीका और फायदे

वर्कआउट करने से बॉडी को एक बेहतर शेप मिलती है। शारीरिक विकास, बेहतर नींद और स्ट्रेस को कम करने के लिए नियमित तौर पर एक्सरसाइज करना बेहद जरूरी है। एक्सरसाइज कई प्रकार की होती है। रोप क्लाइंबिंग के जरिए आप अपनी बॉडी को स्लिम बना सकते हैं। जी हां, रोप क्लाइंबिंग रस्सी की मदद से की जाने वाली एक बेहतरीन एक्सरसाइज है। क्या आप इसके बारे में जानते हैं? अगर नहीं, तो इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि रोप क्लाइंबिंग एक्सरसाइज कैसे आपकी फिटनेस में अहम भूमिका निभाती है। अपनी शारीरिक उर्जा को बढ़ाने के लिए न सिर्फ आम आदमी बल्कि बॉलीवुड के एक्टर विदुत जामवल और सिद्धार्थ मल्होत्रा समेत कई बड़े पैमाने के खिलाड़ी भी इस एक्सरसाइज को करने में दिलचस्पी रखते हैं। अब तो अमूमन जिम और अखाड़ों में भी रोप क्लाइंब का चलन काफी प्रचलित हो गया है। चलिए जानते हैं रोप क्लाइंबिंग से होने वाले फायदे और करने के सही तरीके के बारे में। 

climbing

क्या है रोप क्लाइंबिंग (What Is Rope Climbing)

रोप क्लाइंबिंग एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें रस्सी की मदद से आपको उपर उपर की ओर चढ़ना होता है। आसान भाषा में समझें तो इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको रस्सी चढ़नी होती है। इसे फंक्शनल ट्रेनिंग एक्सरसाइज के नाम से भी जाना जाता है। इसे नियमित तौर पर करने से आपके हाथों की ग्रिप बेहद मजबूत होती है। यही नहीं बॉडी को स्लिम और टोंड बनाने के साथ ही यह अधिक कैलरी भी बर्न करती है। हालांकि रोप क्लाइंबिंग अन्य एक्सरसाइज की तुलना में थोड़ी सावधानी की जानी चाहिए क्योंकि अगर रोप पर आपकी ग्रिप अच्छी नहीं बनी है तो इससे आप नीचे भी गिर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - World Bicycle Day 2021: रोज 30 मिनट साइकिल चलाने से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे

रोप क्लाइंबिंग के फायदे (Benefits of Rope Climbing) 

slimfigure

1. स्लिम फिगर बनाने में मददगार (Helps to Make Slim Figure)

अगर आप स्लिम फिगर पाना चाहते हैं तो रोप क्लाइंबिंग एक्सरसाज जरूर करें। यह एक्सरसाइज वैसे तो पूरी बॉडी को स्लिम बनाती है, लेकिन शरीर के उपरी हिस्से को टोंड और स्लिम बनाने के लिए इसका अभ्यास बिलकुल पर्फेक्ट माना जाता है। अन्य कुछ एक्सरसाइज की तुलना में आप रोप क्लाइंब की मदद से ज्यादा कैलोरी बर्न कर सकते हैं, जिससे वजन घटने में भी आसानी होती है। इसमें आपके शरीर के उपरी हिस्से पर अधिक बल पड़ता है, जो शरीर को स्लिम देने में मदद करता है। 

2. स्ट्रेंथ बढ़ाने में मददगार (Helps to Improves Strength)

अगर आप पूरी बॉडी की स्ट्रेंथ बढ़ाना चाहते हैं तो रोप क्लाइंबिंग आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। स्विमिंग की तरह ही रोप क्लाइंबिंग करने से आपकी पूरी बॉडी मूव होती है। इसे करने से आप अपनी कोर स्ट्रेंथ को बेहतर कर सकते हैं। फंक्शनल ट्रेनिंग एक्सरसाइज कही जाने वाली रोप क्लाइंबिंग आपके बॉडी के प्रत्येक हिस्से को मजबूत करती है। फिर चाहे वो पेलविक मसल्स या फिर रीढ़ की हड्डी ही क्यों न हो। फीजिकल स्ट्रेंथ के साथ ही साथ यह आपके मेंटल हेल्थ की भी स्ट्रेंथ बढ़ाती है। 

rope

3. ग्रिप स्ट्रेंथ बढ़ाए रोप क्लाइंबिंग (Rope Climbing Increases Grip Strength)

रोप क्लाइंबिंग एक फुल बॉडी वर्कआउट है। इसे करने के दौरान आपका सारा भार हाथों पर रहता है। रस्सी मोटी और खुरदुरी होने से हाथों की ग्रिप बेहद मजबूत होती है। माना जाता है कि हाथों की पकड़ को बेहतर बनाने में रोप क्लाइंबिंग, वेट लिफ्टिंग और ग्रिप एक्सरसाइज से भी अधिक प्रभावी होती है। इसे करने के दौरान आपको अपनी पूरी शरीर उपर की ओर खींचनी होती है, इसका नियमित अभ्यास कर आपके हाथों की पकड़ मजबूत होती चली जाती है। अगर आप हेवी वेट लिफ्टिंग या बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लेने जा रहे हैं तो कुछ दिनों पहले से रोप क्लाइंबिंग में जुट जाएं। इससे आपको बेहतर परिणाम मिलेंगे। 

4. आत्मबल बढ़ाने में मददगार (Helps in Improving Confidence)

अगर आपमें आत्मबल यानि कॉन्फिडेंस की कमी है, तो यह एक्सरसाइज आपका कॉन्फिडेंस बढ़ा सकती है। रोप क्लाइंबिंग करने के लिए आपको उंचाई पर जाना होता है। अगर आप कुछ दिनों तक इसका नियमित अभ्यास करते रहें तो इससे आपमें मुश्किल काम करने के लिए भी कॉन्फिडेंस बढ़ता है। ऐसे में आप चुनौतीपूर्ण काम करने से भी नहीं घबराते हैं। 

triceps

5. बाइसेप्स बनाने में मददगार (Helps to Grow Biceps)

बाइसेप्स बनाने के लिए रोप क्लाइंबिंग को बेहद सटीक और कारगर माना जाता है। क्योंकि इसे करने के लिए आपके बाइसेप्स, कलाई और फोरआर्म्स पर ज्यादा दबाव या बल पड़ता है। इस दौरान आपकी मांसपेशियों पर बल पड़ने से उसमें टूटफूट होती है। जिसमें मांसपेशियों के टिशु टूटते हैं। जो आपके बाइसेप्स का आकार बढ़ाने में मदद करते हैं। इसलिए बाइसेप्स बढ़ाने के लिए रोप क्लाइंबिंग जरूर करें। इससे आपके बाइसेप्स के साथ ही फोरआर्म्स में भी मजबूती आती है। 

इसे भी पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल घटाने में कैसे मददगार है एक्सरसाइज? जानें इसके लिए कौन सी एक्सरसाइज कर सकते हैं आप

6. बैक को करे मजबूत (Strengthens Back)

बैक की स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए भी इस एक्सरसाइज को काफी फायदेमंद माना जाता है। यह आपके बैक की मसल्स में भी स्ट्रेंथ लाती है। साथ ही रीढ़ की हड़डी और बॉडी पोस्चर को भी ठीक रखने में मदद करती है। जब आप रोप क्लाइंबिंग करते हैं तो आपके बैक की मसल्स में भी तनाव आता है, इसके निरंतर अभ्यास से बैक की शेप बदलने लगती है। जिम में बैक एक्सरसाइज करने की जगह आप इसे भी कर सकते हैं। 

ropeclimb

कैसे करें रोप क्लाइंबिंग (How to do Rope Climbing)

  • रोप क्लाइंबिंग करने के लिए सबसे अच्छा होगा कि आप नीचे से ही बैलेंस बनाकर उपर की ओर जाएं। इससे आपको जल्दी थकान नहीं होगी और आखिरी तक आपका संतुलन बना रहेगा। 
  • इसके लिए सबसे पहले जमीन पर बैठें और अपने दोनों पैरों के बीच में रस्सी को रखें। अब धीरे-धीरे उस रस्सी को पकड़ते हुए खड़े हों। 
  • अब रस्सी को पकड़कर अपने शरीर को धीरे-धीरे उपर की ओर ले जाएं। ध्यान रहे कि उपर की ओर चढ़ते हुए अपने दोनों पैरों को सीधा न रखें। 
  • इस दौरान अगर आप अपने घुटने मोड़कर उपर की ओर जाएंगे तो आसानी से दूरी तय कर पाएंगे। 
  • जब आप उंचाई पर पहुंचकर नीचे की ओर आने लगें तो आपको अधिक सावधान रहने की जरूरत होती है। क्योंकि इस दौरान अगर आपका संतुलन बिगड़ता है तो इससे आपको चोट भी लग सकती है। 
  • नीचे की ओर आते हुए आपको यह ध्यान रखना है कि आपके घुटने मुड़े न हों। ऐसे में आपके लिए समस्या बन सकती है। 

रोप क्लाइंबिंग के जरिए आप इस लेख में दिए गए फायदे पा सकते हैं। अगर आप किसी इंजरी या फिर गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं तो इसे करने से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें। 

Read more Articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer