बच्चों के स्वास्थ्य के लिए होम्योपैथी चिकित्सा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 24, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

bacho ke swasthya k liye homeopathy chikitsa

होम्योपैथिक उपचार, आमतौर पर, बच्चों के लिए,  काफी सुरक्षित एवं कारगर माना जाता है; भलें हीं बच्चे कितने भी छोटे क्यों न हों।  

 

बच्चे एलोपेथिक  दवा या तम्बाखू इत्यादि के आदी नहीं होते इसलिए बच्चे होम्योपैथिक उपचार के प्रति सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हैं यानि उनपर होम्योपैथिक दवा का अच्छा असर होता है।

[इसे भी पढ़ें: खांसी के लिए होम्योपैथी चिकित्सा]

 

होम्योपैथिक उपचार बीमारी को जड़ से ठीक करता है, साथ हीं साथ वह  बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में मदद करता है। इस तरह चिकित्सा की यह पद्धति अच्छा स्वास्थ्य भी बहाल करती है। होम्योपैथिक गोलियां मीठी होती हैं जिसे बच्चे आसानी से ले सकते हैं; कभी कभी होम्योपैथिक दवाइयां पाउडर या तरल पदार्थ के रूप में भी दी जाती  है जिसे लेने में भी बच्चों को कोई दिक्कत नहीं।

 

बच्चों में, आम समस्याओं में, होम्योपैथिक औषधियां तेजी से और प्रभावी ढंग से काम करती हैं जिनका उपयोग बच्चों पर आप घर में भी कर सकते हैं।

 

[इसे भी पढ़ें: होम्योपैथी से तनाव का इलाज]

 

बच्चों की आम समस्याएं, जिन्हें  दूर करने में होम्योपैथी उपचार काफी सुरक्षित और प्रभावी होते हैं वे निम्न प्रकार के होते हैं:

  • दमा
  • बिस्तर गीला करना
  • कान का संक्रमण, लगातार सर्दी खांसी , और टोनसीलिटिज
  • दांत का दर्द /दांत आते समय
  • दस्त, पेट खराब और मोशन सिकनेस
  • यह बचपन में होने वाले संक्रामक रोग जैसे खसरा,चिकेनपोक्स ,  कण्ठमाला का रोग इत्यादि के लिए यह बहुत प्रभावी होता है।

 

[इसे भी पढ़ें: मोटोपे के लिए होम्योपैथी उपचार]

 

बचपन में होने वाले कुछ सामान्य रोगों के लिए होम्योपैथिक उपचार

  • दांत आते समय या दांत दर्द में : दांत से सम्बन्धी समस्याओं में चेमोमाईल्ला , कोफिया क्रूडा , केलकेरिया  फोसफोरिका  इत्यादि औषधियां प्रभावी होते हैं।
  • पेट का दर्द: बच्चों में पेट के ऐंठन या दर्द में निम्न औषधियां मसलन डाएसकोरिया , चेमोमाईल्ला , कोलोसाईनथस, मैग्नेशिया फोसफोरिका , कुचला, फेरम फोसफोरिकम  इत्यादि निवारण में कारगर सिद्ध होती हैं।
  • खांसी और क्रौप में : एकोनाईटम  नेपेलस, असपोंजिया  टोस्ता, एंटीमोनिअम  टरटारिकम    इत्यादि औषधियां  बच्चों में खांसी और क्रौप   के उपचार में प्रभावकारी होते हैं।
  • अतिसार या दस्त : कोलोसाईनथस, एलो  सॉक्रेटन्स , आरसेनिक्म  अलबम , नक्स  वोमिका इत्यादि औषधियां बच्चों में अतिसार या दस्त के लिए बहुत हीं प्रभावकारी होती है।
  • चेतावनी: होम्योपैथिक उपचार बच्चों को आश्चर्यजनक रूप में फायदा पहुंचा सकता है।  बच्चों में, आम समस्याओं में, होम्योपैथिक औषधियां तेजी से और प्रभावी ढंग से काम करती हैं । अगर इलाज करने के बाद कुछ समय के भीतर वांछित प्रतिक्रिया देखने को नहीं मिलती तो समस्या गंभीर हो सकती है जिसके लिए आपको एक पेशेवर समाचिकित्सक से परामर्श करनी चाहिए।

 

Read More Articles On Homeopathy In Hindi

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES17 Votes 15461 Views 6 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर