माइग्रेन और साइनस के दर्द को छूमंतर कर देते हैं ये 5 तरह के तेल, जानें प्रयोग का तरीका

यहां हम आपको 5 एसेंशियल ऑयल के बारे में बता रहे हैं जो आपके माइग्रेन के दर्द को छूमंतर कर देंगे, साथ ही ये आपके तनाव और सिरदर्द को भी दूर करने में मदद करेंगे। 

सम्‍पादकीय विभाग
आयुर्वेदWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Aug 15, 2019
माइग्रेन और साइनस के दर्द को छूमंतर कर देते हैं ये 5 तरह के तेल, जानें प्रयोग का तरीका

एसेंशियल ऑयल पत्तियों, तनों, फूलों, छाल, जड़ों, या किसी पौधे के अन्य तत्वों से बना एक तरल पदार्थ होते हैं। अरोमाथेरेपी में अक्सर एसेंशियल ऑयल को ही शामिल किया जाता है, जो तनाव को कम करने और संवेदी उत्तेजनाओं (गंध) के माध्यम से परिसंचरण में सुधार, जैसे स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकते हैं। एसेंशियल ऑयल कई रोगों में भी मददगार है, जैसे सिरदर्द या माइग्रेन। विभिन्न तेल अलग-अलग लाभ प्रदान करते हैं। वे साइड इफेक्ट्स के बगैर भी लाभ प्रदान करते हैं। कुछ एसेंशियल ऑयल तनाव को कम कर सकते हैं, इसके अलावा माइग्रेन के तेज दर्द को भी शांत कर सकते हैं। 

एसेंशियल ऑयल का उपयोग करने के लिए, उन्हें किसी एक अन्‍य तेल के साथ जैसे कि नारियल तेल, जैतून का तेल या बादाम के तेल में मिलाकर इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए। इन वाहक तेलों के 1 औंस में एसेंशियल ऑयल की 5 बूंदें जोड़ें। एसेंशियल ऑयल को सीधे त्वचा पर लगाना नहीं चाहिए।

यहां हम आपको 5 एसेंशियल ऑयल के बारे में बता रहे हैं जो आपके माइग्रेन के दर्द को छूमंतर कर देंगे, साथ ही ये आपके तनाव और सिरदर्द को भी दूर करने में मदद करेंगे।

oil 

पुदीना का तेल- Peppermint oil

पेपरमिंट ऑयल सिरदर्द या माइग्रेन के इलाज के लिए सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले एसेंशियल ऑयल में से एक है। इसमें मेन्थॉल होता है, जो मांसपेशियों को आराम करने और दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। पतला पुदीना तेल लगाने से तनाव, सिर दर्द और माइग्रेन दोनों से दर्द से राहत मिल सकती है।

मेंहदी का तेल- Rosemary oil

मेंहदी के तेल में शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक (दर्द को मारने वाले) गुण होते हैं। यह तनाव कम करने, दर्द से राहत और बेहतर परिसंचरण के लिए सैकड़ों वर्षों से लोक चिकित्सा में उपयोग किया जाता है, जो हर प्रकार के सिरदर्द में मदद कर सकता है। यह अनिद्रा को कम करने और मांसपेशियों को आराम करने में भी मदद करता है, जो सिरदर्द में मदद कर सकता है।

लैवेंडर का तेल- Lavender oil

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल आमतौर पर तनाव से राहत और विश्राम के लिए उपयोग किया जाता है। इस बात के भी पुख्ता सबूत हैं कि लैवेंडर सिरदर्द और माइग्रेन के इलाज में मदद कर सकता है। लैवेंडर एसेंशियल ऑयल के गंध में सांस लेने से माइग्रेन के सिरदर्द के तीव्र प्रबंधन में मदद मिल सकती है। 

इसे भी पढ़ें: माइग्रेन और गठिया के दर्द से तुरंत छुटकारा दिलाती हैं ये 10 जड़ी-बूटियां

कैमोमाइल तेल- Chamomile essential oil 

कैमोमाइल का एसेंशियल ऑयल शरीर को आराम देता है और मांसपेशियों को शांत करता है, और इस कारण से तनाव के सिरदर्द का इलाज करने में एक महान सहायता हो सकती है। यह चिंता और अनिद्रा के इलाज में भी मदद कर सकता है, जो सिरदर्द के सामान्य कारण हैं। गर्भवती महिलाओं को कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे गर्भपात का खतरा होता है।

इसे भी पढ़ें: मानसिक तनाव और जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है थाई मसाज, होते हैं और भी कई फायदे

नीलगिरी- Eucalyptus

यदि आपके सिरदर्द साइनस के कारण होते हैं, तो नीलगिरी एसेंशियल ऑयल आपका नया सबसे अच्छा दोस्त बन सकता है। यह तेल नाक मार्ग को खोल देगा, साइनस को साफ कर सकता है और साइनस तनाव को दूर करने में मदद कर सकता है जो सिरदर्द का कारण बनता है। एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि पेपरमिंट ऑयल, नीलगिरी के तेल, और इथेनॉल के संयोजन ने आराम प्रदान किया है। 

Read More Articles On Ayurveda In Hindi 

Disclaimer