शादी में जल्दबाजी के हो सकते हैं कुछ नुकसान, जानें देरी से शादी करने के 5 फायदे और सही उम्र

शादी के लिए जल्दबाजी करने से बेहतर है, शादी में लेट हो जाना। क्योंकि गलत पार्टनर से आपकी लाइफ खराब हो सकती है। जानते हैं देरी से शादी करने के फायदे 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 19, 2021Updated at: Jul 19, 2021
शादी में जल्दबाजी के हो सकते हैं कुछ नुकसान, जानें देरी से शादी करने के 5 फायदे और सही उम्र

भारतीय समाज में एक उम्र के बाद शादी का प्रेशर हर किसी को झेलना पड़ता है, चाहे वो लड़की हो या लड़का। सिर्फ घरवाले ही नहीं, दोस्त रिश्तेदार भी शादी को लेकर प्रेशर डालना शुरू कर देते हैं। अगर आप परिवार के दबाव में शादी नहीं करते हैं, तो घर में विद्रोह जैसा माहौल बनने लगता है। हालांकि, शादी कब करनी है, ये फैसला आपका होना चाहिए। शादी देर से करना गलत नहीं होता है, बल्कि गलत इंसान से शादी करना हमारे लिए गलत हो सकता है। लेकिन हमारे समाज में माता-पिता और रिश्तेदार शादी का दबाव एक उम्र के बाद लगातार डालने लगते हैं। इतना ही नहीं, कुछ लोग तो शादी देरी से करने के नुकसान भी गिनवाने लगते हैं। लोगों की इन बातों से हम परेशान होकर झुनझला उठते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है, तो घबराएं नहीं। आज हम आपको शादी देरी से करने के कुछ फायदे बताने जा रहे हैं, जिससे आप उन लोगों के मुंह को बंद कर सकते हैं। चलिए जानते हैं देर से शादी करने के होने वाले फायदे?

शादी लेट का क्या है मलतब?

कुछ लोगों के घर में लड़की की उम्र 18 साल और लड़के की उम्र 21 साल होते ही शादी पर प्रेशर डालना शुरू हो जाता है। खासतौर पर गांव के कई इलाकों में 20-21 साल के बाद लोगों को लगने लगता है कि अब लड़के और लड़की की शादी की उम्र हो चुकी है। ऐसे में अगर वे शादी नहीं करते हैं, तो लोग तरह-तरह की बाते करने लगते हैं। घरवालों से ज्यादा आस पड़ौस के लोगों को चिंता होने लगती है कि आखिर उनकी शादी क्यों नहीं हो रही है। वहीं, शहरी क्षेत्र की बात की जाए, तो यहां 25 से 30 की उम्र के बाद शादी करने को लेट मानते हैं। 25 की उम्र आते-आते घर में विद्रोह का माहौल होने लगता है। ऐसी स्थिति में कुछ लोग प्रेशर में आकर जल्दबाजी में शादी कर बैठते हैं और गलत बंधन में बंध जाते हैं। इसलिए हमें शादी ऐसी उम्र में करनी चाहिए, जब हम खुद के साथ-साथ अपने परिवार की जिम्मेदारियों को बखूबी ढंग से निभा सकें। साथ ही जब आपको कोई बेहतर पार्टनर मिले, तब ही शादी का फैसला लें।

देरी से शादी करने के फायदे (Benefits of Late Marriage)

1. लाइफ को खुलकर जीने का मिलता है मौका

देरी से शादी करने का अपना अलग ही फायदा होता है। इससे आपके खुद को समझने और खुलकर जीने का मौका मिलता है। आप अपने आप को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं। शादी करने के बाद इंसान खुद से दूर चला जाता है। ऐसे में अगर आप शादी देरी से करते हैं, तो अपनी इच्छाओं की पूर्ति पहले से कर लेते हैं। वहीं, कम उम्र में शादी करने से आप जीवन को खुलकर नहीं जी पाते हैं, क्योंकि उनकी लाइफ परिवार की जिम्मेदारियों के बीच दब जाता है। 

इसे भी पढ़ें - तनाव में हो पार्टनर तो इन 8 तरीकों से पार्टनर को करें सपोर्ट, मजबूत होगा आपका रिश्ता

2. आर्थिक चिंता हो सकता है कम

अधिकतर देरी से शादी करने वाले लोग आर्थिक रूप से मजबूत होते हैं। ऐसे में उनके परिवार को आर्थिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। वहीं, जो लोग कम उम्र में ही शादी करते हैं वे खुद को आर्थिक रूप से मजबूत नहीं कर पाते हैं। क्योंकि करियर की शुरुआत में ही उन्हें परिवारिक बंधक में बांध दिया जाता है, जिसके कारण उन्हें कई तरह की आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसके कारण वे काफी ज्यादा चिड़चिड़े भी हो जाते हैं। इसलिए जब तक आप आर्थिक रूप से मजबूत न हो, तब तक शादी करने का फैसला न लें। इससे आपके साथ आपके आगे होने वाले परिवार में खुशियां रहेंगी। 

3. रिश्तों में रहती है ईमानदारी

सही लाइफ पार्टनर की तलाश के कारण कई लोग देरी से शादी करते हैं। धैर्य और काफी प्रयास के साथ अगर आपने अपने पार्टनर का चुनाव किया है, तो हो सकता है आपको एक बेहतर पार्टनर मिले। इस बात से आप काफी से वाकिफ होंगे कि मेहनत से मिलने वाली चीजों का काफी कद्र होती है, यही बात शादी-ब्याह के मामलों में भी लागू होता है। देरी से शादी करने वाले लोगों में रिश्ते के प्रति ईमानदारी और मजबूती बनी रहती है। वहीं, जिन्हें बिना मेहनत किए साथी मिल जाता है, वे अपने रिश्ते की कद्र कम करते हैं। ऐसे लोगों में एक-दूसरे पर शक, जलन या फिर गुस्से की भावना पैदा हो सकती है।

4. बखूबी ढंग से निभाते हैं अपनी जिम्मेदारी

जो लोग देर से शादी करते हैं, उनमें कम उम्र या फिर जल्दबाजी में शादी करने वाले लोगों की तुलना में अपनी जिम्मेदारी समझने की क्षमता ज्यादा होती है। ऐसे कपल्स अपनी जिम्मेदारियों और प्राथमिकता को बखूबी ढंग से समझते हैं। इससे उनके बीच रिश्ता मजबूत और बेहतर होता है। इतना ही नहीं, जो लोग देर से शादी करते हैं, वे खुद को इमोशनली स्टेबल करने में सक्षम होते हैं। ऐसे कपल के बीच तनाव काफी कम होता है।

इसे भी पढ़ें - क्या आपका पार्टनर है मूडी? इन 7 तरीकों से बैठाएं पार्टनर के साथ मेल

5. सेक्सुल लाइफ हो सकता है बेहतर

अगर आप लोगों के प्रेशर में आकर जल्दबाजी में शादी करते हैं, तो इससे आपको ही नुकसान होता है। ऐसी कई शादियां आपने देखी होंगी, जिन्होंने जल्दबाजी के चक्कर में गलत इंसान से शादी कर ली। जिसके कारण उनकी इच्छा शक्ति काफी कम हो जाती है। वहीं, अगर आप धैर्य के साथ पार्टनर का चुनाव करते हैं, तो एक बेहतर पार्टनर का चुनाव करेंगे। अपनी इच्छा से तलाश पार्टनर के साथ आप अच्छे से इंजॉय कर सकते हैं। इससे आपकी सेक्स लाइफ भी बेहतर होती है। जिसके कारण शादीशुदा जिंदगी में संतुलन बना रहता है। 

देर से शादी करने से आपको कई फायदे हो सकते हैँ। इसलिए कभी भी परिवार के दबाव में आकर शादी के लिए जल्दबाजी न करें। अगर कोई शादी के लिए दबाव डाल रहा है, तो उन्हें समझाएं कि आप अभी शादी क्यों नहीं करना चाहते हैं और कब शादी करेंगे। परिवार में शादी के लिए विद्रोह करने से अच्छा है उन्हें अपनी इच्छाओं के बारे में बताएं।

Image Credit - Pixabay

Read More Articles on Marriage in Hindi

Disclaimer