न्यू ईयर पर ले रहे हैं 'हेल्दी डाइट' का रिजॉल्यूशन, तो आपके बड़े काम आएंगी ये 6 डाइट टिप्स

नए साल की एक हेल्दी शुरुआत करने के लिए आपको अपने डाइट में ज्यादा बदलाव करने की जरूरत नहीं है, बस आपको इस साल के डाइट प्लान को छोड़ा ठीक करना होगा।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Dec 23, 2019Updated at: Dec 23, 2019
न्यू ईयर पर ले रहे हैं 'हेल्दी डाइट' का रिजॉल्यूशन, तो आपके बड़े काम आएंगी ये 6 डाइट टिप्स

ये साल 2019  खत्म होने को है और एक नया साल हमारी दहलीज पर दस्तक दे रहा है।  ऐसे में  हम सभी कोशिश करनी चाहिए कि सभी पूरानी चीजों को भूल कर आगे बढ़ें और आने वाले नए साल के लिए एक फ्रेश शुरुआत की तैयारी करें। ऐसे में आने वाले साल के लिए हम सभी को सबसे पहले अपने और अपने लोगों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करनी चाहिए। इस न्यू ईयर आप भी अगर सबके अच्छे स्वास्थ्य के लिए विश कर रहे हैं, तो आपको सबसे पहले अपने और अपने लोगों के डाइट का भी ख्याल रखना होगा। इसके साथ आपको अपने और उनके लाइफस्टाइल में बदलाव की भी जरुरत पड़ सकती है। पर किसी की  भी खाने की आदतों को पूरी तरह से बदलना आसान नहीं होता। ऐसे में नए साल पर ये संकल्प कई लोगों के लिए बहुत कठिन हो सकता है। पर हम सब मिलके इसके लिए कोशिश करें को ये ज्यादा मुश्किल नहीं होगा। ऐसे में हम आपके लिए, आने वाले साल के लिए हेल्दी डाइट पर मिनी प्रस्तावों की एक सूची लाएं हैं, जो आप 2020 में धीरे-धीरे अपने आप पर लागू कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि साल 2020 के लिए आपकी एक परफेक्ट डाइट क्या होनी चाहिए।

inside-2020 DIET.jpg

नाश्ते में प्रोटीन से भरा डाइट 

बता दें कि हमारे शरीर में सबसे ज्यादा प्रोटीन की खपत है। ऐसे में प्रोटीन साल 2020 के लिए प्रोटीन आपके सूची में सबसे ऊपर होनी चाहिए। ऐसा इसलिए भी क्योंकि ये माइक्रो न्यूट्रिशन हमारी त्वचा, मांसपेशियों, हड्डियों और बालों का बुनियादी निर्माण के लिए जरूरी हैं। प्रोटीन शरीर की मांसपेशियों के संरक्षण के लिए भी जरूरी हैं, जो शरीर में मेटाबोलिज्म को बेहतर बनाता है। इसके अलावा प्रोटीन हमारे भूख को तृप्त रखती है, जो कि बार-बार खाना खा कर वजन बढ़ाने से हमें रोकता है। इस मूल्यवान पोषक तत्व को पर्याप्त रूप से प्राप्त करने के लिए हर भोजन के साथ कम से कम 3 औंस मीट या कम से कम 1/2 कप फलियां शामिल जरूर करें।  वहीं दूध, दही, अंडे, हरी सब्जियां,मूंगफली और मक्खन स्वस्थ और प्रोटीन युक्त नाश्ते के लिए सबसे अच्छे विकल्प हैं।  

इसे भी पढ़ें : सेहत की थाली: हेल्‍दी स्नैक्‍स के लिए बेस्‍ट है महाराष्ट्रीयन कोथिंबीर वडी, जानेंं इससे मिलने वाली कैलोरीज

प्लांट-बेस्ड फूड्स को करें शामिल

फल, सब्जियां, नट और फलियां, सभी टाइप 2 डायबिटीज, कैंसर और मोटापे से लड़ने के लिए अपने स्वास्थ्कारी गुणों के लिए  जाना जाता है। प्लांट-बेस्ड फूड्स में कई अतिरिक्त गुण भी होते हैं, जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करने के लिए भी जाना जाता है। इसलिए अपने पसंदीदा भोजन में इसे धीरे-धीरे जोड़ने की कोशिश करें। इसके अलावा इसे  मज़ेदार और सरल बनाया जा सकता है, उदाहरण के लिए चिकन के बजाय अपने सलाद में कुछ अंकुरित मूंग और चने को शामिल कर सकते हैं। वहीं आप इसमें गाजर, मूली और बिन्स आदि का भी प्रयोग कर सकते हैं।

व्यंजनों के साथ रचनात्मक रहें

स्वस्थ भोजन उबाऊ हो सकता है और इस एकरसता का मुकाबला करने के लिए आपको हमेशा अपने डाइट को रचनात्मक बनाने की कोशिश करनी चाहिए। इन स्वस्थ व्यंजनों को बनाते वक्त या खाते वक्त कुछ अलग-अलग आइडिया को इस्तेमाल करें। इनमें आप अपनी मनपसंद चीजों को भी जोड़ सकते हैं। बस ध्यान रखें कि वे स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर हों। इस नए वर्ष की नई तैयारियों की तलाश के लिए, आप अखबारों, कुकबुक और इंटरनेट में भोजन सेक्शन की भी मदद ले सकते हैं। इससे आपको अपने भोजन को रचनात्मक बनाने में काफी मदद मिल सकती है। 

inside-NEWYEARDIETPLAN.jpg

शरीर के लिए फास्टिंग का भी नियम बनाएं

कोशिश करें कि केवल दिन के 3 से 12 घंटे के बीच ही खाना खाएं। बाकी 12 से 15 घंटों के बीच कुछ न खाएं। साथ ही सप्ताह में किसी एक दिन व्रत या फास्ट रख कर भोजन से परहेज करने की कोशिश करें। आहार संबंधी अपने दृष्टिकोण में थोड़ा बदलाव करें। दरअसल कई शोध ये बताते हैं कि उपवास की अवधि अनावश्यक स्नैकिंग के खिलाफ सुरक्षा के रूप में कार्य करती है और आपको बेमतलब खाने से रोकती है। ऐसे में एक बार जब आपको इसकी आदत हो जाएगी तो आप प्रत्येक दिन समय पर खाना खाने की कोशिश करेंगे। इस तरह शरीर में फैट जलाने में भी मदद मिलेगी। इसके साथ ही ये शरीर में ब्लड शुगर के बजाय ऊर्जा के लिए कीटोन्स जुटाना शुरू कर देगा। इस तरह शरीर एक सही और स्वस्थ्य ढ़ंग से काम करना शुरू कर देगा।

ओवर ईटिंग को कहे 'ना'

इस नए साल में अत्यधिक खाने से बचने के लिए, अपने भोजन का उपभोग करते समय स्मार्टफोन, लैपटॉप और अन्य विकर्षणों को दूर रखें। हमारा शरीर हमें भूख और तृप्ति पर संकेत देता है, और इन्हीं संकेतों को समझते हुए हमें खाने का ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में कोशिश करें जब आपके खाने का वक्त हो तभी खाएं। बिना मतलब और बिना मन के खाने की कोशिश न करें। जब भी आपको स्ट्रेस महसूस हो या क्रेविंग हो, ऐसे में तो खाने की ओर नजर उठा कर भी न देखें। ज्यादा हो तो पेट भर के पानी पी लें। इससे आपका पेट भर जाएगा और आपका मन कुछ और खाने का मन नहीं होगा।

 इसे भी पढ़ें : क्या नहीं छोड़ पा रहे मीठा खाने की आदत? तो नेचुरल स्वीटनर का करें इस्तेमाल नहीं होता कोई नुकसान

 फूड-लॉग बनाएं

एक फूड लॉग बना कर रखना अपने आहार विकल्पों के लिए आप को जवाबदेह रखने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है। यह आउटिंग के दौरान काफी काम आता है, यही वह समय होता है जब आपका आहार सबसे अधिक बंद हो जाता है। अगर हम जानते हैं कि हम अपने मुंह में क्या डाल रहे हैं, तो बेहतर भोजन के निर्णय किए जा सकते हैं। इसके लिए अपने लिए इसका एक चार्ट बना लें या कोई हेल्थ और डाइट जैसे एप्लिकेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं आप घर से बाहर निकलते वक्त भी अपने साथ कुछ खाने-पीने का सामान रख सकते हैं। वहीं कोशिश करें कि आने वाले नए साल घर पर खुद ही खाना बना कर अपनी डाइट का ख्याल रखें। इस तरह आप स्वस्थ और खुश दोनों ही रहेंगे।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer