सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द में इन 6 एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स को दबाने से मिलेगा तुरंत आराम, जानें तरीका

सर्वाइकल का दर्द अक्सर लोगों को बहुत ज्यादा परेशान करता है। इससे तुरंत आराम पाने के लिए आप एक्यूप्रेशर की मदद ले सकते हैं, जानें प्रेशर प्वाइंट्स।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Mar 22, 2021Updated at: Mar 22, 2021
सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द में इन 6 एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स को दबाने से मिलेगा तुरंत आराम, जानें तरीका

आजकल के खराब लाइफस्टाइल और असंतुलित जीवन शैली के कारण बीमारियां लगना आम बात है। लेकिन आपकी कुछ गलतियां और गलत दिनचर्या के कारण आप देखते ही देखते बड़ी बीमारियों की भी गिरफ्त में आ जाते हैं। उन्हीं में से एक है सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस (cervical spondylitis), जिसमें आपको गर्दन के आसपास के हिस्सों में अकड़न होने लगती है। वैसे तो थाररॉयड (thyroid), डायबिटीज (diabetes) और शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) की मात्रा बढ़ने से यह समस्या उत्पन्न हो सकती है। इस बीमारी में हमारे गर्दन और रीढ़ की हड्डियां ज्यादा प्रभावित होती हैं। मानव शरीर की रीढ़ कई जटिल जोड़ों से मिलकर बनी होती है। यदि एक भी जोड़ में अकड़न, सूजन और दर्द हो तो यह दर्द गर्दन को भी प्रभावित करता है। यदि इस समस्या को शुरूआत में ही नियंत्रित नहीं किया जाता तो यह आपकी पीठ से लेकर गर्दन को बुरी तरह से दर्द दे सकती है। हमारी शरीर में इंटरवर्टेब्रल डिस्क (intervertebral disc) मौजूद होती है। यह एक तरह का तरल पदार्थ होता है, जो आपको रीढ़ में चोट लगने से बचाव करता है। अगर 

इस तरल पदार्थ की मात्रा आपकी शरीर में घट जाती है तो भी आपकी कमर, पीठ या गर्दन के आसपास के हिस्सों में अकड़न आ सकती है। एलोपैथी में तो सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के बहुत से प्रमाणित और कारगर इलाज हैं, लेकिन एक्यूप्रेशर इसका काफी पुराना और कारगर इलाज है। चिकित्सक भी इसे करने की सलाह देते हैं। आइये जानते हैं कि एक्यूप्रेशर से सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस कैसे ठीक होता है।     

spondylitis

कंधों की हड्डियों को तेजी से दबाएं 

सर्वाइकल से पीड़ित मरीजों के लिए एक्यूप्रेशर काफी फायदेमंद है। 

  • गर्दन के पास दर्द होने पर आप अपने कंधों की हड्ड़ियों को दबा सकते हैं। कंधे की हड्डियों को जोर से दबाने से आपका दर्द गायब हो जाता है। 
  • हथेली के उपर अंगूठे की हड्डी को देजी से दबाएं। ऐसा करने से भी आपको दर्द में राहत मिलेगी। क्योंकि हथेली के उपर की हड्डी का सीधा संबंध आपके नर्वस सिस्टम (nervous system) से होता है। 
  • ठीक इसी तरह अपनी रिंगफिंगर (ring finger) को भी दबाएं। कोशिश करें कि इसे कम से कम एक मिनट के लिए दबाकर ही रखें। 
  • अपनी बाहें आगे लाकर एक बार फिर पीछे की ओर लेकर जाएं। इसे दबाकर रखें। ऐसी स्थिति में इस बात पर ध्यान दें कि अपनी बाहों को जितना हो सके उतना ही स्ट्रैच करें। इस विधि को ज्यादा करना नुकसानदायक भी हो सकता है। 
  • सर्वाइकल के दर्द से राहत के लिए जौंग जू  केंद्र (Zhong Zhu point) को उत्तेजित करें। इसके बारे में आप अपने चिकित्सक से भी सलाह ले सकते हैं। यह बिंदू आपकी चौथी और पांचवी उंगलियों के बीच पाया जाता है। दर्द से तत्काल रूप से राहत पाने के लिए यह कारगर बिंदू है। 
  • दर्द से राहत पाने के लिए आप एक्यूप्रेशर के तौर पर अपने पैर के अंगूठे के साथ-साथ अंगूठे के साथ वाली उंगली को भी दबाएं। 
  • सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द के लिए आप भुजंगासन, मत्स्येंद्र आसन, धनुरासन, मरजारियासन समेत कई अन्य आसनों का भी सहारा ले सकते हैं। 

इन बातों का ध्यान दें 

  • ध्यान रखें कि आप एक्यूप्रेशर के लिए अपने हाथ और पैर की जिस भी बिंदू को उत्तेजित करना चाहते हैं उसे हल्के हाथ से यानि आराम से ही करें। कई मामलों में इसका नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकता है। 
  • महिलाएं प्रेगनेंसी के समय खासतौर पर चिकित्सक से सलाह लेने के बाद ही एक्यूप्रेशर और आसनों को करें। 
  • सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस से निजात पाने के लिए दिन में कम से कम दो बार एक्यूप्रेशर करें। इसे सुबह योगा करने से पहले और रात में सोने से पहले करें। 
  • अगर अचानक सर्वाइकल का दर्द कंधों में उतर आए तो आप तत्काल प्रभाव से एक्यूप्रेशर का सहारा ले सकते हैं। 
  • सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के एक्यूप्रेशर को अगर आप चाहें तो उंगलियों की बजाय लकड़ी से बने स्पेशल उपकरणों से भी कर सकते हैं। हालांकि आपको फायदा उतना ही होगा। 
  • एलोपैथी का सहारा लेने की बजाय यह बेहतर विकल्प है कि आप एक्यूप्रेशर को अपनाकर अपने दर्द से राहत पाएं। इस लेख में दिए गए सुझावों को भी ध्यान रखें। यह सभी एक्यूप्रेशेर निश्चित तौर पर आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे। 

Read more Articles on Other Diseases In Hindi 

 

Disclaimer