पीएमएस के दौरान भूख को कैसे करें काबू

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 22, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आहार को छह छोटे भागों में बाटें।
  • भूख लगना दिमाग में मौजूद सेरोटोनिन और न्यूरोट्रांसमीटर पर निर्भर करता है।
  • आराम करें और खुद को तनावग्रस्त होने से बचाएं।
  • पीएमस के दौरान शरीर में मैग्निशियम की मात्रा कम हो जाती है। 

प्री-मेन्स्ट्रयूल सिंड्रोम में महिलाओं को कई प्रकार के अनुभव होते हैं। इस दौरान महिलाओं को अक्‍सर अनिद्रा, पेट में दर्द, चिड़चिड़ापन, मूड में बदलाव, चक्कर आना और कुछ खाने की प्रबल इच्छा होने जैसे अनुभव होते हैं। इस अवधि में महिलाओं में शारीरिक और भावनात्मक बदलाव भी देखने को मिलते हैं। अगर आप गौर करें तो इस दौरान कई बार आपको कुछ खास तरह का खान या मीठा खाने की प्रबल इच्छा होती है जैसे चॉकलेट, आईसीक्रीम और केक आदि।
 

food cravings in pmsपीएमस में खाने की प्रबल इच्छा और अन्य बदलावों का मुख्य कारण महिलाओं में होने वाले हार्मोनल बदलाव होना है। इस्ट्रोजेन के स्‍तर में अचानक बदलाव आने से शरीर में कोर्टिसोल और स्ट्रेस हार्मोन का स्राव होता है। जब रक्त में कोर्टिसोल हार्मोन बढ़ता है तो शरीर का मेटॉबॉलिज्म बढ़ जाता है जिसकी वजह से आप भूख में बदलाव महसूस करती हैं।

 

इसके अलावा खाने की प्रबल इच्छा दिमाग में मौजूद सेरोटोनिन और न्यूरोट्रांसमीटर पर भी निर्भर करती है। जब सेरोटोनिन का स्तर कम होता है महिलाओं में कार्बोहाइड्रेट युक्त पदार्थ खाने की इच्छा प्रबल होती है। इस दौरान आपको अपने खाने पर नियंत्रण नहीं रहता और परिणाम स्‍वरूप आपका वजन काफी बढ़ सकता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए महिलाओं को कुछ खास उपाय अपनाने चाहिए।


थोड़ा-थोड़ा करके खाएं

दिन भर में तीन बार लिए जाने वाले आहार को छह छोटे-छोटे आहार में बांटें। इससे आपके रक्त में शुगर का स्तर संतुलित रहेगा और आप अस्वस्थ चीजें खाने से बचेगीं। कोशिश करें हर तीन घंटे पर कुछ ना कुछ खाएं। इससे आप खाने की प्रबल इच्छा पर काबू कर पाएंगी।


संयुक्त कार्बाहाइड्रेट लें

फाइबर युक्त आहार और संयुक्त कार्ब लेने से आपको जल्दी-जल्दी भूख नहीं लगेगी। आप चाहें तो अनाज के ब्रेड, दालें, फल और स्टार्च वाली सब्जियां ले सकती हैं। इन पदार्थों को पचने में समय लगता है जिसकी वजह से आपका पेट देर तक भरा रहेगा।


प्रोटीन युक्त आहार

अपने आहार में प्रोटीन को शामिल करें। इससे आपका ब्लड शुगर संतुलित रहेगा और आपकी पाचन शक्ति भी ठीक रहेगा। प्रोटीन युक्त आहार में आप अंडे, चिकन, टर्की, मछली और पीनट बटर जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है।


मैग्नीशियम लें

पीएमएस के दौरान महिलाओं के शरीर में मैग्निशियम का स्तर काफी कम हो जाता है। इसलिए उन्हें पीनट बटर, काजू, बादाम, ब्राउन राइस आदि का सेवन करना चाहिए। यह मैग्‍नीशियम के अच्छे स्रोत हैं। इसके अलावा चॉकलेट में भी काफी मात्रा में मैग्निशियम पाया जाता है, लेकिन इसमें फैट भी होता है। अगर आप चॉकलेट खाना चाहती हैं तो डॉर्क चॉकलेट ही लें। इससे आपका वजन नहीं बढ़ेगा।


गहरी सांस लें

अक्सर थकान के कारण भी खाने की प्रबल इच्छा होती है। इसलिए आराम करने की सही तकनीक के बारे में जानें और इसे प्रयोग करें। कई बार महिलाएं थकान के कारणों को समझ नहीं पातीं, जिसकी वजह से उन्हें भूख का अहसास होता है।  ऐसे में गहरी सांस लें और आंखे बंद करके थोड़ा आराम करें।


सूर्य की रोशनी में जाएं

कई बार सूर्य की रोशनी की कमी के कारण सेरोटोनिन के स्तर में कमी हो सकती है, जिसकी वजह से उन्‍हें भूख और कुछ खाने की प्रबल इच्‍छा होने लगती है। जब आपके साथ ऐसा हो, तो कुछ भी अनाप-शनाप खाने के स्‍थान पर बाहर धूप में घूम लें, इससे उनके शरीर में सेरोटोनिन स्तर बढ़ जाता है और आपकी भूख नियंत्रित हो जाती है।


पीएमएस के दौरान अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो ऊपर दिए गए टिप्स को अपनाएं और इन समस्याओं से जल्द से जल्द निजात पाएं। और अगर इसके बाद भी आपको आराम न मिले तो आप किसी स्‍त्री रोग विशेषज्ञ की मदद ले सकती हैं।

 

 

Read More Articles On Women's Health In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4 Votes 1641 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर