मध्‍य प्रदेश में महिला ने क्‍यों दिया 2 सिर और 3 हाथों वाले बच्‍चे को जन्‍म, जानें कारण

मध्‍य प्रदेश में एक मजदूर की पत्‍नी के दो सिर और तीन हाथ वाले एक शिशु को जन्‍म दिया है! आइए इसका कारण एक्‍सपर्ट से जानते हैं।  

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Nov 27, 2019
मध्‍य प्रदेश में महिला ने क्‍यों दिया 2 सिर और 3 हाथों वाले बच्‍चे को जन्‍म, जानें कारण

मध्यप्रदेश के विदिशा जिले के एक अस्पताल में 23 वर्षीय महिला ने दो सिर और तीन हाथों वाले लड़के को जन्म दिया है। जन्‍म के दिन, यानी 25 नवंबर को इस बात की जानकारी अस्‍पताल के एक अधिकारी ने मीडिया को दी तो ये खबर वायरल हो गई। हालांकि, ऐसी घटनाएं पहले भी देखने और सुनने को मिली हैं। इस प्रकार की घटना को बहुत से लोग चमत्‍कार मान बैठते हैं। वहीं कुछ लोग इसे विज्ञान के नजर से देखते हैं। मगर इसके पीछे की सच्‍चाई क्‍या है, यह समझना थोड़ा जटिल है। मगर यहां हम इसे समझने की कोशिश कर कर रहे हैं।

baby

दरअसल, विदिशा जिला अस्पताल के सिविल सर्जन संजय खरे ने जानकारी देते हुए बताया था कि शनिवार को बबीता अहिरवार ने 23 नवम्‍बर को बच्चे का प्रसव कराया, जिसका वजन 3.3 किलोग्राम था, इसके अलावा दो सिर, तीन हाथ और चार हथेलियां थीं।

उन्‍होंने बताया कि, महिला की हालत बिगड़ने पर उन्‍हें भोपाल के एक अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, जिससे उनकी सही देखभाल हो सके। फिलहाल महिला और शिशु की हालत सामान्‍य बताई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: पानी की कमी से आपका शिशु भी हो सकता है बीमार, जानें नवजात में डिहाइड्रेशन के 5 संकेत

क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय 

एक्सपर्ट डॉ. रीता बक्शी, स्त्री रोग विशेषज्ञ और आईवीएफ एक्सपर्ट, इंटरनैशनल फर्टिलिटी सेंटर का कहना है कि "मध्य प्रदेश के विदिशा में पैदा होने वाला बच्चा एक 'कोन्जॉइंड ट्विंस' (CONJOINED TWINS) का केस है जिस में कि ट्विन्स सही समय पर अलग नहीं हो पाते जो कि भूर्ण की असामान्य विकृति में विकसित होता है। इस परिस्थिति में एम्ब्रीयो की प्रतिबंधित वृद्धि होती है जो कि केवल दो शिशुओं को बनाने के लिए आंशिक रूप से ही केवल अलग हो पाती है। यह बच्चों में विकृतियां प्राकृतिक रूप से घटित होती है और इसका कोई ठोस कारण नहीं बताया जा सकता।"

Read More Health News In Hindi

Disclaimer