शरीर पर तेल की मालिश कब करनी चाहिए, नहाने से पहले या नहाने के बाद?

अक्‍सर लोग इस बात को लेकर परेशान रहते हैं कि शरीर पर तेल की मालिश कब करना स्‍वास्‍थ्‍य के नजरिए से सही है। आइए विस्‍तार से जानते हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 16, 2020Updated at: Feb 17, 2020
शरीर पर तेल की मालिश कब करनी चाहिए, नहाने से पहले या नहाने के बाद?

Oil Massage Benefits: शरीर पर तेल की मालिश करने की परंपरा पुराने समय से है। इससे आप अनेक बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं। शरीर पर तेल मालिश करने से आप हमेशा स्‍वस्‍थ रहते हैं। इससे शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं साथ ही हड्डियों को भी पोषक तत्‍व मिलता है। तेल की मालिश से त्‍वचा की चमक बढ़ती है। मृत कोशिकाओं बाहर निकलती हैं और नई कोशिकाओं का निर्माण होता है। तेल मालिश करने वालों का ब्‍लड सर्कुलेशन भी ठीक रहता है। तेल की मालिश करने से त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते हैं, और इससे गंदगी भी साफ हो जाती है। 

ऐसे ही तेल की मालिश करने के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं। मगर, अक्‍सर लोग इन सवालों को लेकर भ्रमित रहते हैं कि तेल की मालिश कब करनी चाहिए? कुछ लोग नहाने से पहले तेल की मालिश करते हैं, जबकि कुछ लोग बाद में करते हैं। मगर सही क्‍या है? आइए जानते हैं।

oil

शरीर पर तेल की मालिश कब करें? 

आयुर्वेद के अनुसार,शरीर पर तेल की मालिश हमेशा नहाने से पहले करनी चाहिए। यदि आप नहाने से पहले तेल की मालिश करतें हैं तो नहाने और मालिश करने के बीच में थोड़ा गैप देना जरूरी होता है। (सोने से पहले पैरों की मालिश इन 5 रोगों को दूर करने में है फायदेमंद)

क्योंकि शरीर पर तेल की मालिश से बॉडी में गर्माहट आ जाती है और यदि आप तुरंत स्‍नान करते हैं तो इसका हमारे शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। नहाने से पहले शरीर पर तेल की मालिश करने की कई वजहें हैं, जिसे यहां हम आपको बता रहे हैं:

  • यदि आप आप नहाने से पहले तेल की मालिश करने के बजाए बाद में तेल लगाते हैं, तो इसमें शरीर पर तेल लगे होने की वजह से धूल और मिट्टी के कण चिप जाते हैं, जिससे आपे रोम छिद्र ढक जाते हैं, जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से ठीक नहीं है। 
  • नहाने के बाद तेल मालिश करने से चेहरे और शरीर पर तेल लगा होने के कारण सामने वाले पर आपका इंप्रेशन खराब हो सकता है। शरीर से स्‍मैल आने का खतरा रहता है। इससे आपकी छवि खराब होती है।
  • नहाने के बाद तेल लगाने से कपड़े खराब होने का डर रहता है, मैल चिपक जाती है। इससे आपके शरीर पर रैशेज और खुजली होने का खतरा रहता है। 
  • सप्‍ताह में 2 से 3 दिन तेल की मालिश करना फायदेमंद हो सकता है। आप दिन निर्धारित कर तेल की मालिश कर सकते हैं। तेल मालिश करने के बाद स्‍वच्‍छ जल से स्‍नान करना जरूरी होता है।

कौन सा तेल मालिश करना सही है?

जिस प्रकार से अपने आहार का चुनाव व्‍यक्ति को भौगोलिक अनुकूलता के तहत करना चाहिए, उसी प्रकार से तेल का भी चुनाव करना चाहिए। मसलन, यदि आपके आसपास सरसों की पैदावार अधिक है तो सरसों का तेल ही मालिश करें। सरसों के तेल की मालिश अच्‍छी मानी जाती है। इसके अलावा, जैतून, नारियल आदि तेलों की मालिश भी किया जा सकता है।

Read More Articles On Mind Body In Hindi

Disclaimer