Doctor Verified

ठंड के मौसम में जुकाम होने पर आराम दिलाएगा जीरे का चूर्ण, जानें प्रयोग का तरीका

Jeera Churna: आयुर्वेद में जीरा का इस्‍तेमाल औषधी के रूप में होता है। आज हम बताएंगे सर्दि‍यों में जीरा का चूर्ण खाने के फायदे और प्रयोग का तरीका।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jan 16, 2023 09:00 IST
ठंड के मौसम में जुकाम होने पर आराम दिलाएगा जीरे का चूर्ण, जानें प्रयोग का तरीका

सर्द‍ियों में सर्दी-जुकाम का इलाज ढूंढ रहे हैं, तो जीरा चूर्ण का सेवन करें। व‍िंटर कोल्‍ड सता रहा है, तो एक चम्‍मच जीरा चूर्ण इसका सही इलाज हो सकता है। सर्द‍ियों में वात और कफ दोष के कारण बुखार आने पर भी जीरा चूर्ण का सेवन फायदेमंद माना जाता है। बुखार में होने वाली शारीर‍िक कमजोरी को दूर करने में भी जीरा चूर्ण खा सकते हैं। जीरा चूर्ण में एंटीऑक्‍सीडेंट्स जैसे एपीजेन‍िन और ल्‍यूटोन‍िन की मात्रा पाई जाती है। कफ की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए जीरा का चूर्ण फायदेमंद माना जाता है। सर्दि‍यों में पाचन से जुड़ी समस्‍याएं जैसे डायर‍िया, पेट में दर्द, गैस की समस्‍या, अपच आद‍ि को दूर करने के ल‍िए भी जीरे का चूर्ण फायदेमंद माना जाता है। इस लेख में आपको बताएंगे जीरा चूर्ण बनाने का तरीका, सेवन का तरीका और फायदे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

Jeera churna benefits

सर्दी-जुकाम में क्‍यों फायदेमंद है जीरा चूर्ण का सेवन?

जीरे में एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीफंगल और एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण मौजूद होते हैं। ये संक्रमण से लड़ने में शरीर की मदद करता है। जीरे का सेवन करने से इम्‍यून‍िटी भी बढ़ती है। जीरा चूर्ण में व‍िटाम‍िन सी और व‍िटाम‍िन ए की भरपूर मात्रा होती है इसल‍िए इसका सेवन करने से सर्दी-जुकाम का इलाज क‍िया जा सकता है। जीरा चूर्ण का सेवन करने से गले की खराश भी दूर होती है।          

जीरा चूर्ण के फायदे- Jeera Churna Benefits  

  • जीरा चूर्ण का सेवन करने से शरीर में पाचन तंत्र मजबूत होता है।
  • कोलेस्‍ट्रॉल को कंट्रोल करने के ल‍िए जीरा चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।
  • मुंह की बदबू दूर करने के ल‍िए जीरा चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।  
  • एस‍िड‍िटी, खट्टी डकार, ह‍िचकी आद‍ि समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए जीरा चूर्ण खाएं।  
  • भूख बढ़ाने के ल‍िए भी जीरा चूर्ण का सेवन फायदेमंद माना जाता है।

इसे भी पढ़ें- सर्दी-खांसी से तुरंत राहत पाने के लिए अपनाएं ये 5 आयुर्वेदिक ट‍िप्‍स 

कैसे बनाएं जीरा चूर्ण?

  • जीरा चूर्ण बनाने के ल‍िए जीरा के दानों को भून लें।
  • भुने दानों को पीसकर पाउडर बना लें।
  • इस पाउडर में म‍िश्री, इलायची और दालचीनी का पाउडर म‍िला लें।
  • इस म‍िश्रण को एयरटाइट कंटेनर में स्‍टोर करें।
  • जीरा चूर्ण का इस्‍तेमाल 1 से 2 हफ्तों तक कर सकते हैं।    

कैसे करें जीरा चूर्ण का सेवन?- Jeera Churna

  • एक द‍िन में जीरा चूर्ण की 3 से 6 ग्राम मात्रा का सेवन कर सकते हैं। 
  • जीरा चूर्ण का सेवन गुनगुने पानी के साथ क‍िया जा सकता है।
  • चूर्ण का सेवन खाली पेट भी कर सकते हैं।
  • खाने के 1 घंटे बाद चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। 
  • खाने के आधे घंटे पहले भी चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। 
  • जीरा चूर्ण का सेवन द‍िन में दो बार कर सकते हैं।  
  • जीरा चूर्ण खाने के ल‍िए गुड़ या गुनगुने दूध का कॉम्‍ब‍िनेशन भी बना सकते हैं। 
  • सेंधा नमक के साथ जीरा चूर्ण को म‍िलाकर सुबह-शाम पानी के साथ ले सकते हैं।
  • जीरा चूर्ण का सेवन घी में म‍िलाकर भी कर सकते हैं।         

कब न करें जीरा चूर्ण का सेवन?

  • अगर जीरे से एलर्जी है, तो इसका सेवन करने से बचना चाह‍िए।
  • प्रेगनेंसी में जीरे का ज्‍यादा सेवन नहीं करना चाह‍िए।
  • जीरे की तासीर गरम होती है, इसका सीम‍ित सेवन ही करें।
  • जीरा चूर्ण का ज्‍यादा सेवन करने से शुगर लेवल कम हो सकता है।
  • डायब‍िटीज के मरीजों को व‍िशेष सावधानी बरतनी चाह‍िए।   

अगर जीरे चूर्ण का सेवन क‍िसी बीमारी को दूर करने के ल‍िए कर रहे हैं, तो एक बार आयुर्वेद चिकित्सक से सलाह जरूर लें। 

Disclaimer