बुढ़ापे में ज्‍यादा समय बैठे रहने वाली महिलाओं में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा: शोध

महिलाओं में मेनोपॉज कई परेशानियां लाता है, ऐसे में गतिहीन जीवन शैली वाली मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में दिल की बीमारियों की बहुत अधिक संभावना होती है।

Written by: Sheetal Bisht Updated at: 2020-02-24 10:19

वर्तमान समय में एक गतिहीन जीवन शैली कई बीमारियों का कारण बन रही है। ऐसे में एक स्वस्थ शरीर के साथ लंबा जीवन जीने के लिए एक व्यक्ति को चलते-फिरते रहने और सक्रिय रहने की आवश्यकता है। जितना अधिक समय आप सोते या बैठे-बैठे बिताते हैं, उतना ही आपके स्वास्थ्य पर जोखिम होता है। हाल में ही शोधकर्ताओं ने पाया है कि मेनोपॉज के बाद महिलाएं, जो अपना ज्यादातर समय बैठी रहती हैं, उन्हें हृदय रोगों का अधिक खतरा होता है। इतना ही नहीं, मोटापे या अधिक वजन वाली महिलाओं में समस्याएं और बदतर हो सकती हैं।

यह अध्ययन अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन की पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका के फीनिक्स, अमेरिका के एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ हेल्थ सॉल्यूशंस में न्यूट्रीशन के प्रमुख शोधकर्ता प्रोफेसर, डोरोथी सियर्स के अनुसार, "बैठने का समय कम करने से ग्लूकोज नियंत्रण और रक्त प्रवाह में सुधार होता है और शारीरिक गतिविधियों में संलग्न होता है। इसके अलावा, खाना पकाने और खरीदारी जैसी गतिविधियाँ, मृत्यु दर में कमी और हृदय रोग और स्ट्रोक की रोकथाम के साथ संबंध को दिखाती हैं।”

इसे भी पढें: होम क्‍लीनिंग प्रॉडक्‍ट्स बढ़ा सकते हैं बच्‍चों में एलर्जी और अस्‍थमा का खतरा, अध्‍ययन में हुआ खुलासा

शोधकर्ताओं की टीम ने 518 मोटे या अधिक वजन वाली महिलाओं पर यह शोध किया, जिनकी उम्र 63 वर्ष और उससे अधिक है। शोधकर्ताओं ने सभी प्रतिभागियों की शारीरिक गतिविधि और बैठने की आदतों को एक एक्सेलेरोमीटर के माध्यम से दर्ज किया, जो महिलाओं ने 2 सप्ताह तक अपने दाहिने कूल्हे पर पहना था। इसके बाद उन्होंने ब्‍लड शुगर और इंसुलिन प्रतिरोध की जांच के लिए ब्‍लड टेस्‍ट भी कराया। जिसमें पाया गया कि बैठने के प्रत्येक घंटे के साथ, इंसुलिन प्रतिरोध में 7 प्रतिशत वृद्धि और फास्टिंग इंसुलिन के स्तर में 6 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। औसत बैठे समय में 15 मिनट की वृद्धि के साथ 9 प्रतिशत से अधिक इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि और फास्टिंग इंसुलिन में 7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

इसे भी पढें: हरे-भरे माहौल में रहना कर सकता है मेनोपॉज में देरी, शोधकर्ताओं ने बताया कारण

शोधकर्ताओं का मानना है, "हम समय की मात्रा और बैठे इंसुलिन प्रतिरोध के बीच इस तरह के एक मजबूत नकारात्मक लिंक का निरीक्षण करने के लिए आश्चर्यचकित थे, और व्यायाम और मोटापे के लिए जिम्मेदार होने के बाद भी यह जुड़ाव मजबूत था।"

यह अध्ययन बताता है कि मेनोपॉज के बाद महिलाओं में स्वास्थ्य जोखिम बढ़ जाते हैं, जिसे एक सक्रिय जीवन शैली के साथ रोका जा सकता है। इस प्रकार, महिलाओं को एक फिट और सक्रिय जीवन शैली को बनाए रखना चाहिए।

Read More Article On Health News In Hindi 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Related News