बच्चों की बात छिपाने की आदत कैसे दूर करें? जानें आसान पेरेंटिंग टिप्स

कुछ बच्चों में आदत होती है कि वो अपनी छोटी-बड़ी बातें माता-पिता से छुपाते हैं। पेरेंट्स के लिए चैलेंज होता है कि बच्चे की इस आदत को कैसे सुधारें।

Monika Agarwal
परवरिश के तरीकेWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 21, 2022Updated at: Aug 21, 2022
बच्चों की बात छिपाने की आदत कैसे दूर करें? जानें आसान पेरेंटिंग टिप्स

झूठ बोलना और बातें छिपाना दो ऐसी आदतें हैं, जो बच्चे घर के माहौल में ही सीखते हैं। अगर आपका बच्चा भी आपसे कुछ बातों को सीक्रेट रखने लगा है या आपको उसकी कोई ऐसी आदत के बारे में पता लगा है, जिसमें वह चीजों को छुपाने लगा है, तो यह आदत बिलकुल भी ठीक नहीं है। हो सकता है जो बात वह छुपा रहा हो, वह आगे जाकर उसके लिए परेशानी का सबब बन जाए या फिर छुपाई गई बात की वजह से वो किसी खतरे में पड़ जाए। आपको अपने बच्चे को बचपन से ही ये सिखाना चाहिए कि वो अच्छी या बुरी सभी बातें घर पर आकर बड़ों से बताए। अगर आपका बच्चा आपसे बातें छिपाता है, तो इसे नजरअंदाज न करें बल्कि इसे दूर करने की कोशिश करें। आइए जानते हैं बातें छुपाने वाले और सीक्रेट रखने वाले बच्चों की आदत कैसे सुधारें।

सच बोलना सिखाएं

बच्चों को बचपन से ही सच बोलना सिखाएं। अगर बच्चा कभी आपके सामने झूछ बोलता है, तो उसे समझाएं कि ऐसा करना गलत है और खुद भी यह समझने का प्रयास करें कि बच्चे को आपके सामने झूठ क्यों बोलना पड़ा। उसकी परिस्थितियों को समझने के बाद उसे ये बात समझाएं कि हमेशा सच बोलना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- बच्चे झूठ क्यों बोलते हैं? जानें इसके 4 कारण और इस आदत को छुड़ाने के उपाय

उन्हें किसी भरोसे लायक आदमी को सीक्रेट शेयर करना सिखाएं

बच्चे को सिखाएं कि कोई भी पर्सनल सीक्रेट अपने तक ही सीमित रखना ठीक नहीं। उन्हें यह बताएं कि किसी भी भरोसे लायक उम्र में बड़े आदमी को वो अपने सीक्रेट्स जरूर बताएं, ताकि जरूरत पड़ने पर वह इंसान उसे सही राह दिखा सके और बच्चा आगे जा कर मुसीबत में न फंसे। आमतौर पर बच्चे अपने मां बाप को सीक्रेट बताने में आरामदायक महसूस नहीं करते हैं इसलिए उनको किसी ऐसे दोस्त या रिश्तेदार से बात करने को बोलें जिसके साथ वो ज्यादा टाइम बिताना पसंद करते हों।

kids tell a lie

भरोसा दिलाएं कि आप साथ हैं

कई बार बच्चे सीक्रेट्स या बातें इसलिए छिपाते हैं क्योंकि उन्हें यह डर लगता है कि उनकी बात सामने आने पर आप उन्हें डाटेंगे या मारेंगे। ऐसे में आपको उन्हें हमेशा ये भरोसा दिलाते रहना चाहिए कि आप उनकी दोस्त की तरह हैं और आप हर परिस्थिति में उनके साथ खड़े हैं। ऐसा न करने पर बच्चा एक बार झूठ बोलेगा, तो धीरे-धीरे उसकी आदत बनती जाएगी।

इसे भी पढ़ें- इन 5 संकेतों से पहचानें आपका बच्चा बोल रहा है झूठ, जानें कैसे छुड़ाएं बच्चों को झूठ बोलने की आदत

घर की बात किसी और को न बताए

अपने बच्चे को बताएं कि वो अपने हर घर की बात किसी से शेयर न करें। घर की बातों को उन्हें सिर्फ घर के सदस्यों के सामने ही कहना चाहिए क्योंकि कोई बाहर का व्यक्ति उनके घर के सीक्रेट्स का फायदा उठाकर उन्हें या उनकी फैमिली को नुकसान पहुंचा सकता है।

बच्चे को अलग अलग तरीकों के सीक्रेट के बारे में बताएं

बच्चे को अलग-अलग प्रकार के सीक्रेट्स के बारे में बताएं। जैसे- कुछ बातें हम दूसरों से छिपाते हैं क्योंकि हम उन्हें सही समय पर वो बताना चाहते हैं, जैसे- किसी को सरप्राइज देना या किसी को दुख की सूचना देना। इसे फन सीक्रेट्स कहते हैं। इसी तरह उन्हें डेंजर सीक्रेट्स, प्राइवेट सीक्रेट्स आदि के बारे में भी बताएं। 

आप इन बातों को बच्चों को सिखाकर उनकी बातें छिपाने की आदत को छुड़वा सकते हैं। इसके अलावा यह भी ध्यान रखें कि आप खुद भी बच्चों के सामने कभी झूठ न बोलें और न ही कोई बात छिपाएं। 

Disclaimer