आयुर्वेद के अनुसार काली किशमिश खाने से मिलते हैं ये 5 स्वास्थ्य लाभ, कई गंभीर बीमारियां रहती हैं दूर

रोजाना आधी मुट्ठी काली किशमिश खाकर आप कई बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं। इसे खाने से ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल कम होता है और हड्डियां मजबूत होती हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jul 14, 2020Updated at: Jul 14, 2020
आयुर्वेद के अनुसार काली किशमिश खाने से मिलते हैं ये 5 स्वास्थ्य लाभ, कई गंभीर बीमारियां रहती हैं दूर

किशमिश को सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है, मगर आमतौर पर 2 तरह की किशमिश खाने में ज्यादा प्रयोग की जाती है- हरी किशमिश, गोल्डेन किशमिश। इसके अलावा एक तीसरे तरह की किशमिश भी आती है, जिसे काली किशमिश कहा जाता है। ये काले अंगूरों को सुखाकर बनाई जाती है। काली किशमिश खाने के भी ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनके बारे में लोग अक्सर नहीं जानते हैं। काली किशमिश कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स, कार्बोहाइड्रेट्स और कैल्शियम का भंडार है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए तो काली किशमिश वरदान है। इसी तरह कुछ अन्य बीमारियां और शारीरिक समस्याएं भी हैं, जिन्हें काली किशमिश को खाकर दूर किया जा सकता है। आइए आपको बताते हैं काली किशमिश खाने के 5 सेहत से जुड़े लाभ।

kali kishmish khane ke fayde

ब्लड प्रेशर रोगियों के लिए वरदान है काली किशमिश

काली किशमिश में पोटैशियम की मात्रा बहुत अच्छी होती है। पोटैशियम वाले आहार ब्लड प्रेशर कम करते हैं। यही कारण है कि अगर कोई व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से परेशान है, तो उसे काली किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए। काली किशमिश के सेवन से शरीर में मौजूद सोडियम का असर कम होता है, जिससे ब्लड प्रेशर में तेजी से कमी आती है। इसे खाने के आसान तरीका है कि दिन में कई बार जब भी समय मिले थोड़ी सी काली किशमिश को मुंह में डालकर चबाकर खाएं।

इसे भी पढ़ें: इन 5 पौधों की पत्तियों में होते हैं इम्यूनिटी बढ़ाने वाले गुण, घर पर लगाएं और जानें प्रयोग का तरीका

खून की सफाई और चेहरे पर चमक

काली किशमिश एक तरह से नैचुरल ब्लड प्यूरिफायर का काम करता है। रोजाना काली किशमिश खाने से आपके खून में घुली अशुद्धियां और गंदगी बाहर निकल जाती हैं। इसलिए इसके सेवन से आपके चेहरे पर चमक आती है और त्वचा से संबंधित कई समस्याएं जैसे- कील-मुंहासे, झुर्रियां, धब्बे आदि दूर होते हैं। काली किशमिश के लगातार सेवन से आपका रंग भी निखरता है क्योंकि खून में घुली अशुद्धियों के साफ होने से त्वचा की रंगत पर भी असर पड़ता है।

हड्डियों को रखता है मजबूत

काली किशमिश में पोटैशियम और कैल्शियम की मात्रा अच्छी होती है, जिसके कारण ये हड्डियों के लिए भी बहुत फायदेमंद मानी जाती है। रोजाना 10-15 काली किशमिश खाने से आपके शरीर के लिए जरूरी कैल्शियम आपको मिल जाता है। इससे हड्डियों के भुरभुरापन (ऑस्टियोपोरोसिस) की समस्या दूर होती है और हड्डियां मजबूत होती हैं। महिलाओं को काली किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि उनमें हड्डियों की कमजोरी की समस्या बहुत पाई जाती है।

खून बढ़ाए, बालों को स्वस्थ रखे

काली किशमिश में एक और तत्व अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है। वो है आयरन। आयरन वाले आहार शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाते हैं, जिससे खून बढ़ता है। इसके अलावा आयरन उन लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है, जिनके बाल कमजोर होते हैं। अगर आपके बाल झड़ते हैं या बहुत ज्यादा टूटने लगे हैं, तो आपको रोजाना आधी मुट्ठी काली किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए। एनीमिया से ग्रस्त महिलाओं और पुरुषों के लिए भी काली किशमिश का सेवन फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए बेहद खास हैं ये 5 सफेद रंग की सब्जियां, जानें हर व्यक्ति के डाइट में क्यों जरूरी हैं सफेद सब्जियां

कोलेस्ट्रॉल कम करे

कोलेस्ट्रॉल भी एक गंभीर समस्या है, जिसके कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी समस्याओं का खतरा रहता है। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर व्यक्ति की आकस्मिक मौत की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को घटाना बेहद जरूरी है। कोलेस्ट्रॉल घटाने के लिए भी आप काली किशमिश का सेवन कर सकते हैं। काली किशमिश में घुलनशील फाइबर होता है, जो कि धमनियों में जमा प्लाक को धीरे-धीरे बाहर निकाल देता है। यही कारण है कि इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer