एसिडिटी के कारण हो रही है पेट और सीने में जलन? तो तुरंत इन घरेलू तरीकों का करें इस्तेमाल

अनियमित खानपान और भागदौड़ भरी जिंदगी के चलते लोगों को कई तरह की समस्याएं झेलनी पड़ती है।

Vishal Singh
घरेलू नुस्‍खWritten by: Vishal SinghPublished at: Apr 20, 2017Updated at: May 27, 2020
एसिडिटी के कारण हो रही है पेट और सीने में जलन? तो तुरंत इन घरेलू तरीकों का करें इस्तेमाल

पेट या सीने में जलन महसूस होना एक आम समस्या है, जो आपके पेट में होने वाली एसिडिटी के कारण होती है। अनियमित खानपान के कारण ये समस्या ज्यादा दफ्तर जाने वाले लोगों को होती है। ज्यादातर लोग समझ जाते हैं कि ये पेट में जलन एसिडिटी के कारण ही हो रही है, लेकिन इससे छुटकारा पाने के लिए उनके पास कुछ होता नहीं है जिसकी वजह से उन्हें काफी देर तक इसका सामना करना पड़ता है। वैसे तो कई ऐसे घरेलू नुस्खे हैं जिनसे आप आसानी से इससे छुटकारा पा सकते हैं, लेकिन आपको ये जानना भी जरूरी है कि आपके पेट या सीने में एसिडिटी होने का कारण क्या है। आइए इस लेख के जरिए आपको बताते हैं कि क्यों आपके पेट या सीने में जलन महसूस होती है।  

acidity

पेट या सीने में जलन के कारण (Causes Of Stomach Or Chest Irritation In Hindi)

  • एसिड रिफ्लक्स तब होता है जब पेट की कुछ एसिड सामग्री घुटकी में बहती है, गुलाल में, जो भोजन को मुंह से नीचे ले जाती है।ता है।
  • पेट के अस्तर को विशेष रूप से शक्तिशाली एसिड से बचाने के लिए अनुकूलित किया जाता है, लेकिन अन्नप्रणाली की रक्षा नहीं की जाती है।

अन्य कारण

  • बहुत ज्यादा शराब का सेवन करना। 
  • बार-बार धूम्रपान करना।
  • पेट के ट्यूमर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स बीमारी और पेप्टिक अल्सर। 
  • मांसाहारी और मसालेदार भोजन का सेवन करना।
  • अत्यधिक तनाव।

पेट में गैस के लक्षण (Symptoms Of Acidity)

  • सीने में तेज जलन के साथ दर्द होना।
  • पेट में दर्द और जलन।
  • एसिड गले या मुंह में वापस आता है।
  • पेट फूलना।
  • बार-बार डकार आना।
  • निगलने में कठिनाई।
  • लगातार हिचकी आना।
  • उल्टी। 
  • पेट भरा हुआ महसूस करना।

घेरलू उपाय (Home Remedies Of Acidity)

तुलसी की पत्तियां

तुलसी के पत्तों में ऐसे गुण होते हैं जो आपको तुरंत राहत दे सकते है। गैस के पहले संकेत पर, कुछ तुलसी के पत्ते खाएं या 3-4 तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में उबालें और इसे कुछ मिनटों के बाद पिएं। यह एसिडिटी के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचारों में से एक है।

सौंफ 

आप भोजन के बाद सौंफ को चबा सकते हैं, पेट की अम्लता को रोकने के लिए ये फायदेमंद हो सकती है। इसके साथ ही सौंफ की चाय पाचन तंत्र को स्वस्थ और खुश रखने में मदद करने के लिए काफी अच्छी है। 

दालचीनी

यह मसाला पेट की अम्लता के लिए एक प्राकृतिक एंटासिड के रूप में काम करता है और पाचन और अवशोषण में सुधार करके आपके पेट को व्यवस्थित कर सकता है। राहत के लिए संक्रमण को ठीक करने के लिए दालचीनी की चाय पिएं। दालचीनी पोषक तत्वों का एक अच्छा जरिया है और स्वास्थ्य लाभकारी गुणों से भरपूर है।

गुड़

गुड़ आपके पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने के साथ आपके पेट में होने वाली एसिडिटी को भी खत्म करता है। यह पाचन को सहायता करता है और आपके पाचन तंत्र को प्रकृति में अधिक क्षारीय बनाता है, जिससे पेट की अम्लता कम होती है। भोजन के बाद गुड़ के एक छोटे टुकड़े पर जरूर चूसें।

Read More Article On Home Remedies In Hindi

Disclaimer