इस खीर से होगा केवल "1 सप्ताह" में वजन कम, आज ही करें ट्राय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 13, 2017
Quick Bites

  • पाचनशक्ति बढ़ाने के लिए फायदेमंद है अपामार्ग
  • रोजाना सुबह इसकी खीर बनाकर खाएं।
  • इस खीर से होता है वजन कम। 

मोटापा कई सारी बीमारियों की जड़ है। तो अगर आप इस जड़ को खत्म करने का प्रयास बहुत दिन से कर रहे हैं और वजन कम करने के लिए सारे उपाय अपनाकर थक चुके हैं तो आज ही अपामार्ग औषधि आजमायें। ये औषधि वजन कम करने के लिए रामबाण उपाय है।

 

क्या है अपमार्ग औषधि

अपामार्ग एक औषधीय वनस्पति है। इसका वैज्ञानिक नाम 'अचिरांथिस अस्पेरा' (ACHYRANTHES ASPERA) है। हिन्दी में इसे 'चिरचिटा', 'लटजीरा', 'चिरचिरा ' आदि नामों से जाना जाता है। इसे सर्दी का पौधा भी कहते हैं क्योंकि ये पौधा सर्दी या सम तापमान वाली जगहों में खुली जगहों पर पाया जाता है।अधिकतर लोग इसके गुणों से अनजान होते हैं।

 

इसे भी पढ़ें- हेल्दी तरीके से वजन कम करना है तो अपनाएं ये 5 सीक्रेट्स

 

पोषक-तत्वों से भरपूर पौधा

इस पौधे में प्रचूर मात्रा में पोटैशियम, सोड़ा, आयरन, गंधक और साल्‍ट होता है। अपामार्ग का स्वाद तीखा और कडुवा होता है और इसकी तासीर थोड़ी गर्म होती है।

 

इसके फायदे

  • यह पाचन शक्ति को बढ़ता है।
  • यह कई रोगों के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • पथरी, बुखार, गर्भावस्‍था के दौरान होने वाला दर्द, विष के प्रभाव को कम करने वाला, रक्‍तशोधक औषधि है।
  • सांस रोग जैसे दमा होने पर इस पौधे का सेवन करना चाहिए।
  • अपामार्ग आसानी से सभी जगह उपलब्‍ध है।

 

 

वजन कम करे

  • वजन कम करने के लिए सबसे पहले इसके बीजों की खीर बना लें।
  • फिर इस खीर को ब्रेकफास्ट में खाएं।
  • इससे देर तर भूख नहीं लगती और ये मेटाबॉलिज्म को तेज कर खाना ज्लदी और आसानी से पचाता है।
  • अगर आप खाना नहीं खाएं हैं और इसकी खीर खाएं हैं तो भी आपको शरीर में कमजोरी महसूस नहीं होगी। क्योंकि ये शरीर की सारी जरूरी पोषक-तत्वों की जरूरतों को पूरा कर देता है।
  • इसलिए ज्यादातर लोग वजन कम करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल करते हैं।
  • इस खीर को एक सप्ताह तक लगातार खाएं। इससे एक सप्ताह में ही वजन कम हो जाएगा।

 

इसे भी पढ़ें- तरबूज खाएंगे तो 7 दिन में कम हो जाएगा वजन!

 

अन्य फायदे

  • अपामार्ग चूर्ण, काली मिर्च  को मधु के साथ मिलाकर चाटने से सांस की बीमारियों में फायदा होता है। 
  • अपामार्ग, गूलर पत्र, काली मिर्च को पीसकर चावल के मांड़ के साथ खाने से से श्वेत प्रदर धीरे-धीरे समाप्‍त हो जाता है। 
  • बड़ की दाड़ी, खजूर पत्र एवं अपामार्ग के क्वाथ से कुल्‍ला करने पर सभी प्रकार की दांत की समस्‍यायें समाप्‍त हो जाती हैं। 
  • अपामार्ग को पीस कर स्तनों पर लेप करने से दूध अधिक उतरता है।

 

 

Read More Articles on Ayurveda in Hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES2468 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK