पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग की समस्या दूर कर सकते हैं केले का फूल, जानें खाने का तरीका

पीरियड्स में कुछ महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग की परेशानी होती है। आइए जानते हैं केले के फूलों से हैवी ब्लीडिंग की परेशानी कम करने के उपाय

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Mar 25, 2022Updated at: Mar 25, 2022
पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग की समस्या दूर कर सकते हैं केले का फूल, जानें खाने का तरीका

हर माह महिलाओं को पीरियड्स (heavy bleeding in period) का सामना करना पड़ता है। पीरियड्स में कुछ महिलाओं को कई तरह की परेशानियां होती हैं। वहीं, कुछ महिलाओं को ज्यादा परेशानी का अनुभव नहीं होता है। हालांकि, इस दौरान कुछ ऐसे सामान्य लक्षण हैं, जो कई महिलाओं में नजर आता है। जैसे- पेट में दर्द होना, मूड में बदलाव, हैवी ब्लीडिंग इत्यादि। पेट में दर्द और मूड स्विंग होना सामान्य है, लेकिन अगर हैवी ब्लीडिंग हो रही है, तो यह आपके शरीर को कमजोर बना देती है। ऐसे में पीरियड्स के दौरान हैवी ब्लीडिंग की परेशानी होने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क की आवश्यकता होती है। वहीं, आप कुछ घरेलू उपायों की मदद से भी हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को कम कर सकते हैं। ताकि आपको अधिक शारीरिक कमजोरी का सामना न करना  (heavy bleeding in period in Hindi) पड़े। 

हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को कम करने के लिए आप केले के फूल का इस्तेमाल (Banana flower benefits in Hindi) कर सकते हैं। केले के फूल में छिपा आयुर्वेदिक गुण हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को रोकने में असरदार हो सकता है। साथ ही यह शरीर की अन्य परेशानी को भी दूर कर सकता है। आइए जानते हैं केले के इस्तेमाल (how to stop heavy bleeding during periods home remedies ) से हैवी ब्लीडिंग की परेशानी कैसे करें कम?

हैवी ब्लीडिंग के लिए केले का फूल कैसे है फायदेमंद? (banana flower for heavy bleeding)

हैवी ब्लीडिंग के लिए केले के फूल काफी फायदेमंद होता है। केले का फूल आपको गुच्छों में मिलता है। इसका रंग बैंगनी होता है। भारत सही दुनियाभर के कई क्षेत्रो में केले के फूल का सेवन किया जाता है। साथ ही इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक औषधी के रूप में भी होता है।

इसे भी पढ़ें - क्या केले को फ्रिज में लंबे समय तक रखा जा सकता है? जानें बचे हुए केलों को स्टोर करने का सही तरीका

केले के फूल का सेवन करने से महिलाओं के शरीर में प्रोस्टेटोन बढ़ता है, जिससे हैवी ब्लीडिंग की परेशानी कम हो सकती है। साथ ही इससे महिलाओं में होने वाली शारीरिक कमजोरी को भी कम किया जा सकता है। इतना ही नहीं, केले के फूलों का सेवन करने से पीरियड्स के दौरान होने वाली दर्द और ऐंठन की परेशानी भी दूर हो सकती है। आइए जानते हैं हैवी ब्लीडिंग को रोकने के लिए केले करें केले के फूल का सेवन?

हैवी ब्लीडिंग के लिए कैसे करें केले के फूल का इस्तेमाल? (how to use banana flower for heavy bleeding)

  • हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को कम करने के लिए सबसे पहले 2 या तीन केले के फूल लें। अब इसे मसलें। 
  • इसके बाद एक पैन में इसे डालकर 1 गिलास पानी और थोड़ा सा नमक डालकर कुछ देर के लिए उबालें। 
  • अब इस पानी को ठंडा होने दें। जब पानी ठंडा हो जाए, तो इसमें कच्चा नारियल घिसकर या पीसकर डाल लें। 
  • अब इस मिश्रण में आधा टीस्पून काली मिर्च पाउडर और 1 चुटकी जीरा मिक्स कर लीजिए।
  • इसके बाद इस पानी को दोबारा गर्म होने के लिए गैस पर रखिए। कुछ मिनटों तक पानी को पकाएं। 
  • इसके बाद इसमें थोड़ा सा दही और काला नमक मिक्स कर लीजिए। 
  • लीजिए आपकी आयुर्वेदिक दवा तैयार है। 
  • आयुर्वेद में हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को दूर करने के लिए यह बहुत ही लाभकारी माना जाता है। 

केले के फूलों से सेहत को कई फायदे हो सकते हैं। यह न सिर्फ हैवी ब्लीडिंग की परेशानी को रोकता है, बल्कि शरीर की कई अन्य परेशानी जैसे- आयरन की कमी, मोटापा, पेट दर्द इत्यादि को रोकने में भी असरदार है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपकी परेशानी इस नुस्खे से दूर नहीं हो रही है, तो इस स्थिति में डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ताकि गंभीर स्थितियों से बचा जा सके। 

Disclaimer