छठ पूजा 2020: छठ पूजा के वक्त करें ये 5 आसान काम, पूरी होगी हर मनोकामना

यह पर्व बिहार और उत्‍तर प्रदेश के कई जिलों में मनाया जाता है। जहां कहीं भी इस राज्‍य के लोग रहते हैं वहां छठ पर्व के महत्‍व को देखा जा सकता है।

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Oct 23, 2017Updated at: Nov 18, 2020
छठ पूजा 2020: छठ पूजा के वक्त करें ये 5 आसान काम, पूरी होगी हर मनोकामना

कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी से सप्तमी तक चलने वाले चार दिन के पर्व छठ को मन्नतों का पर्व भी कहा जाता है। इन चार दिनों में श्रद्धा और भक्ति के साथ पूजा और व्रत रखने वालों की मन्‍नतें पूरी होती है। यह पर्व बिहार और उत्‍तर प्रदेश के कई जिलों में मनाया जाता है। जहां कहीं भी इस राज्‍य के लोग रहते हैं वहां छठ पर्व के महत्‍व को देखा जा सकता है।

insidechathpooja2020

इस पर्व के महत्व का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें किसी गलती के लिए कोई जगह नहीं होती। इसलिए शुद्धता और सफाई के साथ तन और मन से भी इस पर्व में जबरदस्त शुद्धता का ख्याल रखा जाता है। छठ पूजा के दौरान कुछ ऐसे काम हैं जिन्‍हें करने से मनाकामना जरूर पूरी होती है। आइए इस लेख के माध्‍यम से हम आपको बता रहे हैं उन 5 आसान कार्यों के बारे में

 इसे भी पढ़ें: Chhath Puja 2020: छठ के दिन सूर्य की किरणों से मिलते हैं कई स्वास्थ्य लाभ, दूर होते हैं कई रोग

छठ पूजा के दौरान जरूर करने चाहिए ये 5 काम

1. चार दिनों तक चलने वाले इस पावन पर्व पर व्रती को लगातार उपवास करना जरूरी होता है। व्रत रखने वाली महिला को 'परवैतिन' कहा जाता है।

2. छठ के पर्व में व्रती को भोजन के साथ ही बिस्तर पर सोने का भी त्याग करना चाहिए।

chhath-puja-in-hindi-2633x319

इसे भी पढ़ें: छठ पूजा 2020: छठ व्रतियों को हो सकता है डेंगू का खतरा, घाट पर जाने से पहले बरतें ये सावधानियां

3. छठ पर्व में व्रती का एक अलग कमरे में फर्श पर एक कंबल या चादर में सोना इस परंपरा का एक हिस्सा है।
 
4. छठ पूजा में व्रती को बिना सिलाई किए हुए कपड़े पहनने चाहिए और त्योहार में शामिल होने वाले सभी लोगों को नए कपड़े पहनने चाहिए।   

5. छठ पूजा के दौरान महिलाएं साड़ी और पुरुष धोती पहनकर पूजा करना चाहिए। छठ का व्रत शुरू कर दिया है तो छठ पर्व को सालों साल तक करना चाहिए। जब तक कि घर परिवार की अगली पीढ़ी की कोई विवाहित महिला इसे करना न शुरू कर दे।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer