हरे-भरे माहौल में रहना कर सकता है मेनोपॉज में देरी, शोधकर्ताओं ने बताया कारण

स्वच्छ और हरे वातावरण में रहने का आपके स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव पड़ता है। यह बीमारियों को रोकने के अलावा, मेनोपॉज में देरी करने में भी मदद करता है। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Feb 17, 2020Updated at: Feb 17, 2020
हरे-भरे माहौल में रहना कर सकता है मेनोपॉज में देरी, शोधकर्ताओं ने बताया कारण

दिन प्रतिदिन हवा की गुण्‍वत्‍ता में गिरावट आ रही है, ऐसे में हरी- भरी जगहों के आसपास रहना एक आशीर्वाद है। यह आपके फेफड़ों को शुद्ध ऑक्सीजन देने और शरीर को असंख्य स्वास्थ्य खतरों से बचाने में मददगार होता है। हरियाली के आसपास रहने से कई बीमारियों की रोकथाम, वजन कंट्रोल करने, मानसिक स्वास्थ्य आदि सहित असंख्य लाभों से जुड़ा हुआ है और अब यह पाया गया है कि हरियाली महिलाओं में मेनोपॉज या रजोनिवृत्ति में भी देरी कर सकती है। जो महिलाएं हरे- भरे वातावरण में रहती हैं, उन्हें देर से रजोनिवृत्ति होने की संभावना होती है।

घर के पास हरियाली कर सकती है मेनोपॉज में देरी

महिलाओं में उम्र बढ़ने को मेनोपॉज द्वारा परिभाषित किया गया है और इसकी देरी का मतलब स्वस्थ शरीर है। एनवायरनमेंट इंटरनेशनल ’पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो महिलाएं हरियाली या हरी-भरी जगहों के पास रहती हैं, उन्हें अन्य महिलाओं की तुलना में वह थोड़ी देर से मेनोपॉज से गुजरती हैं। यह हरे पर्यावरण और मेनोपॉज की शुरुआत के बीच एक स्पष्ट लिंक को दर्शाता है। जिन महिलाओं के पास हरा-भरा पड़ोस होता है उनकी उम्र के संकेतों की गति धीमी होती है जिसके परिणामस्वरूप मेनोपॉज में देरी होती है।

इसे भी पढें: शिशुओं के मानसिक विकास और समझदारी को बढ़ाने में मददगार होता है मां के दूध में मौजूद ये तत्व

Living Near Greenery Can Late Menopause

2000 महिलाओं के साथ किया गया अध्‍ययन

शोधकर्ताओं की टीम ने यूरोपीयन कम्‍युनिटी रेस्पिरेटरी हेल्‍थ सर्वे (ईसीआरएचएस) के माध्यम से एकत्र किए गए आंकड़ों का विश्लेषण किया, जहां सर्वेक्षण में 9 यूरोपीय देशों की लगभग 2000 महिलाओं ने भाग लिया। उनके घर के आसपास हरियाली सहित उनके स्वास्थ्य और जीवन शैली कारकों की जांच करने के लिए एक प्रश्नावली भरने के लिए कहा गया था। जिसमें आंकड़ों के आधार पर, टीम ने हरियाली और महिलाओं के स्वास्थ्य के बीच के संबंध का विस्तार किया।

इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हेल्थ, बार्सिलोना, स्पेन के एक वरिष्ठ शोधकर्ता काई ट्राइबनेर ने कहा, "हम जानते हैं कि तनाव खून में कोर्टिसोल के स्तर को बढ़ाता है, और कई अध्ययनों से पता चला है कि ग्रीन स्पेस के संपर्क में रहने से इसमें कमी आती है।"  

 Menopause in Women

उन्होंने कहा, "कम कोर्टिसोल का स्तर एस्ट्राडियोल के बढ़े हुए स्तरों के साथ जुड़ा हुआ है, जो एक महत्वपूर्ण महिला सेक्स हार्मोन। शायद हरी-भरी जगहों के पास रहने वाली महिलाओं में कोर्टिसोल का स्तर कम होता है, जो उन्हें एस्ट्रैडियोल के उच्च स्तर को बनाए रखने की अनुमति देता है और बदले में मेनोपॉज में देरी कर सकता है।"

इसे भी पढें:  फैटी लिवर को हेल्दी लिवर में बदल सकते हैं ग्रीन टी और एक्सरसाइज बस जान लें ये तरीकाः शोध

शोधकर्ताओं का मानना है कि स्वच्छ और हरे भरे वातावरण में रहने वाली महिलाएं, कम या हरियाली के परिवेश में न रहने वाली महिलाओं की तुलना में लगभग 1.5 से 2 साल बाद मेनोपॉज में प्रवेश करती हैं। 

ट्राइबनेर ने कहा, "ग्रीन स्पेस का एक्सपोजर भी कुछ मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों के कम जोखिम के साथ जुड़ा हुआ है, जैसे कि डिप्रेशन, जो मेनोपॉज में कम उम्र के साथ भी जुड़ा हुआ है।"

Read More Article On Health News In Hindi 

Disclaimer