बच्चों में तेज बुखार के साथ दौरे पड़ने (फेब्राइल सीजर) के क्या कारण होते हैं? जानें इसके लक्षण और इलाज

  बच्चों में बुखार आने के साथ दौरे पड़ने जैसे लक्षण दिख रहे हैं तो ये फेब्राइल सीजर का संकेत हो सकते हैं। इस बीमारी के बारे में सभी जरूरी बातें जानें।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Aug 30, 2021 11:00 IST
बच्चों में तेज बुखार के साथ दौरे पड़ने (फेब्राइल सीजर) के क्या कारण होते हैं? जानें इसके लक्षण और इलाज

फेब्राइल सीजर (Febrile seizure) यानी ज्वर के दौरे। बच्चों में होने वाली एक प्रकार की ऐंठन होती है। जो आम तौर पर बुखार के कारण होती है। यह बुखार भी आम तौर पर इंफेक्शन के कारण ही होता है। कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल के पीडियाट्रिशन डॉ सुमित गुप्ता के मुताबिक यह ज्वर के दौरे (फेब्राइल सीजर) बुखार या बॉडी टेंपरेचर में अचानक से परिवर्तन के कारण आते हैं। शरीर के तापमान का इस तरह से बढ़ना संकेत होता है कि बॉडी स्थिति के अनुसार काम नहीं कर रही। यह स्थिति आमतौर पर 6 महीने से 5 साल की उम्र के बच्चों को ही प्रभावित करती है। इस तरह के दौरे आमतौर पर बुखार के पहले दिन आते हैं और लगभग 3 से 5 मिनट तक रहते हैं। यदि इस प्रकार का झटका ज्यादा देर तक रहता है, तब यह काफी चिंताजनक भी हो सकता है। ऐसे में ब्रेन डैमेज भी हो सकता है क्योंकि यह संकेत होता है कि ब्रेन तक पूरी ऑक्सीजन नहीं पहुंच रही। हालांकि ज्यादातर मामलों में ये कुछ ही मिनट के लिए होती है। फेब्राइल सीजर (Febrile seizure) आम तौर पर किसी खास और गंभीर स्वास्थ्य स्थिति का संकेत नहीं होती। जानिए कैसे आप अपने बच्चों को इससे बचा सकते हैं।

inside1kidsfever

Inside 1 : GpOnline

फेब्राइल सीजर बीमारी के लक्षण (Symptoms of Febrile seizure)

  • -अधिकतर जिस बच्चे को यह स्थिति होती है वह कांपता रहता है और होश गंवा बैठता है।
  • - उसके शरीर का कोई एक भाग अकड़ जाता है।
  • -आपका बच्चा बहुत अधिक बुखार से जूझ रहा होता है।
  • - वह अपनी बाजुओं और पैरों को हिलाता रहता है।
  • -इसे साधारण और जटिल दो भागों में बांट दिया जाता है। जहां साधारण सीजर को ठीक होने में 5 मिनट का समय लगता है और यह आने वाले 24 घंटे के अंदर अंदर वापिस नहीं होता।
  • -जटिल सीजर में 5 मिनट से अधिक समय लगता है और यह 24 घंटे के अंदर अंदर वापस हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : किन स्थितियों में जरूरी है शिशु का वजन चेक करना? एक्‍सपर्ट से जानें श‍िशु के सही वजन की पूरी जानकारी

आपको कब अपने बच्चे को डॉक्टर के पास लेकर जाना चाहिए (When To See A Doctor)

जब उसे उल्टियां आ रही हो ।

जब उसकी गर्दन अकड़ गई हो।

जब उसे सांस लेने में समस्या आ रही हो।

 जब उसे अधिक नींद आ रही हो।

फेब्रिल सीजर के कारण (Causes)

इंफेक्शन

जब आपके बच्चे को फेब्राइल सीजर होता है तो वह आम तौर पर ऐसे बुखार के कारण होता है जो वायरल इंफेक्शन के कारण उत्पन्न होता है।

पोस्ट वैक्सीनेशन सीजर

बच्चों को बचपन में काफी सारे टीके लगाए जाते हैं। जैसे टिटनेस, पर्टुसिस वैक्सीन आदि और इनके कारण भी उन्हें कई बार सीजर जैसी स्थिति हो सकती हैं।

फेब्राइल सीजर के रिस्क फैक्टर (Risk Factors)

छोटी उम्र

सीजर अक्सर छोटी उम्र के बच्चों में ही अधिक देखने को मिलता है। 6 महीने की उम्र से लेकर 5 साल तक के बच्चों में इसके केस सबसे अधिक पाए जाते हैं। एक साल से डेढ़ साल के बच्चों में भी इसका प्रकोप देखने को मिलता है

फैमिली हिस्ट्री

अगर माता पिता या परिवार में किसी को सीजर की बीमारी पहले से ही है तो हो सकता है आपके जीन्स के कारण आपके बच्चों को भी इस स्थिति से गुजरना पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें : क्या बच्चों में पोषक तत्वों की कमी पूरी करने के लिए उन्हें मल्टीविटामिन सप्लीमेंट्स दे सकते हैं?

फेब्राइल सीजर से बचाव के उपाय (Preventions)

अपने बच्चे को दवाइयां दें

जब आपके बच्चे को शुरू में बुखार या हल्के लक्षण देखने को मिलते हैं तभी आपको उसे डॉक्टर से पूछ कर दवाई दे देनी चाहिए। अगर आपका बच्चा तीन साल से ऊपर है तो आप उसे एस्पिरिन दे सकते हैं।

डॉक्टर द्वारा प्रेस्क्राइब की गई दवाइयां दें

सबसे पहले अपने बच्चे को डॉक्टर के पास लेकर जाएं और जो दवाइयां वह आपके बच्चे के लिए खास तौर से सीजर के लिए प्रेस्क्राइब करते हैं, वह उन्हें दे।

अगर आप थोड़ी बहुत सावधानी बरतेंगे तो अपने बच्चे को सीजर से बचा सकते हैं। अगर आपके बच्चे को यह स्थिति हो भी जाती है तो आप आसानी से उसे कुछ दवाइयों द्वारा ठीक कर सकते हैं। इसलिए इस स्थिति के बारे में अधिक चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं।

Read more articles on Children's Health in Hindi

Disclaimer