प्रेग्नेंसी में दिनभर थकान, सुस्ती और आलस से हैं परेशान? ये छोटे-छोटे उपाय करेंगे आपकी समस्या दूर

 प्रेग्नेंसी में महिलाओं को डाइट, नींद और आराम की जरूरत दोगुनी हो जाती है क्योंकि नैचुरली वो अपने और अपने शिशु दोनों की जरूरत पूरी कर रही होती हैं।

 
Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 12, 2020Updated at: Jan 12, 2020
प्रेग्नेंसी में दिनभर थकान, सुस्ती और आलस से हैं परेशान? ये छोटे-छोटे उपाय करेंगे आपकी समस्या दूर

मां बनने का एहसास खुशी तो देता है, मगर प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलावों के कारण महिलाएं अंदर से सामान्य दिनों जैसा महसूस नहीं करती हैं। ऐसा देखा गया है कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं में थकान, आलस और सुस्ती की समस्या बढ़ जाती है। यही कारण है कि प्रेग्नेंसी का पता चलने के बाद डॉक्टर्स महिलाओं को ज्यादा आराम करने और कम काम करने की हिदायत देते हैं। मगर थकान, सुस्ती का असर कई बार मूड पर भी पड़ता है और स्वभाव में चिड़चिड़ापन आने लगता है। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं 5 ऐसे उपाय, जो गर्भावस्था के दौरान आपकी सुस्ती और आलस को दूर भगाएंगे।

pregnancy

पानी ज्यादा पिएं

आमतौर पर प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को पेशाब ज्यादा लगती है। इसलिए उनके शरीर में पानी की जरूरत सामान्य दिनों से ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में अगर महिला पानी नहीं पीती है, तो उसे डिहाइड्रेशन हो सकता है, जो होने वाले शिशु और महिला, दोनों के लिए खतरनाक है। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी लिक्विड डाइट बढ़ा देनी चाहिए और पानी ज्यादा से ज्यादा पीना चाहिए। एक दिन में कम से कम 3/3.5 लीटर पानी जरूर पिएं। ध्यान दें लिक्विड डाइट बढ़ाने का मतलब यह नहीं है कि आप चाय, कॉफी, सोडा, कोल्ड ड्रिंक्स, एल्कोहल का सेवन शुरू कर दें। इन्हें तो आपको छूना भी नहीं है। लिक्विड डाइट में आप नींबू पानी, फलों का जूस, फलों की स्मूदी, सब्जियों की स्मूदी, दूध, शेक्स आदि ले सकते हैं।

चीनी वाली चीजें कम खाएं

चीनी आपके खून में अचानक शुगर की मात्रा बढ़ा देती है, जिससे आप थोड़े समय में ही थकान महसूस करने लगेंगी। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान चीनी से मीठी बनाई गई चीजों का सेवन कम करें। आप ऐसे फल और ड्राई फ्रूट्स खा सकती हैं, जिनमें प्राकृतिक रूप से मिठास होती है। चीनी के बजाय सिंपल कार्ब्स आपको ज्यादा देर तक एनर्जी से भरा रखेंगे। 

pregnancy

इसे भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं के लिए आलू का सेवन फायदेमंद है या नहीं? जानें

अच्छी-गहरी नींद लें

प्रेग्नेंसी के दौरान जब पेट पर वजन बढ़ने लगता है, तो सोने में मुश्किल आथी है। मगर बच्चे के अच्छे विकास के लिए गहरी और पर्याप्त नींद जरूरी है। इसलिए प्रेग्नेंसी में अच्छी तरह सोने के लिए प्रेग्नेंसी पिलो का इस्तेमाल करें। ये ऐसे तकिए होते हैं, जिससे आपको बंप के साथ सोने में कम परेशानी होती है। इसके अलावा रात में बार-बार उठने की झंझट से बचने के लिए सोने से 1 घंटे पहले ही पानी पी लें, बाद में न पिएं, वर्ना आपको पेशाब के लिए उठना पड़ सकता है।

पावर नैप लें

प्रेग्नेंसी के दौरान रात की 7-8 घंटे की नींद आपको दिनभर एक्टिव रखने के लिए काफी नहीं है। इसलिए आप चाहें तो दिन में 1-2 बार जब भी आपको समय हो आप पावर नैप ले सकते हैं। पावर नैप का मतलब है जब आप बोझिल महसूस करें, तो 20-30 मिनट की नींद ले लें। इससे आप दोबारा रिचार्ज हो जाएंगी। याद रखें आपको प्रेगनेंसी के दौरान खाना, नींद, पौष्टिक तत्वों आदि की जरूरत दोगुनी हो जाती है, क्योंकि अब आप एक नहीं दो हो चुकी हैं।

pregnancy

इसे भी पढ़ें: व्‍यायाम करने से खुश रहती हैं गर्भवती महिलाएं

अपना रूटीन और समय फिक्स करें

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अपने खाने, सोने और काम करने के समय और रूटीन को फिक्स रखना चाहिए। इससे बच्चे का विकास ज्यादा बेहतर तरीके से होता है। बेसमय का खाना और बेसमय की नींद न सिर्फ आफकी परेशानी, आलस और थकान को बढ़ाने हैं, बल्कि आपके पेट में पल रहे शिशु की भी परेशानी बढ़ाते हैं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer