बड़े और फूले होंठ पाने के लिए कराएं Lip Flip, जानें इस नए तरीके के बारे में

अगर आप थोड़े बड़े होंठ पाना चाहते हैं, तो लिप फ्लिप ट्राई कर सकते हैं। ये आसान और तेजी से रिजल्ट देने वाली प्रक्रिया है।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Oct 25, 2022 08:30 IST
बड़े और फूले होंठ पाने के लिए कराएं Lip Flip, जानें इस नए तरीके के बारे में

अगर आप फूले हुए और बड़े और खूबसूरत लिप्स पाना चाहते हैं, तो इसके लिए बहुत सारे ट्रीटमेंट उपलब्ध हैं। लेकिन हाल ही में लिप फ्लिप (Lip Flip) काफी ट्रेंड कर रहा है। इसमें बिना सर्जरी किए ही आप अपने मन मुताबिक खूबसूरत होंठ पा सकते हैं। डॉक्टर इसके लिए बोटॉक्स इंजेक्ट करते हैं। लोग इसे लिप इंजेक्शन के नाम से भी जानते हैं। इसमें आपके ऊपर वाले होंठ में न्यूरो टॉक्सिन बोटॉक्स को इंजेक्ट किया जाता है। लेकिन क्या यह प्रक्रिया करवानी सुरक्षित है? क्या इसके कोई साइड इफेक्ट्स भी हैं? हो सकता है ऐसे बहुत से प्रश्न आपके दिमाग में हों। आइए जानते हैं इससे जुड़ी सारी जानकारी डॉक्टर से।

क्या है लिप फ्लिप?

मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के एसथेटिक एंड रीकंस्ट्रक्टिव सर्जरी विभाग के सीनियर डायरेक्टर डॉ मनोज जौहर के अनुसार लिप-फ्लिप फुलर लिप्स पाने का एक नॉन सर्जिकल तरीका है, जिसमें व्यक्ति के ऊपरी होंठ में बोटॉक्स इंजेक्ट कर दिया जाता है और इससे आप के बड़े होंठ होने का एक भ्रम (Illusion) मिलता है। यह होंठों के ऊपर की मसल्स को रिलैक्स करता है। इससे ऊपरी होंठ थोड़ा ऊपर की ओर फ्लिप हो जाता है। असल में इससे सच में होंठ बड़ा नहीं हो जाता, बस ऐसा भ्रम लगता है। जिन लोगों के मुस्कुराते समय उनके मसूड़े दिखने लगते हैं उन्हें इस प्रक्रिया से लाभ मिल सकता है।

इसे भी पढ़ें- होठों को सुंदर और बड़ा बनाने के लिए दालचीनी से बनाएं नैचुरल लिप प्लंपर, जानें तरीका

लिप फ्लिप या डर्मल फिलर्स, क्या है बेस्ट?

  • डर्मल फिलर्स ऐसे जेल होते हैं, जो डॉक्टर स्किन की वॉल्यूम, स्मूद लाइंस, झुर्रियां आदि रीस्टोर करने के लिए इंजेक्ट करते हैं। यह भी ऐसे इंजेक्शन होते हैं जो नॉन सर्जरी मेथड से लगाए जाते हैं।
  • डर्मल फिलर का  सबसे ज्यादा पॉपुलर प्रकार है हाइल्यूरोनिक एसिड। यह एसिड शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। यह स्किन में वॉल्यूम और मॉइश्चर कंट्रोल करने में मदद करता है। जब डॉक्टर्स इसे सीधे तौर पर स्किन में इंजेक्ट करते हैं, तो इससे होंठों के वॉल्यूम में एक बढ़ोतरी होती है और फुलर लिप्स मिलते हैं।
  • डर्मल फिलर आपके लिप के साइज को बढ़ाते हैं, जबकि लिप फ्लिप केवल ऐसा होने का भ्रम देते हैं। इनसे सच में होंठों में वॉल्यूम एड नहीं होता है।
  • लिप फ्लिप डर्मल फिलर के मुकाबले कम इनवेसिव और महंगे होते हैं। हालांकि इनका प्रभाव भी काफी कम समय के लिए रहता है। केवल 6 से 18 महीने के लिए ही इनके नतीजे देखे जा सकते हैं।
lip flip

लिप फ्लिप की प्रक्रिया कैसे काम करती है?

इस प्रक्रिया के दौरान लिप्स में बोटॉक्स या फिर डिस्पोर्ट आदि को इंजेक्ट किया जाता है। ऐसा करने से आपकी ऑर्बिकुलरीस मसल रिलैक्स हो जाती हैं, जो लिप्स की शेप देने में मदद करती हैं। इस इंजेक्शन से आपका ऊपरी होंठ रिलैक्स हो कर ऊपर की ओर पलट जाता है। यह एक काफी तेजी से होने वाली प्रक्रिया है और इसमें केवल दो मिनट का समय लगता है। अगर आप इनवेसिव सर्जरी नहीं करवाना चाहते हैं तो यह प्रक्रिया आपके लिए बेस्ट है।

इसे भी पढ़ें- होठों को खूबसूरत और आकर्षक बनाने के लिए अपनाएं अपने लिप-शेप के अनुसार ये 7 टिप्स

रिकवरी और रिजल्ट 

लिप फ्लिप जैसी प्रक्रिया हो जाने के बाद मरीज को मुंह के बल नहीं सोना चाहिए और उस रात किसी तरह की एक्सरसाइज भी नहीं करनी चाहिए। प्रक्रिया के कुछ घंटे बाद हो सकता है छोटे-छोटे दाने देखने को मिलें। एक हफ्ते बाद आपको इसके पूरे नतीजे देखने को मिलेंगे।

ऊपरी होंठ की मसल के फ्लिप होने के कारण आपके लिप फ्लिप के नतीजे केवल दो से तीन महीने तक ही ज्यादा उभर कर दिख सकेंगे। इससे कम समय के लिए नतीजे का अर्थ इसमें शामिल की जाने वाली डोज की मात्रा काफी कम होना भी हो सकता है।

अगर थोड़े फुल लिप्स चाहते हैं तो लिप फ्लिप जैसी प्रक्रिया काफी आसान और साइड इफेक्ट रहित है। इसलिए इसके बारे में डॉक्टर से राय ले कर ही इसे करवाएं।

Disclaimer