Dust Allergy: धूल से एलर्जी की है समस्या? इन 5 आयुर्वेदिक उपायों से मिलेगी राहत

Ayurvedic Treatment for Dust Allergy: कई लोगों को धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण एलर्जी हो जाती है। जानें इससे राहत पाने के आयुर्वेदिक उपाय-

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Dec 24, 2022 15:30 IST
Dust Allergy: धूल से एलर्जी की है समस्या? इन 5 आयुर्वेदिक उपायों से मिलेगी राहत

क्या घर की सफाई करने के दौरान या घर से बाहर धूल-मिट्टी में निकलते ही आपको छींकें आने लगती हैं और सांस लेने में तकलीफ होती है? अगर हां, तो इसका मतलब आपको डस्ट यानी धूल से एलर्जी है। जिन लोगों को डस्ट एलर्जी होती है उन्हें धूल-मिट्टी और प्रदूषण से काफी परेशानी होती है। डस्ट एलर्जी होने पर व्यक्ति को धूल मिट्टी के संपर्क में आते ही अत्यधिक छींक, नाक में भारीपन, सांस लेने में तकलीफ और नाक बहना जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। सर्दियों के मौसम में नमी, और धूल-मिट्टी व प्रदूषण के कारण यह समस्या अधिक बढ़  सकती है। ऐसे में इस मौसम में आपको अपनी एक्‍सट्रा केयर करने की जरूरत होती। कुछ आयुर्वेदिक उपायों को अपनाकर आप डस्ट एलर्जी से आराम पा सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे आयुर्वेदिक उपाय बताने जा रहे हैं, जो धूल-मिट्टी से होने वाली एलर्जी में राहत पहुंचाएंगे (Ayurvedic remedies to get relief from dust allergy In Hindi) -

देसी घी 

आयुर्वेद में देसी घी के अनेक फायदे बताए गए हैं। डस्ट एलर्जी से छुटकारा दिलाने में देसी घी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपको एलर्जी के कारण बहुत ज्यादा छीकें आ रही हैं, तो देसी घी का इस्तेमाल करें। नाक में एक बूंद देसी घी की डालकर उंगली से हल्की मालिश करें। इसके अलावा, आप गुड़ और देसी घी को मिला कर इसका सेवन कर सकते हैं। इससे एलर्जी दूर करने में काफी मदद मिल सकती है। 

शहद 

शहद कई तरह की एलर्जी से छुटकारा दिलाने में असरदार है। डस्ट एलर्जी से राहत पाने के लिए शहद बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। शहद में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबॉयल गुण पाए जाते हैं, जो एलर्जी के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही, सर्दी-खांसी में भी शहद का इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है। अगर आप डस्ट एलर्जी से परेशान हैं तो एक कप पानी में एक चम्मच शहद डालकर घोलें और फिर इसका सेवन करें। इसका नियमित सेवन करने से आपको काफी फायदा मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: सर्दी-खांसी होने पर पिएं ये 5 काढ़ा, जल्द मिलेगा आराम

तुलसी और पुदीना

आयुर्वेद में तुलसी और पुदीना का काफी महत्व बताया गया है। तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं। शरीर के लिए काफी फयदेमंद होती है। वहीं, पुदीना में मेंथॉल होता है, जो सांस से जुड़ी तकलीफों को दूर करता है। डस्ट एलर्जी को ठीक करने के लिए आप तुलसी और पुदीना का सेवन करें। आप चाहें तो एक कॉटन के रूमाल में पुदीने और तुलसी की पत्तियों को बांधकर सूंघ सकते हैं। इससे आपको एलर्जी और बंद नाक से जल्द राहत मिलेगी। 

Dust-Allergy

एलोवेरा 

डस्ट एलर्जी से राहत पाने के लिए आप एलोवेरा जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं। एलोवेरा में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो एलर्जी को दूर करने का काम करते हैं। डस्ट एलर्जी से बचाव के लिए आप एलोवेरा जूस और एलोवेरा जेल का उपयोग कर सकते हैं। एलोवेरा जूस बनाने के लिए मिक्सी में एक कप ताजा एलोवेरा जेल और एक नींबू का रस डालकर पीस लें। इसे छान लें और फिर इसके जूस को पी जाएं। इस जूस के सेवन से डस्ट एलर्जी से जल्द आराम मिलेगा। 

हल्दी

आयुर्वेद के अनुसार, हल्दी कई तरह की एलर्जी से राहत दिलाती है। हल्दी में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं, जिससे शरीर को कई लाभ मिलते हैं। हल्दी में एंटी एंटीबैक्‍टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी पाए जाते हैं, जो एलर्जी को दूर करने में मदद करते हैं। डस्ट एलर्जी से राहत पाने के लिए गर्म दूध में चुटकीभर हल्दी पाउडर डालकर पिएं। इसके नियमित सेवन से आपकी इम्यूनिटी मजबूत होगी और एलर्जी से छुटकारा मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: बार-बार आती है छींक, तो इन 5 आयुर्वेदिक उपायों से दूर करें नाक की एलर्जी

Ayurvedic Treatment for Dust Allergy: इन आयुर्वेदिक उपायों की मदद से आप धूल (डस्ट) एलर्जी से राहत पा सकते है। हालांकि, अगर आपके लक्षण बिगड़ रहे हों या सांस लेने में ज्यादा तकलीफ हो, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

Disclaimer