इन 5 फूड को पका कर खाने के बजाए कच्चा खाने से मिलता है अधिक पोषण, तन-मन दोनों रहते हैं तंदरुस्त

आपने इस बात की बहस सुनी होगी कि किस सब्जी को कच्चा खाना बेहतर होता है, लेकिन सही जवाब  नहीं मिला होगा। जानें कच्चा या पका खाना है बेहतर।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Mar 02, 2020 13:04 IST
इन 5 फूड को पका कर खाने के बजाए कच्चा खाने से मिलता है अधिक पोषण,  तन-मन दोनों रहते हैं तंदरुस्त

अच्छा स्वास्थ्य और अच्छी सेहत पाने के लिए सबसे जरूरी है कि सही डाइट प्लान करना क्योंकि सही डाइट ही आपको बेहतर स्वास्थ्य प्रदान कर सकती है। सही डाइट का मतलब है सही पोषण और सही पोषण के लिए आपको अपने फूड विकल्पों को बेहतर तरीके से चुनना होगा। जी हां, पोषण के सबसे जरूरी पहलुओं में से एक है इस बात को समझना कि किस फूड को कैसे खाना चाहिए और किस रूप में खाना चाहिए। बहुत से फूड को जब गर्म किया जाता है तो वे अपने पोषक गुण खो देते हैं। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक है क्योंकि पोषक गुणों की हानि का मतलब है कि आपको उस फूड का फायदा नहीं मिल रहा है, जिससे आप खा रहे हैं और जिस उद्देशय के लिए खा रहे हैं। हालांकि आप अपनी इस गलती को दोहराने से बच  सकते हैं और वो भी बिना वक्त गंवाए। इसके लिए बस आपको इस लेख को पढ़ने की जरूरत है।

अगर आपको पाचन संबंधी समस्या है तो कुछ फूड आपको गर्म यानी की पकाकर खाने की जरूरत होती है ताकि आप इनको पचाने के बाद होने वाली दिक्कत से बच सकें। अगर आप इस बात का ध्यान रखते हैं तो निश्चित रूप से आप इन फूड से पोषक गुण प्राप्त कर सकते हैं। ये सब आपके पाचन तंत्र को प्रशिक्षण देने को लेकर है, जो आपकी सेहत को दुरुस्त बनाने के लिए काम करता है।

brocolli

अधिक पोषण प्राप्त करने के लिए कच्चा खाएं ये 5 फूड

ब्रोकोली

हरी सब्जियों की सबसे खूबसूरत सब्जी कही जानी वाली ब्रोकोली विटामिन सी, कैल्शियम, पोटेशियम और प्रोटीन से भरी होती है। इसके साथ ही इसमें सल्फोराफेन नाम का कैंसर से लड़ने वाला तत्व भी होता है। इतना ही नहीं ब्रोकोली का सेवन एजिंग से लड़ने में भी मदद करता है। अधिकतर लोग ब्रोकोली को उबाल या फिर हल्की भाप देकर खाना पसंद करते हैं लेकिन कैंसर और एजिंग को कम करने वाले तत्व सल्फोरोफेन का अवशोषण तब अधिक होता है जब इसे पकाने के बजाए कच्चा खाया जाता है।

इसे भी पढ़ेंः मसूर की दाल और रोटी ही नहीं ये 11 फूड कॉम्बीनेशन भी हैं रात का सबसे हेल्दी खाना, रोज खाएं और रहें तंदरुस्त

लहसुन

इस शक्तिशाली फूड में सल्फर से भरपूर एमिनो एसिड होता है, जिसका नाम एलिन होता है। इसके अलावा लहसुन में एक प्रोटीन बेस्ड एंजाइम पाया जाता है, जिसे एलिनास कहते हैं। जब हम लहसुन को छीलते और काटते हैं तो आप एक और तत्व को इसमें मिला देते गैं, जिसे एलिसिन कहते हैं। एलिसिन एक बहुत ही शक्तिशाली एंटी-बायोटिक है, जिसके साथ ही इसमें एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुण भी होते हैं। लहसुन सर्दी और फ्लू के लिए सबसे अच्छा होता है। दुर्भाग्यवश लहसुन को पकाने से उसमें से एलिसिन निकल जाता है और अन्य तत्व भी कम प्रभावी हो जाते हैं। किसी भी डिश को तैयार करने के बाद उसमें घिस, काट या फिर पीस कर लहसुन का इस्तेमाल करें। इससे आपको अधिक पोषण तो मिलेगा ही साथ ही स्वाद भी दोगुना हो जाएगा।

beri

बेरी

रास्पबेरी, ब्लूबेरी और ब्लैकबेरी जैसी बेरी एंटी-ऑक्सीडेंट का एक समृद्ध स्त्रोत होती हैं। इसके साथ ही बेरी में रिजर्वाट्रोल भी होता है और इससे कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इन्हें सूखाकर या फिर पकाकर खाने से इनके सभी पोषक गुण खराब हो सकते हैं। दरअसल जब आप इन्हें सूखाने की प्रक्रिया करते हैं तो इनका शुगर कंटेंट कच्चे या फिर प्राकृतिक रूप के मुकाबले तीन गुना तक ज्यादा बढ़ जाता है। इसके अलावा इनमें कार्ब और कैलोरी तत्व भी बढ़ जाता है। इसलिए इस शक्तिशाली फ्रूट को कच्चा खाना बेहद फायदेमंद होता है। इसके अलावा आप इन्हें स्मूदी में भी मिलाकर खा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ेंः चिकन ब्रेस्ट या लेग पीस कौन है ज्यादा हेल्दी? जानें न्यूट्रिशन वैल्यू और पढ़ें फायदे

चुकंदर

चुकंदर को विटामिन्स का पावरहाउस कहा जाता है। चुकंदर में विटामिन सी, पोटेशियम, मैंग्निज, विटामिन बी और फोलेट होता है। यह सब्जी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने का काम करती है, आपकी ऊर्जा को बढ़ाती है और सूजन व जलन से लड़ने में मदद करती है। चुकंदर का प्रयोग ज्यादा स्मूदी में किया जाता है और यह वर्कआउट के बाद पीएं जाने वाले शेक में सबसे बेहतर होता है क्योंकि ये रिकवरी में मदद करता है। इसके पकाने से इसमें फोलेट और बी विटामिन की मात्रा 25 फीसदी तक कम हो जाती है। इसे आप छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर सलाद के रूप में खा सकते हैं। इसका गाढ़ा रंग आपको अपनी ओर आकर्षित करता है और आपके शरीर में जरूरी विटामिन की आपूर्ति करता है।

कच्ची लाल मिर्च

कच्ची लाल मिर्च में विटामिन सी, बी6, ई और मैग्निशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है। लेकिन लाल मिर्च को पकाने से उसमें विटामिन सी कम हो जाता है। अगर आपको इसे पकाकर ही खाना है तो आपके लिए इन्हें भुनना अधिक सेहतमंद विकल्प साबित हो सकता है। ये विटामिन को सहेज कर रखने में मदद करता है।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer