कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज से पुरूषों की तुलना में महिलाएं हैं ज्‍यादा पीड़ित

महिलाएं अन्‍य किसी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या की तुलना में कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज के कारण ज्‍यादा जान गंवाती हैं, इस बारे में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें यह नया शोध।

एजेंसी
लेटेस्टWritten by: एजेंसीPublished at: Sep 30, 2013
कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज से पुरूषों की तुलना में महिलाएं हैं ज्‍यादा पीड़ित

women more likely to suffer from heart diseses दुनियाभर में हर वर्ष महिलाएं अन्‍य किसी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या की तुलना में ज्यादा कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज के कारण जान गंवाती हैं। एक शोध में यह पता चला कि ऐसा इसलिए है क्योंकि पुरुषों की तुलना में महिलाएं अस्पतालों में सीने के दर्द का इलाज कराने कम ही जाती हैं।

 

कार्डियो सर्जन डॉं. सुनील गुनियाल ने यह बताया कि, 55 की आयु के नीचे के महिलाएं जो हार्ट अटैक के दौरान सीने में दर्द कम महसूस करती हैं, उन्हें इसी प्रकार के लक्षणों वाले पुरुषों की तुलना में मृत्यु का डर ज्यादा होता है।

 

महिलाओं के हृदय रोग से संबंधी यह अध्‍ययन अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित किया गया। इस अध्ययन के शोधकर्ता के अनुसार, महिलाओं को ऐसा क्यों होता है, इसे पूरी तरह समझा नहीं जा सकता है।

 

युवा महिलाएं इस बात की पहचान नहीं कर पाती हैं कि उन्हें हार्ट अटैक पड़ा है, क्योंकि उन्हें इस बात की उम्मीद ही नहीं होती कि उन्हें हार्ट अटैक आने की संभावना है। इसके अलावा चिकित्‍सक भी समय रहते इसके लक्षणों को पहचान नहीं पाते, जिसके परिणामस्वरूप ट्रीटमेंट में देरी हो जाती है।

 

इस अध्ययन में 10 लाख लोगों को शामिल किया गया। इनमें से 41.2 प्रतिशत महिलाएं थीं। इसमें उन महिलाओं को हार्ट अटैक आया जो पुरुषों से उम्र में बड़ी थीं। कुल मिलाकर, लगभग 58 प्रतिशत महिलाओं की तुलना में 70 प्रतिशत पुरुषों के अनुसार हार्ट अटैक के दौरान उन्हें सीने में दर्द का अनुभव हुआ। उम्र के साथ-साथ महिलाओं और पुरुषों के लक्षणों की भिन्नता में कमी दिखी।

 

महिलाओं को होने वाले हृदय रोग के लक्षणों की जानकारी होने से उनकी जान बचाई जा सकती है। जिन महिलाओं को हार्ट अटैक आता है उनमें कई तरह के लक्षण नजर आते हैं जैसे - चक्कर आना, रहस्यमय थकान या कमजोरी उदर या पेट का दर्द सांस की कमी। महिलाओं को जीवन के लिए खतरा बनने वाले हृदय रोग से बचने के लिए उसके खतरे की जानकारी और उसे कम करने के चरणों के बारे में संपूर्ण जानकारी होनी जरूरी है।

 

हृदय रोग से बचने के लिए उच्‍च कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर, धूम्रपान डायबिटीज या परिवार में हार्ट डिजीज होने का इतिहास के अलावा अन्‍य जोखिम कारकों के प्रति सजग रहना चाहिए।




Read More Health News In Hindi

Disclaimer