गर्मियों में आंखों की समस्‍यायें और समाधान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 19, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • त्वचा के साथ आखों को भी प्रभावित करती है गर्मियां।
  • धूप और धूल से होता है कंजंक्टिवाइटिस का खतरा ।
  • बाहर निकलते समय आखों को  गर्म हवाओं से बचाएं ।
  • आखों में संक्रमण की समस्या होने पर डॉक्टर से मिले ।

गर्मियां आते ही, त्‍वचा की समस्‍याओं के साथ ही आंखो की समस्‍याएं भी बढ़ जाती हैं। मौसम के बदलते मिज़ाज के कारण हमें कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन्‍हीं समस्‍याओं में से एक ही आंखों की समस्‍याएं। ऐसे में आंखों में खुजली-जलन जैसी समस्‍याएं होती हैं। गर्मियों में अकसर लू और धूल भी आंधी चलती है। ऐसे में घर से बाहर निकलने पर आंखों और त्‍वचा की समस्‍याएं होना आम है। आइये जानें इस समस्‍याओं से कैसे बचा जा सकता है।

Eyes in Hindi

आंखों की समस्‍याओं से बचने के लिए कुछ बातों का ध्‍यान रखें

तेज धूप और गर्म हवाओं के कारण आंखों की बीमारी कंजंक्टिवाइटिस का खतरा उत्पन्न हो गया है। ऐसे में लापरवाही आंखों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। इस रोग से ग्रसित होने पर आंखों में लाली, आंखों में चुभन, कीचड़ से पलकों का चिपक जाना और आंख में तेज दर्द होने लगता है। इसलिए धूप में बाहर निकलने से पहले आंखों पर अच्छी क्वालिटी के चश्मे और सिर पर टोपी पहने। प्रतिदिन दो-तीन बार ठंडे पानी से आंखों को धोएं। धूल, मिट्टी या अंधड़ के दौरान आंखों को बचाएं। सफर या देर तक बाहर रहने के बाद आंखों को आराम दें। हरी सब्जी और फल अधिक खाएं। पानी भी ज्यादा से ज्यादा पीएं। गर्मी के मौसम में तेज धूप से आंखों के रेटिना (पर्दा) पर प्रभाव पड़ता है। आई फ्लू भी इस मौसम में होता है। यह फैलने वाली बीमारी है।

Eyes in Hindi


आंखों की समस्‍याएं होने पर

बैक्टीरिया से संक्रमण होने की आशंका में नेत्र रोग विशेषज्ञ एंटिबायोटिक ड्रॉप या मलहम लगाने की सलाह दे सकता है। बर्फ की सिंकाई और दर्द निवारक से भी कंजक्टिवाइटिस की जलन में राहत मिलती है। मरीज अपनी आंखों की किनोरों को हल्के गुनगुने पानी में भिगोए हुए रुई के फाहों से साफ कर सकते हैं। इससे पलकों को राहत मिलती है तथा वे चिपकती भी नहीं। रात को मलहम लगाकर सोने से पलकों के चिपकने की समस्या से भी छुटकारा मिल सकता है।

गर्मी के मौसम से  लोगों को इस मौसम में आंखों के प्रति विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। जरूरत महसूस होने पर नेत्र चिकित्सक से परामर्श लेना

चाहिए।

 

ImageCourtesy@gettyimages

Read More article on Eye Care in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4 Votes 11555 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर