'फिटनेस का भूत' कहीं आपको बीमार न कर दे, ये 5 संकेत बताते हैं आपको है 'फिटनेस हैंगओवर'

'फिटनेस का भूत' किसी के लिए भी खतरनाक हो सकता है इसलिए आइए जानते हैं फिटनेस हैंगओवर के प्रारंभिक संकेतों के बारे में।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Nov 29, 2019Updated at: Nov 29, 2019
'फिटनेस का भूत' कहीं आपको बीमार न कर दे, ये 5 संकेत बताते हैं आपको है 'फिटनेस हैंगओवर'

व्यायाम करने के कई लाभ हैं। पर अगर लोगों पर फिटनेस का भूत सवार हो जाए, तो ये और नुकसानदायक हो सकता है। जिस तरह से कुछ लोगों पर व्यायाम के लाभों को देखते हुए फिटनेस की लत लग जाती है, तो ये किसी नशे से कम नहीं है। लगातार इस बारे में सोचना कि व्यायाम कैसे कई दीर्घकालिक (पुरानी) स्थितियों को विकसित करने के जोखिम को कम करने में मदद करेगा, जैसे कि हृदय रोग, टाइप 2 डायबिटीज और स्ट्रोक, व्यायाम को अपने आप में एक दर्द में बदल रहा है। व्यायाम की लत शारीरिक फिटनेस और व्यायाम के साथ एक अस्वास्थ्यकर जुनून है। यह अक्सर शरीर की छवि विकारों या खाने के विकारों का परिणाम होता है। किसी भी लत की तरह, व्यायाम की लत भी शरीर में उन हानिकारक केमिकल्स को छोड़ सकती है, जो व्यायाम करते समय खुशी की भावना पैदा करती है पर बाद में में आपको बाीमार कर सकता है। पर इससे बचने का एक ही उपाय ये है कि आप पहले ही इसके आदी होने के संकेतों को समझ लें और फिर इस पर काबू पाने की कोशिश करें। आइए हम आपको बताते हैं इन संकेतों के बारे में।

Inside_fitness hangover signs

आराम करने पर भी सांस फूलना-

अगर किसी को फिटनेस हैंगओवर है, तो वो आराम करते वक्त भी तेजी से सांस लेता है। दरअसल इन लोगों को आदत हो जाता है क्योंकि जब ये एक्सरसाइज करते हैं तो इनकी सांसे बहुत तेज हो जाती हैं। फिर ये इसी काम को बार-बार करने लगते हैं, तो उनकी ऐसी ही आदत हो जाती है। बिना आराम के व्यायाम करने से आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकता है। इस नुकसान में दिल से जुड़ी बीमारी, घबराहट (अनियमित हृदय गति) और दिल का बार-बार तेज गति से चलने लगता आदि हो सकता है। इसके अलावा इस तरह की आदत आराम करने पर भी दिल की धड़कन बढ़ा सकते हैं। हृदय को नुकसान पहुंचाने से सांस लेने में परेशानी, छाती में जकड़न और अचानक हृदय गति रुक सकती है। 

इसे भी पढ़ें : जिम और डाइटिंग का चक्कर छोड़ें, खाली समय में डांस करके भी तेजी से घटा सकते हैं वजन

खाने से जुड़े विकार-

फिटनेस हैंगओवर की शुरूआत होते ही किसी भी व्यक्ति के खाने-पीने की आदतों में बदलाव आता है। इसके साथ ही व्यक्ति ज्यादा से ज्यादा फिटनेस पाने के लिए उन चीजों को ज्यादा करने लगता है, जिससे उसे लगता है कि वो ज्यादा स्वस्थ हो जाएगा। ऐसे में व्यक्ति खाना-पीना छोड़कर व्यायाम करने लगता है, जो उसके लिए खतरनाकर हो सकता है। व्यायाम की लत भूख को कम करने वाले ग्रेलिन नामक हार्मोन के स्तर को कम कर देती है और पेप्टाइड के स्तर को बढ़ाती है, जो भूख को मारने के लिए जिम्मेदार होते हैं।, लॉफबोरो विश्वविद्यालय, यूके द्वारा कई शोधकर्ताओं की मानें, तो खाने के विकार व्यक्ति को सिर दर्द, ऑस्टियोपोरोसिस और अन्य शारीरिक परेशानियों से ग्रस्त कर सकते हैं। 

दर्द में काम करना-

जो लोग लगातार कसरत करते हैं और शारीरिक तनाव में लिप्त रहते हैं, वे नियमित रूप से मांसपेशियों में अकड़न का अनुभव करते हैं और फिर भी अपने रोजमर्रा के काम करते रहते हैं। जबकि शरीर आराम करना चाहता है लेकिन एक्सरसाइज के नशे में व्यक्ति रोज उतना और इससे ज्यादा वर्कऑउट करने लगता है। इससे उनके जोड़ों, हड्डियों और अंगों के अति प्रयोग के लिए अग्रणी हो जाते है। जो लोग व्यायाम करने के आदी हैं वे दर्द में भी काम करते हैं, जो व्यायाम की लत का एक प्रमुख संकेत है। दर्द में व्यायाम करने से क्रैम्बॉयडोलिसिस जैसी पुरानी मांसपेशियों की चोटों का खतरा बढ़ जाता है। पर फिर भी ऐसे लोगों में व्यायाम की कमी नहीं होती है। ऐसे लोगों को इन संकेतों को समझना चाहिए और फिर कुछ देर के लिए इसे कम कर देनी चाहिए।

नींद की कमी-

व्यायाम की लत एक व्यक्ति के तनाव-प्रतिक्रिया प्रणालियों को नुकसान पहुंचा सकती है, जिससे कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन हार्मोन जारी हो सकते हैं। ये अनिद्रा जैसी नींद की समस्याओं का कारण हो सकते हैं। मांसपेशियों का अधिक काम करना शरीर को बेचैन और हाइपर एक्टिव रखता है, जिससे सोने में कठिनाई हो सकती है। इस तरह नींद की कमी के कारण अन्य शारीरिक समस्याएं शुरू होने लगती हैं। अगर आप रोज घंटों अपने फिटनेस पर काम करते हैं और इतनी थकान के बाद भी नींद नहीं आ रही है तो आप समझ लें कि आपको फिटनेस का भूत सवार होने लगा है। क्योंकि तेज एक्सरसाइज के बाद बॉडी थकने के बाद सो जाता है और आपके साथ ऐेसा नहीं हो रहा है तो आप खुद का ख्याल रखिए।

इसे भी पढ़ें : 1 घंटे में 400 कैलोरी तक बर्न कर सकती हैं ये 4 लो इंपेक्ट एक्सरसाइज, तेजी से घट जाएगी शरीर की सारी चर्बी

सामाजिक अलगाव-

जो लोग अपने व्यायाम शासन पर ध्यान केंद्रित करने और एक जिम में अधिक समय प्रशिक्षण बिताने के लिए योजनाओं को पूरा करने और अवसरों को पूरा करने के आदी हैं। वे लोग अक्सर सामाजिक अलगाव को महसृस कर सकते हैं। ऐसे लोगों में भ्रम, चिड़चिड़ापन, क्रोध, मनोदशा में बदलाव, चिंता और अवसाद भी हो सकता है। ऐसा इसलिए होने लगता है क्योंकि ये लोग पूरी तरह से फिटनेस के लिए एक्सरसाइज करने में लिप्त हो जाते हैं और फिर बाकी चीजों से दूर होने लगते हैं। इसके कारण वो खुद को अकेला और दुनिया से दूर महसूस करने लगते हैं। 

Read more articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer