बढ़ते प्रदूषण से छुटकारा दिलाएगा ह्यूमिडिफायर, जानें इसके फायदे और नुकसान

अगर आप भी बढ़ते प्रदूषण से परेशान हैं तो जानें ह्यूमिडिफायर के फायदे, फ्लू का खतरा भी करेगा कम। 

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Jan 09, 2020Updated at: Jan 09, 2020
बढ़ते प्रदूषण से छुटकारा दिलाएगा ह्यूमिडिफायर, जानें इसके फायदे और नुकसान

बढ़ते प्रदूषण को लेकर आजकल हर कोई परेशान है। बाहर की हवा में धूल, मिट्टी और हानिकारक कण होने के कारण ये हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदायक होता है। लोग अक्सर इस प्रदूषण जैसी बीमारी से बचने के लिए या तो मास्क का इस्तेमाल करते हैं या फिर जब प्रदूषण का लेवल ज्यादा हो जाता है तो कुछ लोग बच्चों को घर से भी नहीं निकलने देते। 

प्रदूषण की ऐसी स्थिति के लिए ही मार्केट में इससे बचने के तरीके भी आने लगे हैं। उन्हीं में से एक है ह्यूमिडिफायर जो काफी हद तक हवा को बेहतर बनाने का काम करता है। ह्यूमिडिफायर इस हवा को सांस लेने लायक बनाता है। इसके साथ ही इससे कमरे की ह्यूमिडिटी भी सही रहती है। यह घर की हवा को स्वच्छ रखता है, जो आपके घर की हवा को ठीक करने का काम करता है।

humidifiers

ह्यूमिडिफायर कैसे फायदेमंद है? 

अगर आपको सर्दी, खांसी या जुकाम है तो, इस स्थिति में बाहर की हवा में रहना काफी नुकसानदायक होता है। बाहर की हवा में मौजूद कण आपके शरीर में जाते हैं जिसकी वजह से आपकी सर्दी, खांसी जल्दी ठीक नहीं हो पाती है। लेकिन अगर आप इसकी जगह ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करते हैं तो आप सर्दी, खांसी और जुकाम जैसी चीजों से जल्दी राहत पा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: खुशखबरी! ये रहा प्रदूषण से बचने का सबसे सस्ता और घरेलू उपाय

जिस मौसम में नमी कम रहती है उस मौसम में अक्सर वायरल बढ़ जाता है। इसकी वजह से घर के बाहर ही नहीं बल्कि अंदर भी इसका संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है। ह्यूमिडिफायर उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है जिन लोगों की त्वचा रूखी रहती है, प्रदूषण के कारण जिनको आंखों में जलन की समस्या रहती है। कमरे में ह्यूमिडिफायर होने से आपका नेजल पैसेज साफ रहता है। जिससे सांस लेने में किसी भी तरह की रुकावट नहीं आती। ये आपके आसपास की हवा को बेहतर बनाने का काम करता है। जो आपके स्कैल्प और बालों में नमी बनाए रहता है। 

humidifiers

ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल कब ना करें

जब हवा में नमी बनी रहे तो आपको ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हवा में ज्यादा नमी आपके शरीर और आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है। इससे बैक्टीरिया भी पैदा होते हैं। जिससे बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। इसके साथ ही अगर आपको कोई एलर्जी है या फिर आप अस्थमा, कैंसर और एचआईवी के मरीज हैं तो इसके लिए आप डॉक्टर से संपर्क करें उसके बाद ही ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करें। 

humidifiers

इसे भी पढ़ें: वायरल इंफेक्‍शन से ग्रसित बच्‍चे की देखभाल कैसे करें, जानें ये 5 नुस्‍खे

इस्तेमाल करने का सही तरीका 

  • आप ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करने से पहले कमरे में ह्यूमिडिटी लेवल जरूर देख लें। आप कोशिश करें कि आप जहां ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करने रहे हैं वहां का ह्यूमिडिटी लेवल 30 से 50 प्रतिशत के बीच होना चाहिए। 
  • ह्यूमिडिफायर मशीन में रोजाना आपको पानी बदलना चाहिए। जमे हुए पानी में हमेशा बैक्टीरिया पैदा होते हैं जो हमारे लिए नुकसानदायक है। इसके लिए आप मशीन से सारा पानी निकाल कर पहले उसे साफ करे और उसके बाद ही फिर से मशीन में साफ पानी डालें। 
  • समय-समय पर मशीन को साफ करें जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो। आप 3 से 5 दिन के बीच में मशीन को जरूर साफ करें। अगर आपको लगात है कि मशीन के फिल्टर में खराबी आ रही है तो आप उसे भी बदलवा सकते हैं। 
  • अगर आपके घर में बच्चा है तो आप कोशिश करें कि ह्यूमिडिफायर मशीन को बच्चे से दूर ही रखें। इससे आपके बच्चे को करंट भी लग सकता है। 

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer